माहवारी न आना और गर्भावस्था का जाँच परिणाम निगेटिव होने के कारण

माहवारी न आना और गर्भावस्था का जाँच परिणाम निगेटिव होने के कारण

Last Updated On

जब गर्भावस्था परीक्षण किट (घर पर उपयोग किए जाने वाले) का इजात नहीं हुआ था, तब महिलाओं के लिए यह जानना मुश्किल होता था कि वे गर्भवती हैं या नहीं। अब वे आसानी से घर पर ही जांच कर सकती हैं पर फिर भी, घर में किया जाने वाला गर्भावस्था परीक्षण महिलाओं के लिए कई प्रश्न पैदा कर सकता है, जैसे: गर्भावस्था का जाँच परिणाम निगेटिव आना पर माहवारी भी न आना।

ये मुद्दे महिलाओं के लिए बहुत चिंता का कारण बन सकते हैं, और यहाँ हम कुछ कारणों के बारे में चर्चा करेंगे कि किसी महिला के मासिक धर्म में देर क्यों होती है, भले ही उनका गर्भावस्था परीक्षण निगेटिव हो।

यदि आपके मासिक धर्म आने में देरी हो चुकी हो लेकिन गर्भावस्था परीक्षण निगेटिव हो तब भी क्या गर्भवती होने की संभावना होती है?

यह हो सकता है कि आप गर्भवती हों यदि आपके मासिक धर्म आने में देर हो चुकी हो और आपके घर पर गर्भावस्था के परीक्षण का परिणाम निगेटिव रहे, हालांकि इसकी संभावना नहीं के बराबर होती है। आमतौर पर, देर से होने वाले मासिकधर्म का कारण गर्भावस्था के अलावा कुछ और हो सकता है। अधिकांश गर्भावस्था परीक्षण अत्यधिक विश्वसनीय होते हैं।

मासिक धर्म न होना और गर्भावस्था का जाँच परिणाम निगेटिव होने के कारण

मासिकधर्म नहीं होने और गर्भावस्था का जाँच परिणाम निगेटिव होने के कारण जटिल हैं और आपके गर्भवती होने और आपके गर्भवती न होने, दोनों स्थितियों को सम्मिलित करते हैं।

निम्नलिखित सूची आपको मासिक धर्म ना होने और गर्भावस्था का जाँच परिणाम निगेटिव होना दोनों स्थितियों के कारण बताती है:

1. यदि आप गर्भवती हैं

यदि आप गर्भवती हैं तो आपके गर्भावस्था के जाँच परिणाम निगेटिव होने के ये कारण हो सकते हैं:

कम संवेदनशील गर्भावस्था जाँच

इसका मतलब यह है कि स्टोर से खरीदा गया गर्भावस्था परीक्षण केवल तब गर्भावस्था का पता लगाने में सक्षम होता है जब एच.सी.जी. का स्तर काफी अधिक होता है। इस तरह का परीक्षण शुरुआती स्तर पर गर्भावस्था का पता लगाने में बहुत सक्षम नहीं होगा।

परीक्षण करने से पहले बहुत सारे तरल पदार्थ पीना

यह मूत्र में एच.सी.जी. के स्तर को कम कर सकता है। इन मामलों में, अपने परीक्षण से पहले बहुत सारा तरल पदार्थ पीने से बचने की कोशिश करें। नमूना लेने से पहले कई घंटों तक मूत्र रोके रखना, या सुबह लिए गए नमूने का परीक्षण करना सही गर्भावस्था जाँच को सुनिश्चित कर सकता है।

गर्भावस्था में जुड़वां या तीन बच्चे होना

कुछ मामलों में, जुड़वां या तीन बच्चे होने से एच.सी.जी. का स्तर का बढ़ सकता है और इसकी वजह से घर पर गर्भावस्था की जाँच सही नहीं होगी। यह हाई डोज़ हुक प्रभावके नाम से जाना जाता है।

परीक्षण का सही तरीके से प्रयोग न करना

यह सुनिश्चित करें कि आप गर्भावस्था परीक्षण के निर्देशों को भलीभांति पढ़कर, विशेष रूप से प्रतिक्रिया समयके संबंध में निर्देशों का पालन कर रही हों।

