13 महीने के बच्चे की वृद्धि और विकास

13 महीने के बच्चे की वृद्धि और विकास

Last Updated On

बच्चे की बढ़ती उम्र के साथ उसमें अनेकों बदलाव होंगे और आप अपने होने वाले 13 माह के बच्चे में अनेकों बदलाव देखेंगी। इस आयु में आप उसे अधिक स्वतंत्र व नई-नई खोज करते पाएंगी। वह पहली बार अपने नन्हे कदम उठाकर अपनी मोहक चाल में चल सकता है। इस लेख में हम चर्चा करेंगे कि आपके 13 माह के बच्चे के विकास व वृद्ध के संबंध में क्या बदलाव हो सकते हैं।

13 महीने के बच्चे का विकास

इस आयु में आपका नन्हा राही उत्सुकता से अपने पूरे घर में घूमेगा, चीजों की तलाश करेगा और उनको पकड़ने का प्रयास करेगा। इसलिए आप अपने बच्चे की ऐसी मनमोहक गतिविधियों को यादों में समेटने के लिए तैयार रहें। हालांकि आपके बच्चे की यह आयु आपको अत्यधिक थका देने वाली होगी क्योंकि इस समय आप उसके द्वारा किए हुए किसी भी अद्भुत कार्य को देखने से चूकना नहीं चाहेंगी। यह बहुत जरुरी है कि आप अपने बच्चे की गतिविधियों पर पूरी नजर बनाए रखें क्योंकि इस दौरान आप बच्चा कुछ ऐसी चीजों को छू सकता है जिससे उसे अधिक हानि हो। इस लेख में हम आपके 13 माह के बच्चे के शारीरिक, सामाजिक और संज्ञानात्मक विकास के बारे में चर्चा करेंगे और साथ ही यह भी जानेंगे कि इस आयु में आपका बच्चा किस पड़ाव पर पहुँच चुका है।

शारीरिक विकास

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार 13 माह की लड़कियों का वजन लगभग 20.2 पाउंड लड़कियों का और लड़कों का वजन लगभग 21.8 पाउंड लड़कों का होता है और साथ ही लड़कियों की अनुमानित लंबाई लगभग 29.6 इंच और लड़कों की लगभग 30.3 इंच होती है। यह 13 माह के बच्चों के अनुमानित मापदंड हैं किंतु हर बच्चा अलग होता है और यदि आपके बच्चे का वजन मापदंडों के अनुसार नहीं हैं तो बिलकुल भी न घबराएं। आपका बच्चा 13 माह की आयु तक निम्मनलिखित पड़ावों पर सफलतापूर्वक पहुँच सकता है।

  • आपका बच्चा स्वतंत्र रूप से खड़ा हो सकता और बैठ सकता है।
  • आपका बच्चा घर में आपका हाथ या फर्नीचर पकड़कर चलने में सक्षम है।
  • बच्चे की पकड़ भी पहले से बेहतर हो चुकी है और वह क्रेयॉन्स, पेंसिल व सिक्कों जैसी चीजों को अपनी उंगलियों से पकड़ने में सक्षम है।
  • इस आयु में आपका बच्चा ताली बजा सकता है और हाथ हिलाकर बाय कर सकता है।
  • आपके बच्चे ने आपके साथ लुका छुपी जैसे खेल खेलना शुरू कर दिया है।

सामाजिक और भावनात्मक विकास

इस उम्र में आपके बच्चे को पहले की तुलना में भावनाओं और मनोभाव की बेहतर समझ हो जाती है। वह विभिन्न भावनाओं को प्रदर्शित करने में अधिक मिलनसार होता है। यहाँ कुछ सामाजिक और भावनात्मक विकास दिए गए हैं जो आपके बच्चे में 13 माह की उम्र तक विकसित हो गए होंगे, आइए जानते हैं;

