11 माह के शिशु के लिए आहार संबंधी सुझाव

11 माह के शिशु के लिए आहार संबंधी सुझाव

जब आपका शिशु 11 महीने का हो जाता है तो, वह खुद से खाने योग्य हो जाता है। आप अपने बच्चे को बाकी परिवार के जैसा ही खाना दे सकती हैं, बस आपको उसे छोटे टुकड़ों में काट कर देना होगा या फिर थोड़ा सा मसल कर देना होगा ताकी वह उसे अच्छे से चबा और पचा सके। इसके अलावा, भोजन और नाश्ते के दौरान शिशु पर ध्यान दें और सुनिश्चित करें कि कोई भी भोजन उनके गले में अटके नहीं।

11 माह के शिशु के लिए कितना भोजन जरूरी है?

11 महीने की उम्र में अधिकांश बच्चे फल, सब्जियां और मांस के अलावा कई अन्य प्रकार की चीजें खा सकते हैं। तीन बार भोजन, साथ ही एक बार नाश्ता, फॉर्मूला दूध या माँ का दूध, ये सब कुछ 11 महीने के बच्चे को प्रति दिन मिलना चाहिए । भोजन और नाश्ते का समय आपके बच्चे की दिनचर्या के साथ-साथ आपकी दिनचर्या पर भी निर्भर करेगा।

प्रतिदिन भोजन की मात्रा

यह आपके बच्चे की गतिविधि के स्तर और वृद्धि के आधार पर निर्भर करता है कि उसे कितनी भूख लगती है। आपके बच्चे को प्रतिदिन लगने वाले भोजन की अनुमानित मात्रा कुछ इस प्रकार है:

  • आधा कप अनाज
  • आधा कप सब्जियां
  • आधा कप फल
  • दुग्ध पदार्थों के 3 बड़े चम्मच
  • मिश्रित अनाज का आधा कप
  • मांस या अन्य प्रोटीन के 4 बड़े चम्मच

कैसे पता करें कि आपका शिशु पर्याप्त दूध ले रहा है?

अपने बच्चे को दूध पिलाते समय, कुछ बातें आपको पेरशान करती होंगी। इसमें यह शामिल होगा कि आपके बच्चे को हर दिन पर्याप्त दूध या फॉर्मूलादूध मिल रहा है या नहीं । यहाँ कुछ तरीके दिए गए हैं जिनसे आप इसका आकलन कर सकती हैं:

स्तनपान करने वाला शिशु:

  • यदि आपका बच्चा हर भोजन के बाद संतुष्ट दिखाई देता है, तो यह एक संकेत है कि उसे पर्याप्त दूध मिल रहा है।
  • जब आप निराशा का अनुभव करती हैं, तो यह एक संकेत है कि नियमित रूप से स्तन का दूध फिर से भर रहा है।
  • बच्चे के मूत्र की जांच करें और देखें कि क्या यह स्पष्ट और गंधहीन है। अगर ऐसा है तो, यह आपके शिशु का पेट भरे होने का संकेत है।
  • आपका शिशु नियमित रूप से मल त्यागता है।

फॉर्मूला दूध पीने वाला शिशु:

  • अपने बच्चे के वजन को पाउंड में माप लें और इसे 2 और 2.5 से गुणा करें, यह दोनों संख्याएं आपके बच्चे की प्रत्येक दिन की आवश्यक दूध की मात्रा के लिए निम्न और ऊपरी सीमा के रूप में मानी जाएगी।
  • जब आपका शिशु एक साल का होने वाला होता है तो वह फॉर्मूला दूध को पीना कम करके अधिक ठोस आहार लेने लगता है।
  • इस बात पर ध्यान दें कि 24 घंटे की अवधि के दौरान आपका बच्चा कम से कम 6 डायपर गीले करता है या नहीं।

11 माह के शिशु के लिए सर्वश्रेष्ठ खाद्य पदार्थ

कम उम्र से ही अपने बच्चे में स्वस्थ भोजन की आदतों को विकसित करना महत्वपूर्ण है। इसलिए, किसी भी संभावित एलर्जी पर नजर रखते हुए अपने बच्चे को सभी प्रकार के खाद्य पदार्थों से परिचित कराएं।