अस्थानिक गर्भावस्था

इस प्रकार की गर्भावस्था बहुत कम होती है, लेकिन तब होती है जब निषेचित डिंब गर्भाशय के अलावा कहीं और (जैसे फैलोपियन ट्यूब) में प्रत्यारोपित होता है, यह प्रत्यारोपण एच.सी.जी. के उत्पादन में देरी और पेट दर्द का कारण बनता है।

दोषपूर्ण परीक्षण

बहुत ही दुर्लभ मामलों में, परीक्षण अभिकर्मक में एंटीएच.सी.जी. एंटीबॉडी हो सकते हैं जो एक महिला के एच.सी.जी. हार्मोन संरचना के साथ अच्छी तरह से नहीं बंधते हैं, जिसके परिणामस्वरूप विलंबित सकारात्मक परिणाम होता है।

बहुत जल्दी परीक्षण करना

यदि आप गर्भावस्था का परीक्षण बहुत जल्दी करती हैं, तो आपका शरीर अभी तक गर्भावस्था का पता लगाने के लिए पर्याप्त एच.सी.जी. हार्मोन का उत्पादन नहीं कर सकता है। आमतौर पर, एच.सी.जी. केवल गर्भाधान के दो सप्ताह बाद मूत्र में पाया जा सकता है।

गर्भावस्था शुरू होने के बहुत बाद परीक्षण करना

घर पर गर्भावस्था के परीक्षण आमतौर पर एच.सी.जी. के शुरुआती आण्विक रूपों का पता लगाने के लिए बनाए जाते हैं, और गर्भावस्था शुरू हुए बहुत दिन होने पर कभीकभी परीक्षण के परिणाम पता लगाने में समस्या हो सकती है।

गर्भावधि ट्रोफोब्लास्टिक रोग (जी.टी.डी.)

यह एक बहुत ही दुर्लभ बीमारी है जिसमें ट्यूमर कोशिकाओं की परत में (ट्रोफोब्लास्ट के रूप में जानी जाने वाली परत) भ्रूण को घेरता है।

2. यदि आप गर्भवती नहीं हैं

यदि आप गर्भवती नहीं हैं तो ये आपके गर्भावस्था परीक्षण के निगेटिव परिणाम के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं:

थायरॉयड समस्याएं

थायरॉइड की समस्या वाली महिलाएं अपने मासिक धर्म चक्र में असामान्यताएं अनुभव कर सकती हैं, जिसमें मासिक धर्म देर से होना या न होना शामिल हैं। हाइपरथायरॉइडिज्म के मामलों में अनियमित या हल्के मासिकधर्म हो सकते हैं और हाइपोथायरायडिज्म के मामलों में बहुत जल्दीजल्दी या भारी रक्तस्राव हो सकता है।

बहुत ज्यादा प्रोलैक्टिन

यह आमतौर पर स्तनपान कराने वाली माताओं में होता है। प्रोलैक्टिन एक हार्मोन है जो स्तन के दूध के उत्पादन को प्रेरित करता है, लेकिन यह साथ ही मासिक धर्म चक्र से जुड़े हार्मोन को दबा सकता है।

दवाएं

कुछ दवाएं जैसे इम्प्लांट, एंटीडिप्रेसेन्ट, थायरॉयड दवाएं, कीमोथेरपी दवाएं, और एंटीसाइकोटिक्स मासिक धर्म में देरी या असामान्य मासिक धर्म चक्र का कारण बन सकती हैं।

तनाव और चिंता

रोजमर्रा के जीवन में बहुत अधिक तनाव और चिंता हो सकती है, कुछ मामलों में यह देरी का कारण बन सकती है हालांकि बहुत कम मामलों में इसके कारण मासिक धर्म नहीं होता।

गर्भाशय विकार

गर्भाशय के शारीरिक दोष या समस्याएं जैसे सिस्ट, फाइब्रॉएड या पॉलीप्स के कारण देर से मासिक धर्म होना या अन्य मासिक धर्म संबंधी असामान्यताएं पैदा हो सकती हैं।

बहुत अधिक व्यायाम करना

व्यायाम अभ्यास या उच्चगतिविधि वाले व्यायाम प्रजनन प्रणाली पर तनाव डाल सकते हैं, जिससे देर से मासिक धर्म या प्रजनन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

