गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट

गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट

Last Updated On

पहला सवाल जो मन में आता है, वो यह है कि क्या प्रेगनेंसी टेस्ट निगेटिव आ सकता है बावजूद इसके कि आप गर्भवती हैं? मासिक धर्म के न होने और कुछ संकेतों को देखने के बाद, आपने प्रेगनेंसी टेस्ट करने का कदम उठाया होगा जिसका परिणाम आपको निगेटिव मिला। हो सकता है कि आपको राहत मिली हो या आपका दिल टूट जाए। लेकिन उसके बाद भी आपको मासिक धर्म नहीं होता तो यह आपके गर्भवती होने की ओर इशारा हो सकता है और ज्यादातर लोगों के लिए यह काफी चौंकानेवाला अनुभव हो सकता है।

एक गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट क्या है?

यदि आपका प्रेगनेंसी टेस्ट निगेटिव परिणाम देता है, लेकिन वह गलत है, तो इसे गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट कहा जाता है। इसका मतलब है कि परीक्षण ने संकेत दिया है कि आप गर्भवती नहीं हैं, जब कि वास्तव में, आप गर्भवती हैं। ऐसा ज्यादातर होम प्रेगनेंसी टेस्ट किट के साथ होता है। ये किट मूत्र में मानव कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन हार्मोन की उपस्थिति को जांचने के लिए बनाई गई हैं। जब यह किट हार्मोन के उचित स्तर को जांचने में नाकाम रहती है, तो यह महिला के गर्भवती नहीं होने के परिणाम को दर्शाता है।

क्या गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट आम है?

एक गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट होने पर यह समझना जरूरी हो जाता है कि वास्तव में गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट की संभावना क्या है। आमतौर पर, गलत पॉज़िटिव प्रेगनेंसी टेस्ट की तुलना में गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट ज्यादा आम हैं और ऐसा होने की संभावना लगभग 10 प्रतिशत है। ज्यादातर होम प्रेगनेंसी टेस्ट किट आमतौर पर सटीक पाए गए हैं, जब वे नैदानिक परीक्षणों के दौरान जांचे गए तो इन से 97.4% तक सही परिणाम मिले। वास्तविक जीवन में आम लोगों के साथ इसकी सटीकता में गिरावट आ जाती है।

गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट के कारण

यह पता लगाने की कोशिश कि गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट के क्या कारण हो सकते हैं, तो ऐसे कई कारण हैं जिनसे आपको ऐसे परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। कुछ मामलों में, डॉक्टरों को स्वयं पता रहता है कि कौन सी दवाओं के कारण गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट हो सकते हैं और आप ए उन कारणों के होने की संभावनाओं पर गौर कर सकती हैं।

1. उचित समय से पहले परिणाम की जाँच: होम प्रेगनेंसी किट को मूत्र के साथ प्रतिक्रिया करने और परिणाम को यथासंभव सटीक रूप से दर्शाने में कुछ समय लगता है। समय से पहले जाँच करने पर आपको निगेटिव परिणाम मिल सकता है जब कि वास्तव में परिणाम पॉज़िटिव होगा। किट पर दिए निर्देशों का पूर्ण रूप से पालन करना सबसे अच्छा है और परिणाम आने के लिए लगभग 10 मिनट तक प्रतीक्षा करें।

2. परीक्षण सही समय से पहले करना: बहुत सी महिलाएं समय से पहले ही खुद प्रेगनेंसी टेस्ट करने लग जाती हैं। गर्भावस्था के प्रारंभिक चरणों में, किट जिस हार्मोन की मौजूदगी का पता लगाता है, एचसीजी, बहुत कम मात्रा में रहता है और मुश्किल से ही इसके मौजूद होने का पता चल पाता है। इन चरणों में रक्त परीक्षण भी विफल हो जाते हैं इसलिए किट स्वाभाविक रूप से इसका पता लगाने में विफल रहती हैं।

3. किट पर दिए गए निर्देशों का पालन नहीं करना: सही परिणाम प्राप्त करने के लिए किट पर बहुत विशिष्ट निर्देश दिए गए हैं। यदि किट के स्ट्रिप्स मूत्र से ठीक से संतृप्त नहीं होते हैं, या फिर स्ट्रिप पर मूत्र के साथ पानी मिल जाता है अथवा पानी या और कुछ पड़ जाता है तो सटीक परिणाम नहीं मिल सकेगा। यहाँ समय भी बहुत महत्वपूर्ण है। बहुत जल्द जांच करने से या घंटों बाद जांचने से मूल परिणाम बदल सकता है।

4. टेस्ट किट की संवेदनशीलता: होम प्रेगनेंसी टेस्ट किट भी संवेदनशीलता के स्तरों में भिन्न हो सकती हैं। कुछ किट अत्यधिक संवेदनशील होती हैं और रक्त परीक्षण या इसके बराबर के परीक्षणों के समान एचसीजी के बहुत कम मात्रा में होने पर भी उसका पता लगा सकती हैं। दूसरी तरफ, अन्य किट उतनी संवेदनशील नहीं होती हैं। । इसलिए, गलत परिणाम मिलने की संभावना अधिक हो सकती है यदि आप जिस किट का उपयोग करते हैं वह कम संवेदनशीलता की हो और एचसीजी के आवश्यक स्तर तक पहुंचने से पहले आप इसका परीक्षण करते हैं।

5. मूत्र का पतला होना: चूंकि किट पूरे तरीके से मूत्र के घटकों पर काम करती है, इसलिए इसमें मौजूद कोई भी अशुद्धियों के कारण किट के इस्तेमाल से गलत परिणाम प्राप्त हो सकते हैं। सुबह उठने पर पहले मूत्र का प्रयोग करके परीक्षण किया जाना चाहिए। यदि आप गर्भवती हैं तो यह अत्यधिक सान्द्र होता है और इसमें एचसीजी की मात्रा अधिक होने की सबसे ज़्यादा संभावना होती है। ऐसा करने से गलत निगेटिव परिणाम मिलने की संभावना कम हो जाती है।

6. प्रेगनेंसी किट की एक्सपायरी डेट को पार करना: बेहद जरूरी है कि किट खरीदने से पहले किट पर बताई गई एक्सपायरी डेट देख लें। यदि किट पर दी गई एक्सपायरी डेट पार हो गई है, तो परिणाम के सटीक होने की निश्चितता नहीं रहती है।

7. खाई जाने वाली दवाएं: कुछ दवाएं, विशेष रूप से एलर्जी की दवाएं, या मिर्गी के दौरे को रोकने की दवाएं, मूत्रवर्धक और इस प्रकार की अन्य चीज़ों के कारण किट सटीक परिणाम नहीं देती है। इसके कारण इनके परिणाम अधिकतर निगेटिव होते हैं।

8. अस्थानिक गर्भावस्था: यह गिनेचुने मामलोंमें होता है और आमतौर पर उन महिलाओं में होता है जो 35 वर्ष से अधिक उम्र की होती हैं। अस्थानिक गर्भावस्था में, भ्रूण गर्भाशय में बनने के बजाए फैलोपियन ट्यूब के अंदर बन जाता है। इसलिए, प्रेगनेंसी किट एचसीजी के स्तर का पता लगाने में विफल रहती है और गलत निगेटिव परिणाम देती है। अपने आप में यह स्थिति घातक है और ऐसे गर्भधारण को तुरंत हटाने की जरूरत होती है।

यदि आपको गलत निगेटिव परिणाम मिलता है तो आप क्या कर सकती हैं?

गलत निगेटिव परिणाम मिलने पर यहां कुछ चीजें दी गई हैं जो आप कर सकती हैं।

यदि आपको गलत निगेटिव परिणाम मिलता है तो आप क्या कर सकती हैं?

  • टेस्ट को दोहराएं: यदि आपके द्वारा किया गया पहला परीक्षण परिणाम निगेटिव आया है, और परीक्षण के एक सप्ताह बाद आपका मासिक धर्म शुरू नहीं होता है, तो समय है कि आप फिर से परीक्षण करें। यदि आप गर्भवती हैं, तो 7 दिनों की अवधि आपके शरीर के भीतर एचसीजी के स्तर को बढ़ाने के लिए पर्याप्त है, जो आसानी से किट द्वारा पता लगाया जा सकता है।

  • डॉक्टर से बात करें: यदि आपका परिणाम निगेटिव था और उसके बाद आपका मासिक धर्म शुरू नहीं होता है, तो अपने चिकित्सक से परामर्श करें और एक पेशेवर से राय लें। वह एक अल्ट्रासाउंड या रक्त परीक्षण कराने के लिए कह सकते हैं जिससे गर्भावस्था की स्थिति का अत्यधिक सटीक अनुमान मिलेगा।

  • मासिक धर्म चक्र को रीसेट करें: ऐसा हो सकता है कि गर्भावस्था किट सही है और आप गर्भवती नहीं हैं, लेकिन फिर भी आपका मासिक धर्म शुरू नहीं हो। ऐसे मामलों में, अपने चिकित्सक यास्त्री रोग विशेषज्ञ से परामर्श करें। गर्भावस्था न होने की पुष्टि होने के बाद, मासिक धर्म चक्र को सामान्य करने की दिशा में काम करें।

गलत निगेटिव / पॉज़िटिव परीक्षण और सही निगेटिव / पॉज़िटिव परीक्षण के बीच अंतर

गलत निगेटिव / पॉज़िटिव प्रेगनेंसी टेस्ट

  • किट निगेटिव दिखाती है, जबकि वास्तव में, आप गर्भवती हैं।
  • किट से पता चलता है कि आप गर्भवती हैं, जबकि वास्तव में आप गर्भवती नहीं हैं।

सही नेगेटिव / पॉजीटिव प्रेगनेंसी टेस्ट

  • किट से पता चलता है कि आप गर्भवती नहीं हैं, और आप वास्तव में गर्भवती नहीं हैं।
  • किट से पता चलता है कि आप गर्भवती हैं, और सच में, आप गर्भवतीहैं!

मासिक धर्म न होने के अन्य कारण क्या हो सकते हैं?

मासिक धर्म न होने के बाद एक गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट को डॉक्टर से जाँच करवा कर उसकी पुष्टि की जा सकती है। लेकिन अगर आप वास्तव में गर्भवती नहीं हैं, तो आपके मासिक धर्म न होने के और भी कारण हो सकते हैं।

  1. घर या कार्यालय में तनाव स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकता है जिससे मासिक चक्र में परिवर्तन हो सकता है।
  2. अनियमित मासिक चक्र के पिछली घटनाओं के कारण भी बाद में मासिक धर्म न होने की संभावना रहती है।
  3. अत्यधिक वजन बढञने या घटने से हार्मोन का असंतुलन होता है, जो आपके मासिक धर्म को प्रभावित करता है।
  4. बीमारी, अनियमित भोजन करने की आदत, ये सभी आपके शरीर और मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करते हैं।
  5. यदि आप जन्मनियंत्रण के लिए दवा ले रही हैं, तो ये आपके मासिक धर्म को उलटपुलट कर सकते हैं।
  6. अधिक उम्र की महिलाएं और जो रजोनिवृत्ति के करीब हैं, उन्हें आम तौर पर अनियमित मासिक धर्म होता है
  7. अत्यधिक काम करने से हार्मोन का संतुलन प्रभावित होता है और मासिक धर्म में देरी होती है।
  8. लंबी दूरी और समय क्षेत्र पार करते हुए यात्रा करना, वायुमंडलीय परिवर्तन, अनियमित नींद चक्र और भोजन के समय, आपके मासिक धर्म को प्रभावित करते हैं।
  9. जीवन शैली, व्यायाम और चलनाफिरना, सभी कुछ आपके मासिकधर्म पर प्रभाव डालते हैं।
  10. कुछ महिलाएं प्रोलैक्टिनोमा से पीड़ित होती हैं, जिससे एस्ट्रोजेन कम हो जाता हैं और मासिक धर्म में देरी होती है।
  11. पीसीओएस, जिसे पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के नाम से जाना जाता है, अनुचित ओवुलेशन और हार्मोन की समस्याओं का कारण बनता है। इससे आपके मासिक धर्म में और देरी होती है।

यदि आप गर्भवती होने की आस लगाए हुए हैं तो किट पर निगेटिव परिणाम देखने पर आपको निराश होना पड़ सकता है। निराश न हों, कुछ दिन इंतज़ार करें और फिर से परीक्षण करें। भाग्य ने साथ दिया तो, पिछले परीक्षण का परिणाम जो निगेटिव आया था गलत हो सकता है और दूसरी बार दोहराया गया परिणाम आपको गर्भावस्था में अपनी यात्रा शुरू करने की अच्छी खबर देगा।