22 सप्ताह का बच्चा – विकास, पड़ाव और देखभाल

22 सप्ताह का बच्चा - विकास, पड़ाव और देखभाल

Last Updated On

22 सप्ताह का होने पर आपका बच्चा घूमने-फिरने में सक्षम हो जाता है और उसे अपने आसपास की दुनिया की बेहतर समझ होने लगती है।हालांकि, याद रखें कि यह विकासात्मक पड़ाव एक दिशानिर्देश की तरह है और ऐसा जरूरी नहीं है कि इस लेख में बताई गई सारी चीजें आपके बच्चे के भी साथ हो। हर बच्चे का विकास अलग-अलग तरीके से होता कुछ बच्चे जल्दी विकास करते हैं तो कुछ थोड़ा समय लेते हैं, इसलिए यह केवल आपको बताने के लिए है कि 22 सप्ताह के बच्चे में आप किस प्रकार के विकास देख सकती हैं।

22 सप्ताह के बच्चे का विकास

22 सप्ताह के बच्चे का विकास

इस समय तक, 22 सप्ताह के बच्चे में काफी कुछ विकास हो जाता है। अब आपका बच्चा बिलकुल भी वैसा नहीं दिखता होगा जैसा वह पाँच महीने पहले था। इस समय तक अधिकांश बच्चे घूमने-फिरने लगते हैं और पहले से अधिक सक्रिय हो जाते हैं। इसके अलावा वह पेट के बल लेटने में सक्षम होते हैं, घुलटना सीख जाते हैं, घुटनों के बल चलना शुरू कर देते हैं – जैसी गतिविधियां शामिल हैं। इस समय वह किसी भी चीज को अपने में मुँह में डालने की कोशिश करते हैं इसलिए आप उन पर हर समय नजर बनाए रखें, ताकि वह किसी चीज को निगल न लें ।

शारीरिक विकास के संदर्भ में, 22 सप्ताह की आयु के बच्चे का वजन जन्म से काफी ज्यादा बड़ जाता है । आपका बच्चा अपनी अगुंलियों का उपयोग करके छोटी चीजें पकड़ने में सक्षम होने लगेगा और यहाँ तक कि अपनी दूध की बोतल को भी खुद से पकड़ने लगेगा।अब तक बच्चे का मस्तिष्क भी पहले से काफी हद तक विकासित हो जाता है। बच्चा अब अपने आसपास की चीजों को समझने लगता है और उनके बीच का फर्क भी जानने लगता है । इसके अलावा अब वह अपने भाव को भी अभियक्त करने लगता है, हो सकता है कि बच्चा कभी बहुत ज्यादा रोने लगे, वहीं जब वह अच्छे मूड में होता है तो आपके साथ हँसता खेलता है और उत्साह दिखता है।

22 सप्ताह के शिशु की विकासात्मक उपलब्धियां

  • इस दौरान, आपका बच्चा अपनी अंगुलियों से छोटी चीजें हिलाने में सक्षम हो जाएगा।
  • बच्चा किसी भी चीज को देखकर उसकी ओर लपकने की कोशिश कर सकता है, हालांकि वह अभी खुद से नहीं खा सकता है।
  • यदि आप बच्चे को दूध के अलावा भी कोई ठोस आहार दे रही हों तो इस बात का ख्याल रखें कि उन्हें इसे बहुत छोटे टुकड़े में करके दें ताकि यह उनके गले में अटके नहीं।
  • आपका बच्चा बहुत सक्रिय हो जाएगा और इधर-उधर घूमता रहेगा।
  • आपका बच्चा चीजों की ध्वनि सुनना पसंद कर सकता है, जिसकी वजह से आप देखेंगे कि चीजों की आवाज सुनने के लिए वह बार-बार गिराता है।

स्तनपान

भले ही आपका बच्चा अधिक खाने की मांग करे और आप उसके आहार में ठोस भोजन शामिल करना चाह रही हों, लेकिन यह बेहद महत्वपूर्ण है कि अभी भी बच्चे को माँ के दूध को ही प्राथमिक तौर पर दिया जाना चाहिए। ऐसा इसलिए है, क्योंकि माँ के दूध से ज्यादा और कुछ पौष्टिक नहीं हो सकता है। इस उम्र में, यह बच्चे की इम्युनिटी को बेहतर बनाता है, और उसे बड़ा होने के साथ-साथ मजबूत भी करता है। माँ के दूध में और कुछ हद तक, फार्मूला दूध में भी, पोषक तत्वों का सही संतुलन होता है, जो बच्चे के मस्तिष्क और मांसपेशियों के विकास के लिए आवश्यक होता है। बच्चे को अभी ठोस भोजन पचाने में परेशानी होती है क्योंकि उनका पाचन तंत्र इतना मजबूत नहीं होता है।