  • इस उम्र में आपका बच्चा अलगाव समझ सकता है और आपसे बिछड़ने की चिंता को प्रदर्शित कर सकता है।
  • 13 माह का बच्चा खुद से ही खेलना शुरू कर सकता है।
  • तनाव व चिंता की स्थिति में बच्चा नखरे करना शुरू कर सकता है।
  • 13 माह का बच्चा मनोरंजक चीजों पर खिलखिलाकर हँस सकता है।
  • इस आयु में बच्चा अक्सर अजनबियों से सावधान रहता है और साथ ही आपके आस-पास ही रहना पसंद करता है।

संज्ञानात्मक और भाषा विकास

13 महीने की आयु में बच्चा अक्सर नई-नई जानकारियां प्राप्त करता है और उसके अनुसार अपनी गतिविधियां परिवर्तित करता है। 13 माह की उम्र के बच्चे में आशा, निराशा, आश्चर्य जैसे भाव बहुत ही सामान्य हैं। इस आयु में बच्चा विकास के निम्नलिखित मापदंडों को हासिल करने में सक्षम होता है;

  • आपका बच्चा मौखिक आदेशों को समझने और धारण करने में सक्षम है।
  • आपका बच्चा उन चीजों की ओर इशारा कर सकता है, जिन्हें वह चाहता है या जिनके साथ खेलना चाहता है।
  • आपका बच्चा कुछ शब्दों का उच्चारण कर सकता हैं जैसे, “मामा”, “दादा” आदि।
  • अब तक आपके बच्चे ने ‘ना’ कहना सीख लिया होगा।
  • इस उम्र में बच्चा भवनात्मक इशारों में अपनी बात को कह सकता है।

GESTURES

व्यवहार

जैसे-जैसे आपके बच्चे की आयु बढ़ती है और उसका दूसरों से मेल-जोल अधिक होता है, वैसे-वैसे उसकी भावनाओं में अनेक परिवर्तन आते हैं। वह विभिन्न चीजों में अलग-अलग प्रतिक्रियाएं देना शुरू कर देता है। आप अपने बच्चे के व्यवहार में बदलाव देख सकती हैं और अब वह भावनाओं को स्पष्ट रूप से व्यक्त करने में सक्षम है। क्या आपका बच्चा शैतान हो रहा है? नहीं, ऐसी बात नहीं है। आपका बच्चा सिर्फ वह सब ग्रहण करने और समझने की कोशिश कर रहा है जो वह देखता और अनुभव करता है। आपको अपने छोटे से बच्चे के साथ बहुत धैर्य रखने की आवश्यकता हो सकती है क्योंकि शायद आपके लिए अब सब कुछ अपने हिसाब से पाना आसान नहीं होगा। इस आयु में अक्सर बच्चे नखरे, अलगाव की चिंता और विभिन्न अन्य बदलते व्यवहारों को अपना सकते हैं और आप इसके लिए तैयार रहें।

आहार और पोषण

13 महीने के बच्चे को एक दिन में लगभग 1000 कैलोरी की आवश्यकता होती है, हालांकि यह आवश्यक नहीं है कि आप इन मानकों के अनुसार ही चलें। यदि सरल शब्दों में बात करें तो आपका बच्चा आपके आहार का लगभग एक चौथाई हिस्सा ही खा सकता है। इस अवधि में आपके बच्चे को हर चीज पसंद आ सकती है और आप उसकी पसंद के खाद्य पदार्थ बना सकती हैं। इस उम्र में बच्चे को विभिन्न स्वाद व खाद्य पदार्थ देने की सलाह दी जाती है किन्तु यदि आपका बच्चा नहीं खाता है तो आप उससे जबरदस्ती न करें। आप अपने 13 माह के बच्चे को दिनभर में 3 बार मुख्य आहार और 2 बार नाश्ते के रूप में खाद्य पदार्थ खिला सकती हैं। बच्चे के आहार में विभिन्न प्रकार की सब्जियां, फल, अनाज और दूध आदि उचित मात्रा शामिल करें।

