गर्भधारण करने की योजना बना रही हैं? – जानिए गर्भवती होने के लिए सर्वश्रेष्ठ आयु क्या है

गर्भधारण करने की योजना बना रही हैं? – जानिए गर्भवती होने के लिए सर्वश्रेष्ठ आयु क्या है

Last Updated On

मनुष्य अपने जीवन के किसी भी पड़ाव में मातापिता बनने के बारे में सोच सकते हैं, और इसका मतलब है अपने अलगअलग उम्र में। तो क्या गर्भावस्था की सही उम्रजैसी कोई चीज होती है? तथ्य यह है कि हर उम्र में बच्चे होने के फायदे और नुकसान होते हैं। अन्य कारक भी हैं जो परिवार शुरू करने के लिए सही समय चुनने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, जैसे आर्थिक स्थिति, समाज जहाँ आप रहते हैं और आप दोनों के व्यवसाय की संभावनाएं। इन सभी कारकों के विषय में गहन जानकारी प्राप्त करके आपको यह निर्णय करने में सहायता मिलेगी कि आपके गर्भधारण करने की सर्वाधिक उपयुक्त आयु कौन सी है।

गर्भधारण करने के लिए सर्वाधिक उपयुक्त आयु क्या है?

यह प्रश्न पूछे जानेवाले प्रत्येक व्यक्ति के आधार पर इसका उत्तर अलगअलग होगा। सबसे सहीकी परिभाषा प्रत्येक व्यक्ति की परिस्थितियों के अनुसार भी अलग हो सकती है। लेकिन, कुल मिलाकर, अधिकांश सर्वेक्षणों और अध्ययनों से संकेत मिलता है कि गर्भवती होने के लिए उपयुक्त आयु 20 से 35 के बीच की है। हालांकि, बच्चा पैदा करने की उम्र की सर्वोत्तम अवधि, एक बच्चे को पालने की सर्वोत्तम उम्र से भिन्न होती है। बच्चे को पालने की आयु 30 की उम्र के मध्यांतर में सबसे अच्छी मानी जाती है।

क्या गर्भधारण के लिए उम्र मायने रखता है?

20-35 की आयु गर्भधारण करने के लिए सही उम्र क्यों मानी जाती है, इसका कारण यह है कि इस आयु वर्ग की महिलाएं गर्भावस्था के लिए शारीरिक रूप से बेहतर तैयार होती हैं। वे आसानी से गर्भधारण कर पाती हैं और उनको गर्भावस्था की जटिलताएं, जैसे प्रीएक्लेमप्सिया, अस्थानिक गर्भावस्था और मृत बच्चा होने की संभावनाएं कम होती हैं। यह वो अवधि भी है जब महिलाओं में डिंब अधिक स्वस्थ होते हैं। जननक्षम अवधि होने के कारण यह कई बच्चों की इच्छा रखने वालों के लिए पूर्णतः उपयुक्त समय है क्योंकि दो बच्चों में अंतर रखने के लिए उनके पास पर्याप्त समय होता है।

विभिन्न आयु में गर्भावस्था

जबकि कुछ लोगों के लिए, 20-25 वर्ष की आयु संतानोत्पत्ति के लिए उपयुक्त हो सकती है, अन्य लोग संभवतः 30 वर्ष की आयु से पहले संतानोत्पत्ति के बारे में सोच भी नहीं सकते हैं। विभिन्न उम्र में गर्भावस्था के फायदे और नुकसान कुछ इस प्रकारहैं:

1. 20-25 वर्ष की आयु के दौरान गर्भावस्था

20-25 वर्ष की आयु के दौरान गर्भावस्था

इस उम्र में महिलाओं की अपनी प्रजनन क्षमता सबसे अधिक होती हैं और इस समय ही गर्भधारण करने का सबसे अच्छा मौका होता है। जीवन के इस चरण में, आपके शरीर में अधिक संख्या में उच्च गुणवत्तायुक्त डिंब मौजूद रहते हैं और अपेक्षाकृत गर्भावस्था में कम खतरा होता है व एक स्वस्थ बच्चे के जन्म की संभावना सबसे अधिक होती है।

