बच्चों के लिए अनार – पोषण मान, स्वास्थ्य लाभ और सावधानियां

शिशुओं को अनार कैसे दें

Last Updated On

अनेक पौष्टिक फलों के बीच अक्सर मांएं सोच में पड़ जाती हैं कि वे अपने बच्चे को कौन सा फल दें, वैसे सभी फलों के अपने अपने गुण होते हैं। यहाँ हमने बच्चों के लिए एक बेहतरीन विकल्प दिया है और वह है ‘अनार’। हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे बच्चों के लिए अनार कितना फायदेमंद है, इसमें कौन से और कितने पोषक तत्व हैं, आप अपने बच्चे को अनार कब तक और कैसे खिला सकती हैं और इत्यादि इसके बारे में सभी जानकारियां दी हुई हैं। बच्चे को अनार खिलाने से संबंधित सभी चीजों को जानने के लिए यह लेख पूरा पढ़ें।

क्या आप अपने बच्चे को अनार दे सकती हैं?

जी हाँ, आप अपने बच्चे को 6 माह की आयु के बाद से अनार दे सकती हैं किंतु सिर्फ रस के रूप में। बढ़ती आयु के अनुसार बच्चे को अनार प्यूरी के रूप में दिया जा सकता है। पोषक तत्वों और औषधीय गुणों से भरपूर ‘अनार’, विटामिन ‘ए’ और ‘ई’, पोटेशियम, लौह तत्व, फाइबर, फोलिक एसिड और मिनरल का एक बेहतरीन स्रोत है। आप अपने बच्चे को संतुलित मात्रा में पोषण प्रदान करने के लिए उसके आहार में ‘अनार’ शामिल करना सुनिश्चित करें।

अनार के पोषण मान (न्यूट्रिशनल वैल्यू)

लाल रंग का यह फल सैकड़ों छोटे-छोटे बीजों के साथ विटामिन ‘सी’ व विटामिन ‘ए’ व विटामिन ‘इ’ और एंटी-ऑक्सीडेंट के गुणों से भरपूर होता है। इसमें पोटैशियम, फाइबर, लौह तत्व, फॉलिक एसिड, मिनरल व जल तत्व से परिपूर्ण विटामिन ‘बी’ कॉम्प्लेक्स की उच्च मात्रा भी होती है। स्वास्थ्य के कई लाभों को प्रदान करने वाला यह फल आपके बच्चे के लिए एक महत्वपूर्ण आहार है। अपने बच्चे को अनार देते समय यह सुनिश्चित करें कि आप उसे अनार का रस तब तक पिलाएं जब तक वह पूरी तरह से ठोस आहार का सेवन करने में सक्षम न हो जाए।

बच्चे को कोई भी फल देने से पहले उसकी विशेषताएं, पोषण और फायदे जानना अनिवार्य है। आप अपने बच्चे को अनार देने से पहले उसके पोषण मान के बारे में जानकारी नीचे दी हुई तालिका से प्राप्त कर सकती हैं।

पोषण तत्व पोषण मान प्रति 100 ग्राम पोषण तत्व पोषण मान प्रति 100 ग्राम
पानी 77.93 ग्राम ऊर्जा 83 किलो कैलोरी
प्रोटीन 1.67 ग्राम लिपिड 1.17 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट 18.70 ग्राम फाइबर 4 ग्राम
चीनी 13.67 ग्राम कैल्शियम 10 मिलीग्राम
लौह तत्व 0.30 मिलीग्राम मैगनीशियम 12 मिलीग्राम
फास्फोरस 36 मिलीग्राम पोटैशियम 0.236 ग्राम
सोडियम 3 मिलीग्राम जिंक 0.35 मिलीग्राम
विटामिन ‘सी’ 10.2 मिलीग्राम थायमिन 0.067 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन 0.053 मिलीग्राम नियासिन 0.293 मिलीग्राम
विटामिन ‘बी6’ 0.075 मिलीग्राम फोलेट 38 माइक्रोग्राम
विटामिन ‘ई’ 0.60 मिलीग्राम विटामिन ‘के’ 16.4 माइक्रोग्राम

बच्चों के लिए अनार के अद्भुत स्वास्थ्य लाभ

मैं अपने बच्चे को अनार कैसे दूँ? क्या मैं अपने बच्चे को अनार रस के रूप में दे सकती हूँ? क्या यह उसके लिए फायदेमंद होगा? हम जानते हैं अनार से संबंधित आपके पास अनेकों सवाल हैं और हम यहाँ आपको इससे संबंधित सभी सवालों का जवाब देने के लिए ही तो हैं। अनार में स्वास्थ्य संबंधी अनेकों गुण हैं जिन्हें आप अपने बच्चे को रस के रूप में दें या फल के रूप वह एक समान ही कार्य करते हैं। जैसा कि पहले भी बताया गया है बच्चे को निश्चित आयु में तब तक सादा रस (रूम तापमान में) दें जब तक वह ठोस आहार को ठीक से खाना और पचाना शुरू न कर दे। खैर, अनार अपने अनेक गुणों के कारण बच्चे के स्वास्थ्य लाभ के लिए हर रूप में बेहतर है।