यदि आपने अपने बच्चे को ठोस खाद्य पदार्थ देना नहीं शुरु किया है, तो आप उसे पूर्ण वसा-युक्त दूध देन शुरू कर सकती हैं। इस समय पर बच्चे का सामसिक विकास होता है और जिसमें अत्यधिक वसा की आवश्यकता होती है। यदि आप बच्चे से अपना दूध छुड़ाना चाहती हैं तो उसके लिए यह एक सही समय है। किंतु यदि आप बच्चे को स्तनपान कराते रहना चाहती हैं तो 2 वर्ष की उम्र तक पिला सकती हैं।

इस आयु में अपने बच्चे के आहार और पोषण को उचित महत्व देना आवश्यक है। इस दौरान अपने बच्चे के वजन और वृद्धि में नजर रखें, यदि वह भोजन करने में नखरे करता है या उसका वजन पर्याप्त नहीं है तो डॉक्टर से मिलें। 13 माह के बच्चे को आप आहार में क्या दे सकती हैं इस बारे में अपने डॉक्टर से चर्चा करना न भूलें।

नींद

13 महीने की उम्र तक आप अपने बच्चे को अधिक सुलझा हुआ व शांत पाएंगी और उसकी नींद का भी एक नियमित समय होगा । हालांकि, उसके सोने का नियमित समय दांत निकलने के कारण या कभी उसके बीमार पड़ने के कारण खराब या बाधित हो सकता है। लेकिन औसतन, आपके बच्चे की नींद 24 घंटे में से 11-14 घंटे होती है। बच्चे को दिनभर में 1 या 2 बार थोड़ी-थोड़ी देर के लिए सुला दें और रात में पूरी नींद लेने दें। कुछ इस प्रकार से आप उसकी नींद का समय विभाजित कर सकती हैं।

SLEEPING
इस उम्र में बच्चे का ध्यान सरलता से भटक सकता है और वह सोने में नखरे भी कर सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि वह अपने आस-पास की नई-नई चीजों को देखकर अत्यधिक प्रभावित हो रहा है और उन सब चीजों के बारे में पता लगाना चाहता है इसलिए शायद उसे नींद न आए। यदि आपका बच्चा अब भी सोने से मना करता है तो उसे जबरदस्ती न सुलाएं। सोते समय बच्चे को गुनगुने पानी से नहलाएं, ऐसा करने से उसे अच्छी नींद आएगी।

खेल और गतिविधियां

इस दौरान आपका बच्चा अधिक सक्रिय व चंचल हो सकता है और वह सिर्फ खेलना या मजे करना चाहता है, साथ ही वह इन खेलों से जल्द ही ऊब भी सकता है। किन्तु सवाल यह है कि आप अपने बच्चे को सक्रिय व खुश रखने के लिए क्या विशेष कर सकती हैं। फिक्र न करें, यहाँ हमारे पास निम्नलिखित खेल व गतिविधियां हैं जिसमें आपका बच्चा व्यस्त और खुश रहेगा।

  • चीजों को एक साथ करें: आपका बच्चा आपके साथ सारे काम और गतिविधियां करना पसंद करता है। कोई भी कार्य करते समय उसे अपने साथ रहने दें ।  यदि आप सब्जियां काट रही हैं, तो आप उसे खेलने के लिए कुछ दे सकती हैं। यदि आप कपड़े धोने का काम कर रही हैं, तो उसे व्यस्त रखने के लिए एक कपड़ा और एक कटोरे में पानी दें और इसी तरह की अन्य चीजों से आप अपने बच्चे को व्यस्त रख सकती हैं।
  • रंग भरने और चित्रकला के लिए किताबें: हालांकि इसके लिए अभी आपका बच्चा बहुत छोटा है। इस उम्र में बच्चे रंगों की पेंसिल घिसना पसंद करते हैं। आप अपने बच्चे को व्यस्त रखने के लिए एक रंग व किताब दें, वह इसमें रंग घिसेगा, किताब को खराब भी करेगा किन्तु इससे उसे अत्यधिक ख़ुशी मिलेगी।
  • लुका-छिपी: आपका बच्चा घर के अंदर ही आपके साथ से लुका-छिपी खेलना पसंद कर सकता है।
  • गेंद के साथ खेलना: आप अपने बच्चे को गेंद से खिला सकती हैं बस इस बात का खयाल रखें कि गेंद रुई, कपड़े की हो और साथ ही बहुत हल्की हो ताकि बच्चे को चोट न लगे।