1. फल

फल

यह विटामिन और खनिजों का एक बड़ा स्रोत है, फल आपके बच्चे के दैनिक आहार का अनिवार्य हिस्सा होना चाहिए। सेब से लेकर केले और नाशपाती तक अपने बच्चे को सब कुछ खिलाएं।

2. चिकन और मछली

प्रोटीन से भरपूर, मछली और चिकन आपके बच्चे के मस्तिष्क के विकास और सामान्य विकास में बेहद मददगार होता है।

3. चीज़

चीज़ के विभिन्न प्रकार जैसे पनीर, चेडर, रिकोटा दैनिक प्रोटीन की जरूरत को पूरा करने के साथ-साथ आपके बच्चे के भोजन का स्वाद को भी बढ़ा सकते हैं।

4. दालें और अनाज

इस श्रेणी के अंतर्गत सब कुछ आपके 11 महीने के बच्चे के आहार में दिया जा सकता है। अपने बच्चे के भोजन में कुछ विविधता लाने के लिए अनाज और दालों को अदल बदलकर दें ।

5. दुग्ध उत्पाद

दुग्ध उत्पाद जैसे दही शिशुओं के लिए अच्छे खाद्य पदार्थ हैं। केवल गाय के दूध को छोड़कर, जो एक वर्ष की आयु के बाद ही दिया जाता है।

6. पत्तेदार हरी सब्जियां

पत्तेदार सब्जियां, खासकर हरी चीजें जैसे पालक और मेथी विशेष रूप से शिशुओं के लिए फायदेमंद होती हैं क्योंकि उनमें आयरन की मात्रा अधिक होती है।

7. अन्य सब्जियां

सभी प्रकार की सब्जियां आपके बच्चे के लिए अच्छी हैं। दिन भर में तीन अलग-अलग सब्जियों का उपयोग करने की आदत डालें, एक समय के भोजन में एक सब्जी का प्रयोग करें ।

8. अंडा

अंडा, विशेष रूप से इसकी जर्दी, इस उम्र में शिशुओं के लिए बहुत लाभदायक होती है। साथ ही यह उनके खाने और पचाने के लिए भी आसान होता है।

11 माह महीने के शिशु के लिए भोजन सारणी

यहाँ 11 महीने के बच्चे के लिए आहार योजना दी गई है:

दिन जल्द सुबह नाश्ता देर सुबह का नाश्ता दोपहर का भोजन शाम का नाश्ता रात का भोजन देर रात
सोमवार फॉर्मूला दूध / माँ का दूध स्वस्थ अनाज सेब के टुकड़े सब्जियों के साथ दही चावल फॉर्मूला दूध / माँ का दूध चिकन या वेज सूप के साथ टोस्ट फॉर्मूला दूध / माँ का दूध
मंगलवार फॉर्मूला दूध / माँ का दूध रागी का डोसा केला गेहूं का दलिया फॉर्मूला दूध / माँ का दूध सांभर के साथ डोसा फॉर्मूला दूध / माँ का दूध
बुधवार फॉर्मूला दूध/ माँ का दूध केले का पैनकेक शकरकंद के टुकड़े दाल और सब्जी के साथ रोटी फॉर्मूला दूध/ माँ का दूध दाल के साथ पराठा फॉर्मूला दूध / माँ का दूध
गुरूवार फॉर्मूला दूध / माँ का दूध चावल और उड़द दाल काडोसा मसला हुआ पपीता फिश करी के साथ चावल फॉर्मूला दूध / माँ का दूध दही के साथ वेज पुलाव फॉर्मूला दूध / माँ का दूध
शुक्रवार फॉर्मूला दूध / माँ का दूध अंडा टोस्ट नाशपाती वेज खिचड़ी के साथ दही फॉर्मूला / स्तन का दूध चावल और ग्रेवी फॉर्मूला दूध / माँ का दूध
शनिवार फॉर्मूला दूध / माँ का दूध गेहूं का दलिया रस्क / बिस्कुट इडली और सांभर फॉर्मूला / माँ का दूध पनीर करी के साथ चपाती फॉर्मूला दूध / माँ का दूध
रविवार फॉर्मूला दूध / माँका दूध पनीर भुर्जी सैंडविच तरबूज के टुकड़े भरवा पराठा फॉर्मूला दूध / माँ का दूध मसले हुए आलू के साथ माइक्रोवेव में बेक की हुई सब्जियां फॉर्मूला दूध / माँ का दूध

