करवा चौथ के लिए सरगी की थाली में इन चीजों को शामिल करें

करवा चौथ के लिए सरगी की थाली में इन चीजों को शामिल करें

हिंदू संस्कृति में व्रत और उपवास का बहुत महत्व है और करवा चौथ एक ऐसा ही त्योहार है जिसमें व्रत का किया जाता है। यह त्यौहार मुख्य रूप से उत्तर भारत में मनाया जाता है लेकिन देश भर में बहुत सारी महिलाएं ये व्रत रखती हैं। करवा चौथ का व्रत विवाहित महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र, स्वास्थ्य और सुखी जीवन के लिए रखती हैं, लेकिन जिन महिलाओं की अभी तक शादी नहीं हुई है वह भी अपने लिए अच्छे पति की कामना करते हुए यह उपवास रख सकती हैं। करवा चौथ का त्योहार हर साल हिंदू कैलेंडर के हिसाब से कृष्ण पक्ष के दौरान ‘कार्तिक मास’ में मनाया जाता है। इस व्रत में एक बहुत ही महत्वपूर्ण चीज है वह है ‘सरगी’। अगर आप यह जानना चाहती हैं कि सरगी की थाली क्या होती है और उसमें क्या क्या चीजें शामिल की जाती हैं तो इस लेख को पढ़ना जारी रखें। 

करवा चौथ में सरगी क्या है? 

करवा चौथ एक बहुत ही पवित्र व्रत है, इस व्रत के दौरान महिलाएं सूर्योदय से चंद्रोदय तक अपना निर्जला उपवास रखती हैं। हर महिला इस व्रत को रखने के लिए भोर से पहले उठकर सरगी की तैयारियां में लग जाती हैं। पंजाब और हिमाचल प्रदेश जैसे अधिकांश राज्यों में, सरगी का बहुत महत्व है। करवा चौथ के सरगी के लिए बाजार के भोजन का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। इसलिए सरगी को खुद ही तैयार किया जाता है। इस दौरान व्रत रखने वाली महिला को सास अपने हाथों से सरगी देती हैं। सरगी को बहू के लिए सास का प्यार और आशीर्वाद के प्रतिक के तौर पर माना जाता है। भोर से पहले यह सरगी की थाली यानी भोजन सास बहू को इसलिए देती है कि जिससे वह अपना अगले दिन का उपवास अच्छे से पूरा कर सके। इसे एक तरह से शुभकामनाओं के रूप में भी लिया जाता है। 

करवा चौथ में सरगी क्या है? 

करवा चौथ के दौरान कब सरगी खाएं

सरगी का सेवन सुबह, सूर्य उगने से पहले करना चाहिए। आम तौर पर करवा चौथ के दिन महिलाए सुबह 3 से 4 बजे तक उठ जाती हैं। नहाने के बाद महिलाएं अपनी सास से सरगी लेती हैं। अगर किसी महिला की सास किसी दूसरे शहर में रहती है तो वह सरगी को पार्सल कर के अपनी बहू के पास भेज सकती है। अगर आपकी सास जीवित नहीं है तो सरगी आपकी बड़ी ननद या भाभी भी दे सकती हैं। दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ सरगी को बाटना अच्छा माना जाता है। सरगी का सेवन करने के बाद करवा चौथ का उपवास शुरू हो जाता है जिसमें आप पानी भी नहीं पी सकती हैं।  

इस व्रत को निर्जला व्रत भी कहते हैं, क्योंकि जब तक चाँद न नजर आ जाए तब तक आप कुछ भी खा पी नहीं सकती हैं। ऐसे में सरगी ही एकमात्र भोजन है जिसका सेवन महिलाएं उपवास के पहले करती हैं। इसलिए सरगी का भोजन इतना पोषण युक्त होना चाहिए कि इसका सेवन करने के बाद आपको पूरे दिन थकान महसूस न हो। 

किस तरह के खाद्य पदार्थ सरगी का हिस्सा बन सकते हैं?

सरगी की करवा चौथ के उपवास में बहुत अहम भूमिका होती है। इस भोजन के जरिए आपको पूरे दिन इस मुश्किल उपवास को जारी रखने की ताकत मिलती है। यहाँ हम आपको कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बताने जा रहे हैं जो ट्रेडिशनल करवा चौथ की थाली में शामिल होते हैं:

1. सेवइयां

इसे फेनियां के नाम से भी जाना जाता है, यह पकवान दूध और चीनी से तैयार किया जाता है। सरगी की थाली का यह अहम हिस्सा है। ये बहुत ही न्यूट्रिशियस और स्वाद से भरा हुआ होता है।

सेवइयां

2. ताजे फल

सरगी की थाली में फलों को भी शमिल किया जाता है। आप केला, सेब आदि फलों को अपनी सरगी की थाली में शामिल कर सकती हैं। ताजे फलों में अधिक मात्रा में फाइबर और पानी मौजूद होता है। इससे महिला के शरीर में पानी की कमी नहीं होती है। 

ताजे फल

3. ड्राई फ्रूट्स 

सरगी की थाली में अखरोट और बादाम भी शामिल किए जाते हैं। ड्राई फ्रूट्स को इसलिए भी सरगी की थाली में शामिल किया जाता है, क्योंकि इन्हें शुभ माना जाता है और मेवो  सेवन करने से दिनभर ताकत बनी रहती है। इसका सेवन करने से शरीर को ऊर्जा मिलती है।

ड्राई फ्रूट्स 

4. हल्का और सादा भोजन

घर का बना हुआ सादा खाना जो पचाने में आसान हो आप उसे भी सरगी का हिस्सा बन सकती हैं। एक दो रोटियां और एक सादी सब्जी और हलवा आपको दिनभर के लिए एनर्जी प्रदान करने के लिए काफी है। किसी भी हैवी और तले हुए खाद्य पदार्थों का सेवन करने बचे क्योंकि इसका सेवन करने से आपको सुस्ती और निंद आ सकती है।

हल्का और सादा भोजन

5. मीठा

भारत में मीठे को शुभ माना जाता है। हमारी परंपरा के अनुसार किसी भी पवित्र या अहम काम को शुरू करने से पहले मिठाई खाई जाती है। इसलिए सरगी की थाली में मिठाई जरूर रखनी चाहिए। मिठाई में मौजूद चीनी दिन भर के लिए आपको आवश्यक ऊर्जा प्रदान करने में मदद करेगी, लेकिन ध्यान आप बहुत अधिक मात्रा में मीठे का सेवन करें वरना आपको कुछ समय बाद भूख का अहसास होने लगेगा।

जैसे की हमने आपको बताया कि सरगी का करवा चौथ के उपवास के दौरान कितनी अहम भूमिका होती है। इसी के साथ अब आपको यह भी पता है कि सरगी की थाली में किन किन चीजों को शामिल करना चाहिए। इसी के साथ हम आपके सफल उपवास की कामना करते हैं। आप सभी को करवा चौथ की हार्दिक शुभकामनाएं!

यह भी पढ़ें: करवा चौथ से जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां