विभिन्न मोदक रेसिपीज सीखकर गणपति बाप्पा को करिए प्रसन्न

विभिन्न मोदक रेसिपीज सीखकर गणपति बाप्पा को करिए प्रसन्न

जब त्योहारों के दिन आते हैं तो मीठा खाने का जैसे मौसम ही शुरू हो जाता है। यह बहुत ही रोचक बात है कि हमारे देश में सभी त्योहारों व परंपराओं का किसी न किसी विशेष खाद्य पदार्थ से एक अटूट नाता अवश्य रहा है और आमतौर पर ये खाद्य पदार्थ मीठे ही होते हैं । ऐसा ही एक नाता है गणेश चतुर्थी के उत्सव और भगवान गणपति के प्रिय भोग ‘मोदक’ का। भारत में कई पर्व या त्योहार ऐसे रहे हैं जो कुछ वर्ष पहले तक किसी राज्य विशेष, संप्रदाय विशेष या धर्म विशेष तक ही सीमित हुआ करते थे। इसे तकनीकी प्रगति का असर कहें, मीडिया का प्रभाव कहें या कुछ और, पर अब हमारे देश के आम लोग लगभग सारे पर्व व त्योहार समान रूप से मनाने लगे हैं । गणेश चतुर्थी भी ऐसा ही एक उत्सव है। इसलिए जिन्होंने मोदक खाया तो है पर बनाया नहीं, उन्हें ये लेख अवश्य पढ़ना चाहिए।

मोदक क्या होता है

यह एक प्रकार की मिठाई है जिसे अन्य भाषाओं में मोदका, मोदकम, या कुदुमु भी कहा जाता है। सामान्यतः इसमें गुड़ व नारियल के मिश्रण को गेहूँ या चावल के आटे अथवा मैदे की पूड़ी के अंदर भरकर बंद कमल के फूल के आकार में बनाया जाता है। तथापि मोदक बनाने की दूसरी बहुत सारी विधियां भी हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख हम आपको यहाँ बताने जा रहे हैं। ताकि जब इस बार गणपति उत्सव में आप तरहतरह के मोदक बनाकर अपने आराध्य भगवान को प्रसाद चढाएं तो न केवल गणपति बाप्पा, बल्कि आपके घरवाले, रिश्तेदार और मित्र भी प्रसन्न हो जाएं।

1. स्टीम्ड मोदक (उकडीचे मोदक)

स्टीम्ड मोदक (उकडीचे मोदक)

ये मोदक बनाने का सबसे पारंपरिक प्रकार है । इसे भाप में पकाया जाता है।

सामग्री

भरने के लिए:

  • कद्दूकस किया हुआ ताजा नारियल -1 कप
  • कद्दूकस किया हुआ गुड़ – 1 कप
  • जायफल – ½ छोटा चम्मच
  • खसखस – 1 बड़ा चम्मच

कवरिंग के लिए:

  • चावल का आटा – 1 कप
  • पानी – 1 कप
  • घी – 2 छोटा चम्मच
  • नमक चुटकी भर

विधि

  • एक पैन या कड़ाही में कद्दूकस किया नारियल और गुड़ डालकर गर्म करें। गुड़ पिघलने लगेगा।
  • करीब पाँच मिनट तक इसे हिलाते रहें। इसके बाद इसमें जायफल और केसर डालें।
  • पाँच मिनट के लिए इस मिश्रण को और पकाएं। आंच से इसे उतार कर साइड में रख दें।
  • एक बर्तन में पानी और घी डालकर उबाल लें। फिर इसमें नमक और आटा डालें और इस प्रकार मिलाएं कि गांठें न बनें।
  • 5 मिनट के लिए ढंक कर रख दीजिए।
  • अब हल्के गर्म आटे को बड़े बर्तन में निकाल कर हाथ से नरम आटा गूथिए। यदि आटा सख्त लग रहा हो तो 1-2 चम्मच पानी और मिलाइए।
  • हाथ पर थोड़ा सा घी लगाकर आटे की गोल छोटीछोटी लोई बना लें। दूसरे हाथ के अंगूठे और उंगलियों से उसे किनारे पर पतला करते हुए बढ़ा लीजिए।
  • अब उंगलियों से बीच में थोड़ा गड्ढा करें और इसमें 1 चम्मच भरवां मिश्रण भरें।
  • अंगूठे और उंगलियों की सहायता से किनारों को मोड़ते हुए ऊपर की तरफ चोटी का आकार देकर बंद कर दीजिए।
  • इसी पद्धति से सारे मोदक तैयार कीजिए।
  • अब इन्हें राइस कुकर में या एक बर्तन में पानी लेकर मलमल के कपड़े और छन्नी की सहायता से 10 से 15 मिनट के लिए भाप में पकाएं।
  • घी डालकर परोसें।

2. फ्राइड मोदक

फ्राइड मोदक

ये मोदक बनाने में तुलनात्मक रूप से आसान हैं। जिन्हें फ्राइड चीजें पसंद होती हैं ये उनके लिए हैं। कुरकुरे होने के कारण बच्चे भी इन्हें चाव से खाते हैं।

सामग्री

भरने के लिए:

  • कद्दूकस किया हुआ नारियल -1 कप
  • चीनी – ½ कप
  • मावा (खोया) – 2½ बड़ा चम्मच
  • किशमिश – 15-20
  • चिरौंजी – 15-20 कुटी हुई
  • इलायची पाउडर – ½ छोटा चम्मच

कवरिंग के लिए:

  • गेहूँ का आटा या मैदा– 1 कप
  • बारीक रवा – 1 बड़ा चम्मच
  • घी – 2 बड़ा चम्मच
  • नमक चुटकी भर
  • तलने के लिए तेल

विधि

  • एक पैन में नारियल, चीनी व खोया को एक साथ लेकर मध्यम आंच पर पकाएं, जब तक मिश्रण का रंग हल्का गुलाबी न हो जाए।
  • इसमें किशमिश, चिरौंजी व इलायची पाउडर मिलाकर 1-2 मिनट और चलाएं।
  • आंच से उतारकर ठंडा करने के लिए रख दें।
  • आटे या मैदा में रवा मिलाएं और गरम घी व पानी मिलाकर मुलायम आटा गूथ लें।
  • आटे की गोल छोटी लोई बनाएं। दूसरे हाथ के अंगूठे और उंगलियों से उसे किनारे पर पतला रखते हुए उसका आकार बड़ा कर लें।
  • अब उंगलियों से बीच में थोड़ा गड्ढा करें और इसमें 1 चम्मच नारियल का मिश्रण भरें।
  • अंगूठे और उंगलियों की सहायता से किनारों को मोड़ते हुए ऊपर की तरफ चोटी बनाते हुए मोदक का आकार दें।
  • सारे मोदक बनाने के बाद धीमी आंच पर गुलाबी होने तक तलें।

3. चॉकलेट मोदक

बच्चों को ये मोदक विशेष रूप से पसंद आते हैं। ये बॉक्स में भरकर गिफ्ट भी किए जा सकते हैं।

चॉकलेट मोदकस्रोत: flickr

सामग्री

  • डार्क चॉकलेट – 2 कप
  • नारियल का बुरादा – 1 कप
  • कतरे हुए बादाम, काजू व पिस्ता – 2 बड़े चम्मच
  • कंडेंस्ड मिल्क – ½ कप
  • घी – 1 चम्मच

विधि

  • एक पैन में डार्क चॉकलेट डालकर धीमी आंच पर पिघलने को रखें। जब चॉकलेट पिघल जाए तो आंच बंद कर दें।
  • पैन में घी डालें फिर काजू, बादाम, पिस्ता और नारियल बूरा डालकर 2 से 4 मिनट तक भूनें।
    अब इसमें कंडेंस्ड मिल्क डालकर गाढ़ा मिश्रण तैयार कर लें।
  • अंत में चॉकलेट का पेस्ट डालकर अच्छी तरह मिलाकर आंच बंद कर दें।
  • मिश्रण को ठंडा होने दें।
  • अब मोदक का सांचा लें और मिश्रण की लोइयां लेकर सांचे में रखकर दबाएं व मोदक का आकार दें।

4. ड्रायफ्रूट मोदक

फ्राइड मोदक

ये मोदक उपवास वाले लोगों के लिए उपयुक्त हैं। इन्हें बनाने में ज्यादा समय भी नहीं लगता है।

सामग्री

  • खजूर (डेट्स) कटे हुए – 1 कप
  • विभिन्न प्रकार के सूखे मेवे – 1 कप
  • नारियल का बुरादा – 1 कप
  • घी – 1-2 बड़े चम्मच

विधि

  • एक पैन में घी डालकर सारे मेवे मिलाकर हल्का भूनें।
  • इन्हें ठंडा होने के लिए रख दें।
  • पैन में खजूर डालें और भूनें।
  • नारियल का बुरादा मिलाएं।
  • ठंडे हो चुके मेवों को मिक्सी में दरदरा पीस लें तथा पैन में डालें व अच्छी तरह मिलाएं।
  • आंच बंद कर दें एवं मिश्रण को थोड़ा ठंडा होने दें।
  • मोदक का सांचा लें और तैयार मिश्रण से मोदक बना लें।

5. खोया/मावा मोदक

खोया/मावा मोदक

दूध से बनी मिठाइयों के शौकीनों को ये मोदक खूब भाएंगे।

सामग्री

  • मिल्क पाउडर – 2 कप
  • ताजा क्रीम – ½ कप
  • मक्खन – ½ कप
  • दूध – 1 कप
  • पीसी हुई चीनी – ½ कप
  • इलायची पाउडर – ½ चम्मच

विधि

  • एक पैन में मक्खन पिघलाकर उसमें क्रीम मिलाइए।
  • 3-5 मिनट तक पकने के बाद इसमें दूध डालिए और अच्छी तरह मिलाते हुए धीमी आंच पर पकने दीजिए।
  • मिश्रण के एकसार होने पर धीरेधीरे इसमें मिल्क पाउडर डालिए और अच्छी तरह से हिलाइए।
  • जब मिश्रण गाढ़ा होकर मावे जैसा दिखने लगे तो आंच बंद करके ठंडा करने के लिए रख दीजिए।
  • ठंडा होने पर इसमें पिसी हुई चीनी व इलायची
  • में क्रीम मिलाइए।
  • 3-5 मिनट तक पकने के बाद इसमें दूध डालिए और अच्छी तरह मिलाते हुए धीमी आंच पर पकने दीजिए।
  • मिश्रण के एकसार होने पर धीरेधीरे इसमें मिल्क पाउडर डालिए और अच्छी तरह से हिलाइए।
  • जब मिश्रण गाढ़ा होकर मावे जैसा दिखने लगे तो आंच बंद करके ठंडा करने के लिए रख दीजिए।
  • ठंडा होने पर इसमें पिसी हुई चीनी व इलायची पाउडर डालकर अच्छी तरह मिलाइए।
  • सांचे की सहायता से इस मिश्रण के मोदक बनाइए।
  • पाउडर डालकर अच्छी तरह मिलाइए।
  • सांचे की सहायता से इस मिश्रण के मोदक बनाइए।

हमारे देश में भौगोलिक भिन्नताओं के साथ जितनी सांस्कृतिक भिन्नताएं हैं उतनी शायद दुनिया के किसी देश में नहीं होंगी। इसीलिए इसे ‘अतुल्य भारत’ कहा जाता है। यहाँ अनेक धर्म, संप्रदाय, जातियां व शाखाएं हैं और इन सभी के अपने त्योहार व अपनी परंपराएं हैं। तथापि यदि हम ‘वसुधैव कुटुंबकम’ में विश्वास करते हैं तो अपने ही देश के किसी अन्य राज्य का कोई स्वादिष्ट पकवान सीखने में भला क्यों पीछे रहें।