बच्चों में क्रैडल कैप का इलाज करने के लिए 15 आसान और प्रभावी प्राकृतिक उपचार

बच्चों में क्रैडल कैप होना

Last Updated On

क्रेडल कैप बच्चों की त्वचा से संबंधित एक आम समस्या है । यह सिर की त्वचा पर सफेद चकत्ते के रूप में दिखाई देता है, जो वयस्कों में होने वाली रूसी के समान है। यह कुछ बच्चों में शरीर के कुछ हिस्सों में बालों के झड़ने, खुजली, सूजन, त्वचा के लाल होने और यहाँ तक कि कुछ संक्रमणों से जुड़ा हो सकता है। चिकित्सीय भाषा में इंफेंटाइल सेबोर्रेहिक डर्मेटाइटिस के रूप में जानी जाने वाली, यह समस्या मुख्य रूप से त्वचा में तेल ग्रंथियों के अधिक स्राव के कारण होती है, जो मृत कोशिकाओं (डेड सेल) के साथ त्वचा के छिद्रों के बंद कर देती है। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं जैसे माँ के हार्मोन का बच्चे में चले जाना, मलसेजिया यीस्ट संक्रमण, स्वच्छता न होना और कुछ पोषण संबंधी कमियां आदि ।

बच्चों में क्रेडल कैप के 15 घरेलू उपचार

नीचे सूचीबद्ध कुछ प्रभावी घरेलू उपचार हैं जिन्हें आप अपने बच्चे में क्रैडल कैप के उपचार के लिए घर पर अपना सकती हैं। इन उपायों के इस्तेमाल के बाद आप किसी सौम्य शैम्पू से या डॉक्टर द्वारा बताए गए किसी औषधीय शैम्पू से शिशु के बालों को धो लें। 

1. नारियल का तेल

नारियल का तेल हमेशा से त्वचा के लिए एक एंटिफंगल और एंटीबैक्टीरियल के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। क्रैडल कैप से ग्रसित शिशुओं में होने वाले संक्रमण का मुकाबला करने में यह बहुत प्रभावी है। यह बहुत आसानी से उपलब्ध है और यह स्कैल्प के लिए एक अच्छे मॉइस्चराइजर के रूप में भी काम करता है। आप हाथ में थोड़ा सा नारियल का तेल लें और इसे  अपनी हथेलियों के बीच रगड़कर गर्म करें। अब, शिशु के सिर के प्रभावित क्षेत्रों पर तेल लगाएं और धीमे से मालिश करें। इसे लगभग बीस मिनट के लिए ऐसे ही रहने दें और फिर ब्रश की मदद से बच्चे के सिर की त्वचा को साफ करें । बीस मिनट के बाद, गुनगुने पानी और शैम्पू के साथ धो लें।

2. सेब का सिरका

सेब का सिरका सिर की त्वचा के सूखेपन को कम करने का काम करता है। इसे पतला करने के लिए आप इसमें पानी मिला सकती है, ऐसा करने एक लिए आप 2:1 के हिसाब से इसका प्रयोग कर सकती हैं जिसमें 2 भाग सेब का सिरका और 1 भाग पानी मिलाएं । इस मिश्रण को आप बच्चे के सिर की त्वचा पर लगाएं और लगभग पंद्रह मिनट के लिए छोड़ दें। गुनगुने पानी के साथ बालों को धो लें और इसे सप्ताह में दो बार दोहराएं । सुनिश्चित करें कि यह बच्चे की आँखों में बिलकुल न जाए।

3. वैसलीन

वैसलीन या कोई भी शुद्ध पेट्रोलियम जेली त्वचा की नमी को बनाए रखने में मदद करती है और इसे शुष्क होने से बचाती है। यह सिर से मृत त्वचा को हटाने में भी मदद करती है। एक चम्मच वैसलीन को लेकर इसे सिर की त्वचा पर लगा कर रात भर छोड़ दें। अगले दिन, इसे पानी से धो लें और पेट्रोलियम जेली निकालने के लिए बच्चे के अनुकूल किसी सौम्य शैम्पू का इस्तेमाल करें।