11 माह के शिशु के लिए व्यंजन विधियां

1. सूजी का हलवा

सूजी का हलवा

सामग्री

  • आधा कप सूजी
  • 1 कप पानी
  • 1/2 चम्मच पिसा हुआ काजू / बादाम (वैकल्पिक)
  • आधा चम्मच घी
  • 1 खजूर, बीज निकाला हुआ

विधि

एक कड़ाही में घी गर्म करें और फिर उसमें सूजी को भूनें। इसे हिलाते रहें ताकि यह जले नहीं। जब भुनी हुई सूजी की खुशबू आने लगे तो उसमें पानी डालकर बिना बीज वाला खजूर डालें। इसे अच्छी तरह से मिलाएं ताकि गांठ ना पड़े, यदि आप पिसे हुए मेवे का पाउडर डालना चाहती हैं तो इसे इसी समय डाल सकती हैं। जब सूजी पक जाए, तो आप आंच बंद कर दें । इसे थोड़ा पतला रखें क्योंकि ठंडा होने पर यह खुद गाढ़ा हो जाएगा।

2. पालक और पनीर पास्ता

पालक और पनीर पास्ता

सामग्री

  • 1 कप पास्ता (पेनी या मेकरोनी)
  • 1 गड्डी पालक
  • 1 कप कद्दूकस किया हुआ पनीर
  • आवश्यकतानुसार पानी
  • यदि आवश्यक हो तो नमक

विधि

सबसे पहले, पास्ता को पकाएं औरयह सुनिश्चित करें कि यह इतना नरम हो कि शिशु आसानी से इसे खा सके। आप चाहें तो इसे हल्का सा मसल भी सकती हैं । पालक को अच्छी तरह से धो लें और फिर भाप में पकाएं या इसे थोड़ी देर के लिए उबालें। इसमें पनीर डालें और कुछ मिनट तक पकाएं जब तक कि उसका प्राकृतिक स्वाद निकल ना जाए। फिर इसे ठंडा करें और पानी के साथ एक मुलायम लसदार मिश्रण बनाएं। यदि आवश्यक हो तो आप थोड़ा नमक भी डाल सकती हैं। इसे पास्ता के साथ मिलाएं और अपने बच्चे को खिलाएं।

3. गाजर और स्वीट कॉर्न चावल

गाजर और स्वीट कॉर्न चावल

सामग्री

  • 1/4 कप कटा प्याज
  • ½ कप उबले हुए भुट्टे के दाने
  • ¼ कप गाजर छिली और कटी हुई
  • 1 बड़ा चम्मच मक्खन
  • 1 तेज पत्ता
  • ½ कप चावल
  • एक चुटकी पिसी हुई काली मिर्च
  • आवश्यकतानुसार पानी

विधि

कड़ाही में मक्खन गरम करें और उसमें प्याज को पारदर्शी होने तक भूनें। इसमें पके और उबले हुए भुट्टे के दाने डालें। फिर, कटा हुआ गाजर और एक चुटकी काली मिर्च डालें। कुछ मिनट इसे हल्का पकाएं फिर आंच बंद कर दें। अब आप इस मिश्रण को ठंडा करके अपने शिशु की पसंद के अनुसार बारीक या दरदरा पीस सकती हैं।

चावल पकाने के लिए पानी उबालें और इसमें तेज पत्ता डालें। चावल को तब तक पकाएं जब तक यह नरम न हो जाए। फिर पहले बनाए गए मिश्रण को चावल में मिलाएं और तेजपत्ते को निकाल दें। इसे गर्मागर्म ही परोसें।

4. एप्पल चिकन नगेट्स

एप्पल चिकन नगेट्स

सामग्री

  • 1 अंडे की जर्दी
  • 1 सेब – छीलकर कद्दूकस किया हुआ
  • लहसुन की एक कली
  • 1 कप चिकन कीमा बनाया हुआ या बारीक कटा हुआ
  • एक चुटकी काली मिर्च
  • एक चुटकी बारीक पिसे हुए अजवायन के फूल
  • तलने के लिए थोड़ा तेल