  • इस चरण में आपको कोई स्थायी चिकित्सीय समस्या होने की संभावना कम होती है और आपके पास गर्भावस्था को सफलतापूर्वक पूर्ण करने के लिए पर्याप्त ऊर्जा होती है। इस समय गर्भपात की संभावना भी न्यूनतम होती है और बच्चे भी प्रायः गुणसूत्रसंबंधी समस्याओं के शिकार नहीं होते हैं।
  • आपके लिए इस उम्र में अपने शरीर की गर्भावस्था पूर्व स्थिति को तेज़ी से पुनः प्राप्त करना सरल होता है क्योंकि आपकी कमर को उपयुक्त आकार में रखने वाले ऊतकों में उम्र या वज़न बढ़ने के कारण खिंचाव नहीं आता है।
  • हालांकि इसका विचार करें कि यह वो समय भी होता है जब आप भावनात्मक रूप से गर्भवस्था की चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार नहीं हैं।

2. 26-34 वर्ष की आयु के दौरान गर्भावस्था

26-34 वर्ष की आयु के दौरान गर्भावस्था

26 से 29 की उम्र में गर्भावस्था विशेष रूप से उन महिलाओं के लिए एक अच्छा समय माना जाता है जिनके पास पर्याप्त पोषण और अच्छे स्वास्थ्य के साथ एक स्वस्थ जीवनशैली होती है। इस समय के दौरान, गर्भावस्था की कठिनाइयों का सामना करने के लिए आप शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार रहेंगी।

  • 30 के दशक का प्रारंभिक समय कामकाजी महिलाओं के बीच गर्भावस्था के लिए पसंदीदा समय के रूप में माना जाता है। वास्तव में, यह देखा गया है कि जिन महिलाओं ने किशोरावस्था में बच्चे को जन्म दिया है, उनको 30 के दशक की आयु में शिशु को जन्म देने वाली महिलाओं की अपेक्षा बाद में अधिक स्वास्थ्य समस्याएं उत्पन्न हुई हैं।
  • इसका अत्यधिक खयाल रखें कि 30 वर्ष की आयु पूर्ण करते ही हर महीने गर्भावस्था की संभावना 20% के आसपास रहने के साथ ही प्रजनन क्षमता में गिरावट आती है और 30 से 34 वर्ष की आयु में महिलाएं शल्यक्रियात्मक प्रसव दर के मुकाबले 20 के दशक की आयु वाली महिलाओं से दोगुनी होती हैं।
  • गर्भपात का दर 15% है जबकि 35 वर्ष की आयु तक डाउन सिंड्रोम के खतरे में कोई महत्वपूर्ण परिवर्तन नहीं हुआ है।
  • कई दंपति के लिए, यह एक ऐसा समय होता है जब उनके संबंध सर्वाधिक स्थिर होते हैं जो मातापिता बनने के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को सुनिश्चित करता है।

3. 35-40 वर्ष की आयु के दौरान गर्भावस्था

35-40 वर्ष की आयु के दौरान गर्भावस्था

जब आप 40 वर्ष की आयु की ओर बढ़ती हैं तो आप का प्रजनन स्तर कम होता जाता है और गर्भधारण करना अत्यधिक कठिन हो सकता है।

  • गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्तचाप और गर्भकालीन मधुमेह जैसे रोग होने की संभावना भी अधिक होती है।
  • गर्भपात का खतरा चार गर्भधारण में से एक का होता है जिसके साथ गुणसूत्रसंबंधी असामान्यताओं का खतरा भी माँ की आयु के साथ बढ़ता है।
  • यदि माँ की उम्र ज़्यादा है तो जुड़वां बच्चों के गर्भधारण की संभावनाएं भी बढ़ जाती हैं क्योंकि बढ़ती उम्र के साथ हॉर्मोनल बदलावों के परिणामस्वरूप डिंबोत्सर्ग के दौरान कई डिंब निकल सकते हैं।

4. 40 वर्ष से ज़्यादा की आयु के दौरान गर्भावस्था

40 वर्ष से ज़्यादा की आयु के दौरान गर्भावस्था

40 और उससे अधिक उम्र की महिलाओं के गर्भवती होने की संख्या कुछ दशक पहले की तुलना में काफी बढ़ गई है। हालांकि, गर्भवती होने की संभावना 40 के बाद हर महीने 5 प्रतिशत तक कम हो जाती है।