4. जैतून का तेल

जैतून के तेल में विटामिन ‘ई’ होने के कारण यह विशेष रूप से त्वचा के लिए सबसे अच्छे तेलों में से एक है। जैतून के तेल में मौजूद विटामिन ‘ई’ त्वचा को पोषण प्रदान करता है और इसे संक्रमण से बचाता है। आप थोड़ा सा जैतून का तेल लेकर इसे बच्चे के सिर पर लगाएं और मालिश करें। इसे कुछ घंटों या रात भर के लिए लगा रहने दें और फिर एक सौम्य शैम्पू से धो लें। यह बच्चों में क्रेडल कैप लिए सबसे अच्छे प्राकृतिक उपचारों में से एक है।

5. बेकिंग सोडा

देखा जाए तो बेकिंग सोडा बच्चे के लिए एक कठोर पदार्थ है, लेकिन यह अतिरिक्त तेल, जो छिद्रों को बंद करने के लिए जिम्मेदार होता है, उसे अवशोषित करके क्रैडल कैप का इलाज करने में मदद करता है। बेकिंग सोडा में पानी मिलाकर एक पतला मिश्रण तैयार कर लें और इसे बच्चे के सिर पर लगाएं, 15 मिनट हो जाने के बाद इसे धो लें। सोडा सिर पर पी.एच. को बेअसर करता हैं और सिर से अवांछित त्वचा को निकालना आसान बनाता है। हालांकि यह उपाय शिशुओं के मुकाबले बच्चों के लिए अधिक आजमाया जाता है।

6. टी ट्री तेल

टी ट्री तेल वयस्कों द्वारा उपयोग की जाने वाली एक लोकप्रिय मुँहासे-रोधी दवा है। इसी सिद्धांत का उपयोग करते हुए, तेल ग्रंथियों के अतिरिक्त स्राव को नियंत्रित करके बच्चों में क्रेडल कैप के लिए भी काम करता है। टी ट्री के तेल का उपयोग करने के लिए, इसे बादाम के तेल के साथ 1:10 के अनुपात में मिलाएं और धीरे-धीरे मालिश करके सिर पर इसका उपयोग करें। इसे लगभग बीस मिनट तक सोखने के लिए छोड़ दें और फिर बेबी शैम्पू से धो लें।

7. वनस्पति तेल

बाजार में उपलब्ध कोई भी वनस्पति या खनिज तेल क्रैडल कैप के लिए एक अच्छा उपाय है। इसका उपयोग बच्चे की त्वचा को आराम पहुँचाने और त्वचा पर जमी पपड़ी को साफ करने के लिए किया जाता है। इसे लगाकर दो घंटे छोड़ दें और फिर बेबी शैम्पू से धो लें।

8. शीया बटर

बाजार में उपलब्ध शीया बटर एक बेहतरीन मॉइस्चराइजर है और संक्रमित त्वचा को भी आराम पहुँचाता है। बच्चे के स्कैल्प पर शीया बटर ज्यादा मात्रा में लगाएं। इसे सिर पर लगा रहने दें और धीरे-धीरे मुलायम ब्रश का उपयोग करके त्वचा से पपड़ी को साफ करें। आप एक मुलायम कपड़े और पानी से इस क्रीम को धोएं ।

9. बेबी ब्रश

कई बेबी ब्रश बाजार में उपलब्ध है, जिनमें नरम ब्रिसल होते हैं। त्वचा से पपड़ी हटाने के लिए बेबी ब्रश का नियमित अंतराल पर उपयोग करें। यह न केवल स्वच्छता बनाए रखने में मदद करता है, बल्कि खोपड़ी में छिद्रों को और अधिक अवरुद्ध होने से रोकता है।