13 महीने के बच्चे के लिए वैक्सीनेशन (टीकाकरण)

आपका अपने बच्चे के टीकाकरण और स्वास्थ्य जांच के लिए सजग रहना बहुत महत्वपूर्ण है। हालांकि, यदि आप 12 महीने की आयु में बच्चे को कोई भी टीका लगवाना भूल गई हैं या इससे चूक गई हैं तो अब उसे लगवा सकती हैं। डॉक्टर आपके 1 वर्षीय शिशु को निम्नलिखित टीका लगवाने का सुझाव दे सकते हैं, जिन्हें आप 13वें माह में भी उपयोग कर सकती हैं, आइए जानते हैं;

  • मेनिंगोकोकल (मेन.सी.सी.वी.)
  • हेपेटाइटिस बी (हेप.बी.)
  • हीमोफिलस इन्फ्लुएंजा टाइप बी (हिब)
  • खसरा, मंप्स और रूबेला (एम.एम.आर.)

माता-पिता के लिए सुझाव

13 महीने के बच्चों की बेहतर देखभाल के लिए आप कुछ सुझावों को अपना सकती हैं, वह इस प्रकार हैं;

  • इस उम्र में बच्चे को इधर-उधर घूमना और चीजों को ढूंढ़ना अधिक पसंद है इसलिए आपको अपने घर को सुरक्षित करवाने की सलाह दी जाती है।
  • इस आयु तक बच्चा चलना शुरू कर देता है इसलिए उसे एक जोड़ी अच्छे जूते दिलवाएं जो चलते वक्त उसके लिए उचित सहारा प्रदान करें।
  • नियमित समय अनुसार बच्चे की जांच और डॉक्टर से सलाह लेना न भूलें।
  • अपने बच्चे के पोषण और आहार का ध्यान रखें और यदि आवश्यक हो तो इस बारे में डॉक्टर से चर्चा करें।
  • अपने बच्चे के लिए एक अच्छी कार की सीट लें।
  • बच्चे की उपस्थिति में धूम्रपान करने से बचें।
  • बच्चे को सुलाने और खिलाने का समय निर्धारित करें।

CONSULT DOCTOR

डॉक्टर से परामर्श कब करें

माता-पिता के लिए अपने बच्चे की वृद्धि और विकास की तुलना समान उम्र के अन्य बच्चों के साथ करना एक आम बात है। प्रत्येक बच्चा अद्वितीय और अलग होता है इसलिए उसके विकास या वृद्धि की इस प्रकार तुलना न करें। हालांकि, यदि आपको लगता है कि आपके बच्चे का सामान्य विकास नहीं हो रहा है, जो इस उम्र तक हो जाना चाहिए तो ऐसी स्थिति में आप डॉक्टर से सलाह ले सकती हैं। यदि आप अपने बच्चे में विकास संबंधी इस देरी को देखती हैं, तो अपने डॉक्टर से इस बारे में बात अवश्य करें:

  • आपका बच्चा खड़ा नहीं हो पा रहा है।
  • आपका बच्चा उंगलियों से वस्तुओं को पकड़ नहीं पा रहा है।
  • बच्चा आपके सरल निर्देशों को नहीं समझता है।
  • आपका बच्चा भावनाएं व्यक्त नहीं कर रहा है।

अगर आप उपर्युक्त लक्षणों या किसी अन्य समस्या के संकेत को महसूस करती हैं जो इस उम्र के बच्चे के लिए सामान्य नहीं हैं, तो डॉक्टर से तुरंत सलाह लें।