यदि आप अपने बच्चे को फार्मूला दे रही हैं, तो जैसे-जैसे वह बड़ा होने लगेगा, वैसे-वैसे दूध की मात्रा भी बढ़ानी पड़ेगी। हालांकि, जब बच्चा स्तनपान करता है तब उसकी जरूरत नहीं पड़ती है, क्योंकि स्तनपान के दौरान – बच्चे अपनी इच्छा से दूध पीते है जितनी उन्हें भूख लगी होती है। इसके अलावा, माँ के दूध में लेप्टिन, एडिपोनेक्टिन और कोलेसिस्टोकिनिन जैसे हार्मोन होते हैं, जो फार्मूला में नहीं होते हैं। ये हार्मोन बच्चे में मेटाबलिज्म और भूख नियंत्रण में सहायता करते हैं और पाचन सुचारू रूप से काम करने में मदद करते हैं। यह हार्मोन बच्चे को अच्छी तरह से सोने में भी मदद करते हैं, जिसका अर्थ यह हैं कि फार्मूला पीने वाले शिशुओं को सोने के लिए अधिक ऊर्जा की आवश्यकता होती हैं। इसके अलावा, बच्चे के बढ़ते पाचन तंत्र के द्वारा माँ का दूध अधिक आसानी से पच जाता है। एक बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए फार्मूला की मात्रा उसके वजन पर निर्भर करती है – इसलिए सही मात्रा का पता लगाने के लिए आपको चिकित्सक से परामर्श करने की आवश्यकता होती है।

नींद

इस समय बच्चा रात में सोते वक्त जाग सकता है जिससे उनकी नींद में थोड़ी फेरबदल हो सकती है । हालांकि, 22-सप्ताह के शिशु की नींद कुल मिलाकर अभी भी उतनी ही है। इस समय में, बच्चे की मांसपेशियां मजूबत हो रही होती हैं और बच्चा घुटनों के बल पहले से ज्यादा बेहतर चलने लगता है । यह गतिविधि बच्चे को काफी थका देने वाली होती है जो उन्हें बेहतर नींद लेने में मदद करती है । इसलिए, अगर बच्चा रात में ठीक से नींद नहीं ले रहा है तो उसे ऐसी गतिविधियों में व्यस्त रखें जिसके बाद वह कुछ घंटे तक शांति से सो सके। माता-पिता के लिए अपने बच्चे को हर बार जागने के वक्त पूरी तरह से अलग स्थिति में देखना आम बात हैं – वे अनुचित समय पर जाग भी सकते हैं, और आपके लिए रो भी सकते हैं।

हर बड़े विकास से पहले बच्चे की नींद पर इसका असर पड़ता है, जैसे – घुटनों के बल चलना, बैठना, खड़े होना और चलना आदि। इसलिए, अगले कुछ महीनों तक नींद का प्रतिगमन जारी रहेगा। कुछ माता-पिता अपने बच्चे के साथ सोने की कोशिश करते हैं ताकि वह नींद से कम जागे और शांति से सो सके।

22 सप्ताह के बच्चे की देखभाल के टिप्स

यहाँ आपके बच्चे की देखभाल करने की कुछ टिप्स दी गई है, जिनका आप उपयोग कर सकती हैं, ताकि आपको अपने बच्चे को संभालना आसान हो जाए।

  • अपने बच्चे के लिए कुछ ऐसी चीजें जरूर रखें जिनमें वह थोड़ी देर तक व्यस्त रहे, आप उन्हें ऐसे खिलौने से सकती हैं जिसे वह चबा सके या फिर आप उन्हें झूलने वाली कुर्सी भी दे सकती हैं। इससे आपको थोड़ी आराम करने का का मौका मिलेगा।
  • अपने बच्चे के साथ हर समय रहना अच्छा है लेकिन जरूरी नहीं है कि बच्चा हर समय आपके साथ रहना चाहे । इसलिए अगर आपको वह थका हुआ लग रहा हैं तो उसे सोने के लिए नीचे लेटा दें।
  • जितनी जल्दी हो सके अपने घर को चाइल्ड प्रूफ यानि बच्चों के अनुकूल बनाएं और इसकी शुरुआत अपने बच्चे के पालने के करीब मौजूद वस्तुओं से करें।