10. एवोकैडो का तेल

एवोकैडो अपने पोषण मूल्य के लिए प्रसिद्ध है और इस फल से निकले तेल को आवश्यक रसायनों से भरा हुआ माना जाता है, जो, प्रभावी रूप से फंगल संक्रमण से लड़ते हैं। टी ट्री के तेल के दस भाग में एवोकैडो तेल को मिलाकर इसे पतला करें और इस मिश्रण को सिर पर लगाएं । इसे लगभग पंद्रह मिनट के लिए ऐसे ही रहने दें फिर इसे किसी अच्छे बेबी शैम्पू से धो लें। ध्यान रखें कि इसे बच्चे के आँखों के साथ संपर्क में आने से बचाएं।

11. माँ का दूध

माँ के दूध में जादू है, जो सभी प्रकार के पोषक तत्व और एंटीबाडीज प्रदान करता है। यह सर्वविदित है कि यह नवजात शिशु की वृद्धि और इम्युनिटी के लिए महत्वपूर्ण है। हालांकि, इसका उपयोग लंबे समय तक क्रेडल कैप के लिए एक घरेलू उपाय के रूप में भी किया जाता रहा है। थोड़ी मात्रा में दूध का उपयोग संवेदनशील त्वचा को आराम देने और सिर पर ठंडक प्रदान करने के लिए किया जा सकता है। यह बच्चे की त्वचा के लिए हानिरहित है और त्वचा पर अधिक समय तक लगाया जा सकता है।

12. औषधीय बेबी शैम्पू

आप बच्चे के लिए एक सौम्य शिशु शैम्पू का इस्तेमाल कर सकती हैं जो दवा के तौर उपयोग किया जाता है, यह आपको दवा की दुकानों में आसानी से उपलब्ध होता है। आप इसे पतला करके अपने बच्चे के सिर को धोने के लिए प्रतिदिन या दो दिनों में एक बार उपयोग कर सकती हैं। शैम्पू करने से मृत कोशिकाएं हट जाती हैं और त्वचा को किसी भी फंगल संक्रमण से बचाती हैं।

13. बादाम तेल

बादाम का तेल एक और महत्वपूर्ण तेल है, जो विटामिन ‘ई’ से भरपूर होता है। यह आमतौर पर स्वस्थ त्वचा के लिए एक घरेलू उपचार के रूप में इस्तेमाल  किया जाता है और यह क्रेडल कैप के लिए भी बहुत अच्छा काम करता है। सिर के संक्रमित क्षेत्रों पर बादाम का तेल लगा कर मालिश करें। इसे थोड़ी देर ऐसे ही रखने के बाद आप गीले सूती कपड़े से पोंछ सकती हैं।

14. केलैन्डयुला

केलैन्डयुला एक जड़ी बूटी है, जो अपने एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुणों के लिए जानी जाती है। केलैन्डयुला क्रीम को संक्रमित स्थानों पर लगाया जा सकता है। यह पूरी तरह से सुरक्षित और एक हर्बल उपचार है, जो कि बच्चों में होने वाले क्रेडल कैप का इलाज करती है और यह बाजार में भी आसानी से उपलब्ध है। यद्यपि यह क्रैडल कैप पर अद्भुत काम करती है, बस इस उपाय का एकमात्र नकारात्मक पहलू यह है कि ये क्रीम थोड़ी महंगी होती है।

15. एलोवेरा

एलोवेरा शरीर पर एक शीतलन प्रभाव डालता है और त्वचा के संक्रमण के लिए उपयोग की जाने वाली कई दवाओं में इसे उपयोग किया जाता है। आप एलोवेरा के पौधे से इसका ताजा जेल निकाल कर बच्चे के सिर पर लगाएं । त्वचा की जलन को कम करने के लिए जेल को त्वचा पर कुछ देर तक छोड़ दें।

 

क्रैडल कैप शिशुओं में एक सामान्य समस्या है और इसे प्राकृतिक घरेलू उपचारों से आसानी से ठीक किया जा सकता है। यदि इसके बाद भी यह कम नहीं हो रहा हो, तो आप अपने बालरोग विशेषज्ञ से परामर्श कर सकती हैं। बस आपको इस बात का विशेष ध्यान रखना होगा कि ज्यादा से ज्यादा स्वच्छता बनाए रखें और ह्यूमिडिफायर का उपयोग करें, जो क्रेडल कैप की रोकथाम में बहुत मदद करता है।