असंतुलित हार्मोन

हार्मोनल असंतुलन के कारण देर से मासिक धर्म हो सकते हैं। उदाहरण के लिए, पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पी.सी..एस.) के कारण, महिलाओं को अक्सर अनियमित डिंबोत्सर्जन और देर से या छूटे हुए मासिक धर्म का अनुभव होता है।

प्रजनन उपचार

यदि आपको सामान्य रूप से कम अवधि का मासिक धर्म चक्र होता है, तो क्लोमिड जैसी प्रजनन दवाएं चक्र की अवधि बढ़ा सकती हैं। इसके अलावा, यदि आपने आई.वी.एफ., आई.यू.आई., एक इंजेक्शन चक्र या अन्य संबंधित उपचार कराया है, तो इनके कारण आपके मासिक धर्म मे देरी हो सकती है।

प्रजनन उपचार

मासिक धर्म में देरी के साथ गर्भावस्था परीक्षण के निगेटिव परिणामों को गंभीरता से कब लिया जाना चाहिए?

जब आपको थायरॉयड ग्रंथि संबंधी समस्याएं हों या जब आपका मस्तिष्क प्रोलैक्टिन के उच्च स्तर का उत्पादन करता है तो देर से होने वाले मासिक धर्म के साथ गर्भावस्था परीक्षण के निगेटिव परिणाम को गंभीरतापूर्वक लेना चाहिए। दोनों मामलों में, डॉक्टर आपको दवाएं दे सकते हैं, जो इन लक्षणों को कम करने में सहायक होंगी।

यदि, आपका मासिक धर्म देरी से और नीचे दिए हुए लक्षणों के साथ होता है, तो आपको तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए और / या आपातकालीन कक्ष में जाना चाहिए।

  • पेट / श्रोणि दर्द
  • उल्टी अथवा मितली
  • बेहोशी
  • कंधे का दर्द
  • अत्यधिक चक्कर आना

आपको क्या करना चाहिए जब आपको मासिक धर्म देर से होने के साथ गर्भावस्था परीक्षण का निगेटिव परिणाम होता है?

यदि आपको अक्सर एक से दो सप्ताह तक की देरी होती है और / या लगातार तीन बार से अधिक मासिक धर्म नहीं हुआ हो और साथ ही परीक्षण के परिणाम निगेटिव आएं तो आपको जाँच के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। ज्यादातर मामलों में, गर्भावस्था परीक्षण के परिणाम निगेटिव होने पर भी मासिक धर्म ना हो तो एक सरल स्पष्टीकरण दिया जा सकता है।

अक्सर मासिक धर्म ना होने पर भी गर्भावस्था के लक्षणों का न होना और गर्भावस्था परीक्षण के परिणाम निगेटिव हो तब डॉक्टर को दिखाने की आवश्यकता नहीं होती है। हालांकि, समस्या का निदान करते समय, कभीकभी आपके दैनिक जीवन में मासिक धर्म में देर होने के कारण का पता लागाना मुश्किल हो सकता है, जिसके लिए डॉक्टर को दिखाना उपयोगी होगा।

ज्यादा पुष्ट तथ्य यह है कि आपके मासिक धर्म में देर हुई है बजाय गर्भावस्था परीक्षण का परिणाम निगेटिव होने के। जिसका अर्थ है कि गर्भावस्था परीक्षण का परिणाम निगेटिव होने के साथ मासिक धर्म में देर या न होने का मतलब अक्सर होता है कि आप गर्भवती नहीं हैं, हालांकि हमेशा ही ऐसा नहीं होता। मासिक धर्म में देरी या न होने के सामान्य कारणों में चिंता और तनाव, प्रजनन उपचार, असंतुलित हार्मोन और दवा और थायराइड की समस्याएं शामिल हैं। कुछ मामलों में जैसे विलंबित पॉज़िटिव परिणाम, गर्भावस्था परीक्षण गलत तरीके से प्रयोग करना, दोषपूर्ण परीक्षण या कमसंवेदनशील परीक्षण या अन्य दुर्लभ कारण हो सकते हैं जब आप गर्भवती हों और परीक्षणके परिणाम गलत हों। यदि आपके मासिक धर्म में एक या दो सप्ताह से अधिक की देर हो रही है, तो आपको अपने डॉक्टर से बात करने की सलाह दी जाती है।