बच्चों को सर्दियों में गर्म कैसे रखें – टिप्स और ट्रिक्स

बच्चों को सर्दियों में गर्म रखना

Last Updated On

सर्दियों का मौसम बस शुरू हो ही गया है और मौसम का मजा उठाने के साथसाथ हर किसी को ताजी हवा की जरूरत होती है, फिर चाहे वो आपका नवजात शिशु हो या स्कूल जाने वाला बच्चा। हालांकि, सर्दियों के दौरान शिशु को गर्म रखने की इस प्रक्रिया को आपको ठीक से समझना होगा। क्योंकि अक्सर आप बच्चे को गर्म रखने के चक्कर में बहुत ज्यादा कपड़े पहना देती हैं, जिससे बच्चा अत्यधिक हो जाती है। आपको बच्चे को सर्दियों में गर्म रखने के लिए गर्मी और सर्दी के बीच सही संतुलन बनाए रखना बहुत जरूरी है, और यह उतना भी मुश्किल है। इसलिए, इस लेख में कुछ बेहतरीन तरीके बताए गए हैं जो सर्दियों के दौरान बच्चे को किसी भी असुविधा से बचाने में मदद करेगा और उन्हें स्वस्थ रखने में मदद करेगा।

सर्दियों के रात में बच्चे को गर्म रखना

सुरक्षा सुझाव

वयस्कों के विपरीत, बच्चे (विशेष रूप से 2 वर्ष से कम उम्र के) अपने शरीर के तापमान का संतुलन बनाए रखने में सक्षम नहीं होते हैं और यह बहुत जरूरी है कि जब वे रात में चैन से सोएं, तो उनके शरीर को अत्यधिक गर्म किए बगैर उन्हें आराम से सुलाएं। कुछ अध्ययनों से पता चला है कि बच्चों को बहुत ज्यादा कपड़े पहनाने से उनमें आकस्मिक नवजात मृत्यु सिंड्रोम (एस.आई.डी.एस) का खतरा बढ़ जाता है। हालांकि, सर्दियों के मौसम में बच्चे को सोते समय गर्म रखना बहुत महत्वपूर्ण है, लेकिन इसके साथ साथ कुछ और भी कारक हैं जिसका इस दौरान ख्याल रखना बहुत जरूरी है, ताकि बच्चे में एस.आई.डी.एस के जोखिम को कम किया जा सके।

आपको क्या करना चाहिए

  • सर्दियों में बच्चे के कमरे का तापमान करीब 16-20 डिग्री होना चाहिए।
  • सर्दियों में सोते समय बच्चे को कपड़े पहनाने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप उसे स्लीप सूट पहनाएं जिसमें बच्चे के पैर अच्छी तरह ढ़के होते हैं और उनके पैरों की अंगुलियां गर्म रहती है। यदि आपके बच्चे का कमरा ज्यादा ठंडा रहता है, तो नीचे एक बनियान पहनाकर रखें।
  • रूखापन व उससे खुजली से बचने के लिए एक अच्छे मॉइस्चराइजर या लोशन का इस्तेमाल करें ।
  • अगर बाहर से तेज ठंडी हवा आ रही है, तो अपनी खिड़कियां बंद रखें, लेकिन सुनिश्चित करें कि आपके बच्चे का कमरा हवादार हो। आप कमरे को गर्म रखने के लिए रूम हीटर या ह्यूमिडिफायर का उपयोग कर सकती हैं।
  • यदि आपको लगता है कि आपके शिशु के लिए वनपीस सूट पर्याप्त नहीं है, तो एक नरम कंबल में लपेट दें ताकि वह आरामदायक नींद ले सके। यदि वह बारबार कंबल हटा देता है, तो आप उसे स्लीपिंग बैग में रख सकती हैं।
  • इसके अलावा, सर्दियों में बच्चे के शरीर में गर्मी बनाए रखने के लिए उन्हें अपने शरीर के करीब रखें। आपके शरीर की गर्मी बच्चे के शरीर को गर्म बनाए रखने में मदद करती है ।
  • एक सूती चादर और कंबल आपके बच्चे को बिस्तर में पर्याप्त गर्मी प्रदान कर सकता है। इसके अलावा, आप उन्हें कमरे के तापमान के आधार पर और कंबल ओढ़ा सकती हैं या हटा सकती हैं । हालांकि, बच्चे को गर्म रखने का सबसे बेहतर तरीका है कि उसे स्लीपिंग बैग या स्लीपसैक में सुलाया जाए।
  • शिशु को सोने से पहले गर्म पानी की थैली या हीटिंग पैड बिस्तर में रखने से कुछ ही देर में बच्चे के ठंडे बिस्तर में गर्मी आ जाएगी और वह आराम से सो सकेगा।

सुरक्षा सुझाव

  • बिस्तर में सोते समय अपने बच्चे के सिर को न ढकें। यह अधिक गर्मी उत्पन्न करने का कारण बन सकता है, क्योंकि बच्चे के सिर के माध्यम से अधिक गर्मी पैदा होती है। एक बार जब आपका बच्चा सो जाता है, तो जाँच लें कि कहीं उसे बहुत पसीना तो नहीं आ रहा है, कहीं वो गर्मी से लाल तो नहीं हो रहा है या तेजी से साँस ले रहा है। अपने कमरे के तापमान को कम करें या बच्चे के सिर से टोपी हटा दें।

घर से बाहर जाते समय बच्चे का पहनावा

घर से बाहर जाते समय बच्चे का पहनावा

तेज सर्दियों के मौसम में अपने बच्चे को बाहर निकालने से पहले उन्हें ज्यादा कपड़े पहनाने की जरूरत होती है। बच्चे के आरामदायक कपड़े से लेकर हीटर और ह्यूमिडिफायर तक आपको इन सभी चीजों को छोड़ना पड़ता है, जब आप घर से बाहर जाने के लिए विचार करती हैं और इसलिए उन्हें सर्दी से बचाने व उनके शरीर को गर्म रखने के लिए ज्यादा कपड़े पहनाने की जरूरत होती है। यहाँ कुछ टिप्स और ट्रिक्स हैं, जिन्हें आपको जानना जरूरी है, खासकर जब आप बच्चे को सर्दियों में घर के बाहर ले जाने की तैयारी कर रहीं हो।

आपको क्या करना चाहिए

  • हमेशा बच्चे को पतली परत वाले कपड़े पहनाएं ताकि गर्मी को रोका जा सके। सबसे पहले एक नरम सूती का कपड़ा पहनाए, फिर एक लंबी आस्तीन वाली टीशर्ट और पैजामा (लेगिंग) पहनाएं और अगर बाहर बहुत ठंड है, तो आप उसे एक स्नो सूट पहना सकती हैं ।
  • अपने बच्चे को आरामदायक और मुलायम कपड़े पहनाएं ।
  • बच्चे को सर्दियों में बाहर ले जाते समय टोपी पहनाएं यह उन्हें तेज सर्दियों में हवाओं से उनके कान की रक्षा करने में मदद करता है।
  • आपके बच्चे का हाथ उसके शरीर के तापमान को जानने में मदद करते हैं। बच्चे को गर्म रखने के लिए दस्ताने का प्रयोग करें या फिर उसका हाथ कंबल के अंदर कर दें।
  • बाहर जाते समय नवजात शिशु को गर्म रखने के लिए आपको उसे अपने त्वचा के संपर्क में बनाए रखना होगा। इससे बच्चा आरामदायक महसूस करता है।

सुरक्षा सुझाव

  • हमेशा सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा अंदर से सूखा रहे, क्योंकि नम कपड़ों के कारण उन्हें हाइपोथर्मिया हो सकता है, भले ही बाहर का तापमान 40 डिग्री से अधिक हो।
  • सर्दियों के दौरान अपने बच्चे को गर्म रखने के लिए, उन्हें कार की सीट में बांधने में परेशानी होती है क्योंकि वे बहुत सारे कपड़े पहने होते हैं जिसकी वजह से उन्हें बांधने में परेशानी होती है।