  • आंकड़े बताते हैं कि 40 की आयु से ज़्यादा की महिलाओं में से एक तिहाई महिलाएं बांझपन का सामना करती हैं।
  • उनमें गर्भावधि मधुमेह होना या मधुमेह पहले से मौजूद होने की संभावना भी छह गुना अधिक बढ़ जाती है।
  • यदि आप 40 वर्ष की आयु से ज़्यादा की उम्र में गर्भवती हैं तो अतिरिक्त परिक्षण और गर्भावस्था में नज़दीकी से निगरानी रखने की आवश्यकता हो सकती है।
  • इसका सकारात्मक पहलू यह है कि आप इस उम्र में आर्थिक रूप से सुरक्षित और समय प्रबंधन में अनुभवी होने की संभावना रखती हैं। चाहे आप एक उच्च स्तर व्यावसायिक महिला हों, तो भी आप एक ऐसे स्तर पर भी हो सकती हैं जहाँ आप अपने बच्चे के साथ समय बिताने के लिए कुछ समय की छुट्टी ले सकती हैं या अपने काम की समयसारणी में परिवर्तन का चयन भी कर सकती हैं।

गर्भवती होने से पहले, गर्भावस्था के दौरान अच्छा स्वास्थ्य होना अधिक उम्र से ज़्यादा महत्वपूर्ण है। एक संतुलित आहार, नियमित व्यायाम और प्रसव के पूर्व उचित देखभाल से आप गर्भावस्था को सरल बना सकती हैं और स्वस्थ बच्चे को जन्म दे सकती हैं, भले ही आपकी उम्र कितनी भी हो।

पुरुष की आयु

एक दंपति के बच्चे की योजना में पुरुषों की प्रजनन क्षमता भी अत्यधिक महत्वपूर्ण कारक है। 41 और 45 की उम्र के बीच एक पुरुष की प्रजनन क्षमता हर साल सात प्रतिशत तक कम हो जाती है और उसके बाद प्रजनन क्षमता कम होने की गति बढ़ जाती है। यदि पिता की आयु 45 वर्ष से अधिक है तो माँ की आयु चाहे कुछ भी हो, गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है। अधिक आयु वाले पुरुषों से जन्मे बच्चे में स्वलीनता, मानसिक स्वास्थ्य की समस्याएं और सीखने की कठिनाइयाँ होने की संभावना भी बढ़ जाती है।

  • अध्ययनों से संकेत मिलता है कि जहाँ एक बच्चा के जन्म के लिए 25 से कम उम्र के पुरुष को लगभग चार से पाँच महीने लगते हैं, वहीं 40 से अधिक उम्र के पुरुष को दो साल तक का समय लग सकता है भले ही महिला की उम्र 25 वर्ष से कम हो।
  • वीर्य की मात्रा और शुक्राणु की गतिशीलता पुरुषों की उम्र बढ़ने के साथ कम होती जाती है।
  • टेस्टोस्टेरोन का स्तर 40 वर्ष की आयु के बाद गिरने लगता है, इसका मतलब है, मंद कामेच्छा जो यौनक्रिया को मुश्किल बना सकती है।
  • पुरुष प्रजनन क्षमता बीमारियों से प्रभावित हो सकती है और आयु बढ़ने के साथ बीमारियों के उभरने की संभावना अधिक हो जाती है। कुछ दवाएं, जैसे स्टेरॉयड, अवसादरोधी, कवकरोधी दवाएं और मूत्रवर्धक दवाएं भी एक पुरुष की प्रजनन क्षमता पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकती हैं।

यह असंभव नहीं है कि अधिक उम्र के पुरुष, एक बच्चे का पिता बन सकते हैं। लेकिन वास्तविक रूप से, महिलाओं की तरह पुरुषों में भी प्रजनन क्षमता उम्र के साथ कम हो जाती है जो प्राकृतिक गर्भाधान को और अधिक कठिन बना देता है।

आपके जीवन में किसी विशेष चरण में आपके गर्भवती होने या बच्चे को जन्म देने के कारण भिन्न हो सकते हैं। लेकिन अधिक महत्वपूर्ण यह है कि आपने जो भी चयन किया है, आप उसके साथ प्रसन्न रहें और बच्चों को पालनेपोसने की खुशियों व चुनौतियों को साथसाथ स्वीकार करेंरें।