जाँच और टीकाकरण

चिकित्सक आपके बच्चे की 6 महीने तक नियमित रूप से जाँच करने के लिए कह सकते हैं । इस समय बच्चे के टीकाकरण के लिए हेपेटाइटिस बी, डिप्थेरिया, टेटनस और काली खाँसी के लिए टीका लगाया जा सकता है। पी.सी.वी. बच्चे को दिमागी बुखार, कान में संक्रमण और न्युमोनिया से बचाता है। पेट के संक्रमण के लिए, रोटावायरस जो मुँह द्वारा दिया जाता है, और एच. आई. बी टीका हीमोफिलस इन्फ्लुएंजा टाइप ‘बी’ बैक्टीरिया का मुकाबला करने के लिए दिया जाता है, जो बच्चों में कंठच्छद (एपिग्लोटाइटिस) या न्युमोनिया का कारण बन सकता है।

टीकाकरण के कारण आपके बच्चे को बुखार या चकत्ते पड़ने जैसी समस्या आ सकती है, लेकिन इन छोटी बातों की वजह से टीकाकरण नहीं कराने का जोखिम न लें, टीकाकरण जरूर करवाएं ।

खेल और गतिविधियां

ऐसी कुछ गतिविधियाँ हैं जिन्हें आप अपने बच्चे के साथ खेल सकती हैं, जो मजेदार होने के साथ-साथ बच्चे के मोटर कौशल और विकास को बेहतर बनाने के लिए काफी अच्छा है।

१. टेडी बियर कहाँ है?

आप बच्चे की समझने की शक्ति बढ़ाने के लिए उनके साथ खेलें। आप इसके लिए बच्चे का पसंदीदा टेडी बियर का इस्तेमाल कर सकती हैं। आपको बस इतना करना होगा कि अपने बच्चे को एक कपड़े में कई परतों में करके लपेट दें फिर प्रत्येक परत को खोलते हुए बच्चे से पूछें की उनका टेडी बियर किधर है । जब सबसे आखिर में उन्हें अपना खिलौना मिलेगा तब उनकी खुशी देखने लायक होगी ।

२. ट्रेजर हंट

यह गतिविधि काफी आसान है, जो बच्चे के मोटर कौशल को विकसित करती है। जब भी आप कहीं बाहर या किसी खास जगह जाती हैं, तो अपने साथ एक छोटा सा बैग भी रखें। जब आप किसी सुंदर चीज को देखेंगे तो, जैसे की एक फूल, तो उसे तोड़ लें और बच्चे को दिखाएं। बहुत जल्द, बच्चा उन वस्तुओं को पहचानने लगेगा और उनकी ओर देख कर इशारा करना शुरू कर देगा । कोशिश करें कि आप बच्चे को वही चीज दें जो उन्हें नुकसान न पहुँचाएं।

चिकित्सक से परामर्श कब करें

एक माँ होने के नाते आपको अपने बच्चे में होने वाली परेशानी का अहसास हो जाता है । यदि आपको अपने बच्चे में किसी तरह की कोई भी परेशानी नजर आए, जैसे उसकी गतिविधियों में या फिर उसके व्यवहार में, तो आपको अपने चिकित्सक से मिलना चाहिए और उनसे इस विषय पर बात करनी चाहिए। यदि टीकाकरण के बाद लंबे समय तक बुखार आता है या फिर बच्चे ने कोई ऐसी चीज निगल ली है, जो उसके लिए खतरा बन सकता है, तो आपको जल्द से जल्द चिकित्सक के पास जाना चाहिए।

माता-पिता होना एक खूबसूरत अहसास है लेकिन इसके साथ आप पर बहुत सारी जिम्मेदारी भी आती है। बच्चे की देखभाल करना आसान नहीं है । बच्चे को उसके अनुसार विकास करने दें बस अपनी नजरें उन पर बनाए रखें ताकि उन्हें कोई नुकसान न पहुँचे, यदि आप बच्चे में किसी प्रकार की कोई समस्या देखती है, तो तुरंत अपने अपने चिकित्सक से परामर्श करें।