विधि

अंडे की जर्दी को छोड़कर सभी सामग्रियों को मिलाएं। फिर मिश्रण से छोटे आकार के नगेट्स बनाएं। अंडे की जर्दी को अच्छी तरह से फेटें और इसे नगेट्स के ऊपर ब्रश से लगाएं। आप नगेट्स को इसमें डुबो भी सकती हैं। नगेट्स को तलें या ग्रिल करें जब तक कि चिकन अच्छी तरह से पक न जाए। जैतून के तेल का इस्तेमाल करके नगेट्स को अधिक खस्ता और स्वादिष्ट बनाया जा सकता है।

5. राजमा का सूप

राजमा का सूप

सामग्री

  • 1 छोटा प्याज – बारीक कटा हुआ
  • ½ कप राजमा रात भर भिगोया हुआ
  • लहसुन की 2 कलियां, बारीक कटी हुईं
  • 1 छोटा टमाटर- बारीक कटा हुआ
  • 2 चम्मच नींबू का रस
  • 1 चम्मच मक्खन
  • एक चुटकी काली मिर्च का चूर्ण
  • स्वादानुसार नमक
  • आवश्यकतानुसार पानी

विधि

कुकर को आंच पर रखें और उसमें मक्खन को पिघलाएं। कटा हुआ लहसुन डालें और इसे लगभग एक मिनट तक हल्का तलें। फिर प्याज डालें और नरम होने तक भूनें। फिर कटे हुए टमाटर मिलाएं और तब तक हिलाएं जब तक कि वह गूदेदार न हो जाए। फिर इसमें भिगोए हुए राजमा के दाने डालें और कुछ मिनट के लिए भूनें। दो कप पानी डालकर राजमा को अच्छी तरह से कुकर में पकाएं। फिर मिश्रण को सूप जितना गाढ़ा बनाएं और उबाल लें। आप चाहें तो इसमें नींबू का रस, काली मिर्च और थोड़ा नमक भी मिला सकती हैं। तैयार हो जाने के बाद इसे कटोरे में परोसें।

11 माह के शिशु को खाना खिलाने हेतु उपयोगी सुझाव

11 महीने के शिशु के लिए यह आहार सूची आपको उसे खाना खिलाने में मददगार हो सकती है ।

  • उन बर्तनों को अच्छे से साफ करें जिन्हें आप अपने बच्चे को खाना खिलाने के लिए उपयोग करेंगी जैसे चम्मच, प्लेट, कटोरियां, और गिलास। आप इन बर्तनों को कुछ मिनट के लिए गर्म पानी में डुबो कर रखें और फिर जब आप खाना परोसने के लिए तैयार हों तो इन्हें बाहर निकाल लें।
  • आप जब भी शिशु के सामने कोई नया स्वास्थ्यकर भोजन पेश करती हैं, तो एलर्जी के किसी भी लक्षण को निश्चित रूप से ध्यान में रखें। अगले नए खाद्य पदार्थ को देने से पहले कम से कम तीन से पाँच दिन का अंतराल रखें और केवल एक समय में एक ही नए पदार्थ से शिशु का परिचय करवाएं ।
  • कम से कम बच्चे के एक साल का होने तक उसके भोजन में चीनी और नमक डालने से बचें। यह सुझाव दिया जाता है कि शिशु के एक साल का होने तक गाय का दूध और शहद भी ना दें।
  • अपने बच्चे की मांग के आधार पर उसके ठोस आहार के साथ माँ का दूध या फार्मूला दूध देना निर्धारित करें।
  • अगर आपको शिशु के दूध खाने-पीने में किसी प्रकार की कोई परेशानी नजर आए तो तुरंत बाल रोग विशेषज्ञ को दिखाएं ।

आपका बच्चा तेजी से बढ़ रहा है और अपने आस-पास की दुनिया को समझने की कोशिश रहा है। अतः यह सही समय है जब आप अपने बच्चे को नए-नए खाद्य पदार्थों से परिचित कराएं और धीरे-धीरे उन्हें वही भोजन खिलाना शुरू करें जो परिवार के अन्य लोग खाते हों । बस इस बात का ख्याल रखें कि आप जो भी खाना अपने शिशु को दे रही हैं वह स्वास्थ्यप्रद और घर का बना हुआ हो।