ठंड में लंबे समय तक बाहर रहने के दौरान शिशु की सुरक्षा

ठंड में अपने बच्चे के साथ लंबे समय तक बाहर रहना नई माओं के लिए थोड़ा खतरनाक हो सकता है, लेकिन कुछ सुरक्षा से जुड़ी सावधानियां आपको नीचे बताई गई हैं, जो इसके हानिकारक प्रभावों से बच्चे को बचाने में मदद कर सकती हैं।

आपको क्या करना चाहिए

  • बच्चे को इस हिसाब से कपड़े पहनाएं कि आप उसकी जरूरतों के अनुसार कपड़ों को समायोजित कर सकें। आप उसे नीचे सूती की टीशर्ट और पैंट पहनाएं और उसके बाद जैकेट, टोपी और दस्ताने पहनाएं। बाकि अगर आपको लगता है कि उसे अतिरिक्त गर्मी की जरूरत है तो, उसे ऊपर से कंबल ओढ़ाएं ।
  • अपने बच्चे को एक बेबी कैरियर में लें, ताकि उसे गर्म महसूस हो।
  • बच्चे को स्ट्रोलर में लेते समय आपको बहुत ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है, क्योंकि बहुत ज्यादा कंबल ढकने से स्ट्रोलर के अंदर हवा आना बंद हो जाती है। अगर वह स्ट्रोल में नहीं है, तो आप उसे जैकेट, कैप, दस्ताने और मोजे पहना सकती हैं और जिस दिशा में हवा चल रही हो उसके विपरीत उन्हें चलाएं ।

सुरक्षा सुझाव

  • अगर आप बेबी कैरियर का इस्तेमाल कर रही हैं तो बच्चे को बहुत ज्यादा स्वेटर पहनाने की जरूरत नहीं है।

ठंड में लंबे समय तक बाहर रहने के दौरान शिशु की सुरक्षा

बच्चे की त्वचा को शुष्क होने से बचाना

ठंड के मौसम में, नमी की कमी और हवा के कारण बच्चे की त्वचा में रूखा हो जाती है और ये खुजली वाली त्वचा को जन्म देती है। कुछ सावधानियां आपके बच्चे की त्वचा को साफ और नमीयुक्त रखने में आपकी मदद कर सकती है।

आपको क्या करना चाहिए

  • क्या आप जानती हैं कि पानी आपके बच्चे की त्वचा को भी रूखा बना सकता है? जी हाँ, उन्हें रोजाना नहलाने की जरूरत नहीं है, खासकर सर्दियों में। गुनगुने पानी का उपयोग करें और उसे लंबे समय तक बाथटब में न रहने दें।
  • अध्ययनों से पता चला है कि साबुन के इस्तेमाल से कुछ शिशुओं को एलर्जी हो सकती है। इसलिए, हल्के हाइपोएलर्जेनिक क्लीनर का उपयोग करने की कोशिश करें जो अप्राकृतिक सुगंध से मुक्त हो।
  • बच्चे को नहलाने के बाद, हाइपोएलर्जेनिक बेबी लोशन का इस्तेमाल करें और बच्चे की त्वचा को मॉइस्चराइज करें।
  • घर के बाहर जाने से पहले, कठोर ठंडी हवाओं से बचाने के लिए अपने बच्चे के चेहरे और होंठों पर बिना खुशबू वाला क्रीम लगाएं।

सुरक्षा सुझाव

सुरक्षा सुझाव

  • बच्चे को नहलाने के बाद हमेशा मुलायम कॉटन की तौलिए से अच्छी तरह से सुखाएं। बच्चे को सुखाते समय तौलिए से ज्यादा तेज रगड़े नहीं, इससे बच्चे की नाजुक त्वचा छिल सकती है।

ठंड के मौसम में बच्चे को गर्म रखने के लिए मातापिता को क्या करना चाहिए

बच्चे, विशेष रूप से नवजात शिशुओं को ठंड लगने की आशंका अधिक होती है और परेशानी वाली बात यह है कि वो आपको ये बता भी नहीं सकते कि वे कब ठंड या गर्मी महसूस कर रहे हैं। दरअसल यह सुनिश्चित करना आपका काम है कि बच्चा गर्म और आरामदायक महसूस करे। नीचे कुछ बातें बताई गई हैं जिसे लेकर आपको सावधानी बरतनी चाहिए:

  • बच्चे के कमरे के तापमान को बहुत अधिक न रखें और न ही उन्हें बहुत ज्यादा कपड़े पहनाएं, क्योंकि अधिक गर्मी के कारण बच्चे में एस.आई.डी.एस का खतरा बढ़ जाता है।
  • बच्चे के अत्यधिक कपड़े में लपेटने से उनकी श्वास प्रक्रिया में बाधा आ सकती है। बच्चे के गले या चेहरे के चारों ओर लंबे स्कार्फ का उपयोग करने से बचें, इसके बजाय, स्ट्रोलर या कार सीट का प्रयोग करें ।
  • अपने बच्चे को भारी कंबल ओढ़ाने से बचें, क्योंकि वह कंबल के वजन को संभालने लायक नहीं होते हैं और इससे उनका दम घुटने का खतरा रहता है।
  • बच्चे के चेहरे को न ढकें खासकर अगर वह बच्चा एक वर्ष से कम आयु का है, क्योंकि मुँह ढंक जाने के कारण उन्हें साँस लेने में तकलीफ हो सकती है।
  • बच्चे को अत्यधिक गर्म होने से बचाएं, यदि बाहर बहुत ज्यादा ठंड है तो आप बच्चे को अंदर ले जाए जहाँ वो खुद गर्म महसूस कर सके, इस बात का ख्याल रखें कि बच्चे को आवश्यकतानुसार कपड़े पहनाएं ।
  • बच्चे को कार सीट पर बैठाते समय फ्लफी जैकेट बिलकुल न पहनाएं, क्योंकि इससे बच्चा अच्छी तरह साँस नहीं ले पाएगा। यदि कोई हादसा हो जाए तो उस दौरान बच्चे को साँस लेने में तकलीफ हो सकती है ।
  • यदि आपको बच्चे में शीतदंश (फ्रौस्टबाइट) के संकेत देखती हैं, तो जमे हुए क्षेत्रों पर यानि उसकी नाक, होंठ या कान पर एक गर्म कपड़ा रखने के बजाय, कुछ मिनट गीला कपड़ा रखें और फिर बच्चे को गर्म कंबल से ढक दें।
  • इस बात का ख्याल रखें कि बच्चे के कमरे को पूरी तरह से सुरक्षित रखें। रूम हीटर का उपयोग करते समय बहुत सावधान रहें, क्योंकि इससे आग लगने का खतरा रहता है और ये कार्बन मोनोऑक्साइड विषाक्तता का कारण बन सकते है।
  • नरम और हल्के पदार्थों से बने गद्दों का उपयोग करने से बचें, क्योंकि इससे न केवल आपके बच्चे की सेहत पर असर पड़ता, बल्कि इससे उन्हें ठंड लगने का खतरा रहता है जिससे वह बीमार पड़ सकते हैं ।
  • 2 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए गर्म पानी की बोतल या इलेक्ट्रिक कंबल का उपयोग करने के लिए मना किया जाता है, क्योंकि वयस्कों के विपरीत वे अपने शरीर के तापमान को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं।

बहुत तेज सर्दियों में बच्चे को गर्म रखना चुनौतीपूर्ण होता है, क्योंकि आपको बच्चे के शरीर के तापमान को संतुलित बनाए रखना बहुत जरूरी होता है खासकर रात के समय। आप बस इस बात का खयाल रखिए कि आप उन्हें सर्दियों से बचाने के लिए ठीक से कपड़े पहनाएं और उन्हें गर्म रखें। आपको इस लेख में बच्चे को सर्दियों में गर्म रखने के लिए टिप्स और ट्रिक्स बताए गए हैं जिसका पालन करके आप आपने बच्चे को सर्दियों के इस मौसम में बिलकुल सुरक्षित रख सकती हैं ।

यह भी पढ़ें:

शिशुओं में सर्दी और खांसी होने पर इन खाद्य पदार्थों से उनका बचाव करें !
शिशुओं में रूखी त्वचा