1.पर्याप्त पोषण से परिपूर्ण

लाल रंग से भरे हुए छोटे-छोटे अनार के बीजों में मिनरल, विटामिन ‘सी’ व ‘ई’ के साथ-साथ लौह तत्व, फॉलेट एसिड, फाइबर, पोटैशियम, और विटामिन ‘बी’ काम्प्लेक्स उच्च मात्रा में मौजूद हैं जो शरीर से मुक्त कणों को खत्म करने में मदद करते हैं।

2. इम्युनिटी में वृद्धि

क्या आपके बच्चे को अक्सर सर्दी व खांसी हो जाती है? अनार में मौजूद गुण आपके बच्चे की इम्युनिटी को बढ़ाने और संक्रमण से निजात पाने में मदद करते हैं। नियमित रूप से अनार का सेवन करने से सर्दी व खांसी नहीं होती है।

3.एंटी-इंफ्लेमटरी गुणों से परिपूर्ण

अनार में मौजूद एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-इंफ्लेमटरी गुण और बायो-केमिकल एंजाइम बच्चों में बैक्टीरिया के संक्रमण को खत्म करके सूजन को कम करने में मदद करता है।

4. पाचन में सहायता करता है

पाचन तंत्र पूरी तरह से विकसित न होने के कारण आपके बच्चे को उल्टी हो सकती है। अनार आपके बच्चे की उल्टियों के लिए एक प्रभावी उपचार होने के साथ-साथ पेचिश, दस्त व कब्ज जैसी समस्याओं के लिए भी अत्यधिक लाभदायक है।

5. आंतों के कीड़े को खत्म करता है

आंतों (बिग या स्माल इंटेस्टाइन) में अक्सर कीड़े या पैरासाइट पोषित होते हैं और यह ज्यादातर बच्चों में पाया जाता है। अनार का रस बच्चों में इन कीड़ों को नष्ट करने के लिए अधिक प्रभावी है।

6. बुखार कम करता है

अनार फल या रस के रूप में सिर्फ बुखार को नियंत्रित ही नहीं करता बल्कि उन पोषक तत्वों की आपूर्ति भी करता है जो बुखार कम करने के लिए उपयुक्त होते हैं।

बच्चों के लिए अनार

एक शिशु को अनार देते समय इन बातों का खयाल रखें

बच्चों के लिए अनार बहुत फायदेमंद हैं किंतु विशेषकर बच्चों को यह फल देते समय कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक है। आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ आवश्यक बातों को;

  • सुनिश्चित करें कि जब तक आपका बच्चा ठोस आहार को पूरी तरह से पचाने में सक्षम न हो, आप उसे अनार के बीज न दें।
  • बच्चे की 6 माह की आयु के बाद से ही उसे अनार का रस या प्यूरी देना शुरू करें।
  • अनार का रस बनाने के लिए उसमें फल के सफेद भाग को न शामिल करें क्योंकि इससे रस खट्टा हो सकता है।
  • अनार खाने का सबसे अच्छा समय शाम का है, सोने से पहले इसे खाने से दाँतों में समस्या हो सकती है।
  • बच्चों को दिनभर में सिर्फ 1 कप अनार दें क्योंकि इसके अधिक सेवन से बच्चों को दस्त की समस्या हो सकती है।
  • अनार को किसी अन्य भोजन के साथ मिलाकर न दें। अपने बच्चे को अनार, प्यूरी या रस के रूप में दें।
  • बच्चे को अनार खिलाने के कुछ दिनों बाद तक उसकी शारीरिक प्रतिक्रिया पर नजर रखें।

बच्चों के लिए अनार का रस बनाने का तरीका

बच्चों के लिए अनार के विभिन्न व्यंजन नहीं हैं, उन्हें आप सिर्फ इसका रस या प्यूरी ही दे सकती हैं। बच्चों को अनार देने का सबसे अच्छा तरीका है इसे छील कर सिर्फ बीजों को ब्लेंडर में डालें और ब्लेंड कर लें। ब्लेंड होने के बाद इसके रस को एक कप में छानें और खयाल रहे इसमें ऊपर से चीनी न मिलाएं। अपने बच्चे को यह रस थोड़ी-थोड़ी मात्रा में देर सुबह, दोपहर या शाम के समय पिलाएं। आप अपने बच्चे को नया भोजन देते समय कुछ दिनों तक उसकी प्रतिक्रिया पर नजर रखें।

अनार अनेक पोषक तत्वों व मिनरल से परिपूर्ण होने के कारण, यह आपके बच्चे के लिए एक अद्भुत आहार है। अपने बच्चे के आहार में अनार को शामिल करके उसे एक नए स्वाद का अनुभव दें। निश्चित ही इसका स्वाद आपके बच्चे को पसंद आएगा और यह उसके लिए स्वास्थ्यवर्धक भी है।