गर्भावस्था के दौरान अंडे का सेवन करना

गर्भावस्था के दौरान अंडे का सेवन करना

Last Updated On

गर्भावस्था के दौरान माँ के आहार का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है क्योंकि इससे शिशु के विकास पर सीधा प्रभाव पड़ता है। माँ के आहार में पौष्टिक भोजन शामिल करना माँ और बच्चे दोनों की सेहत के लिए महत्वपूर्ण है। किसी भी खाद्य पदार्थ को दैनिक आहार में शामिल करने से पहले, उनके लाभों को समझना आवश्यक है जो शरीर को इससे प्राप्त होंगे और उसके दुष्प्रभाव को भी जानना चाहिए।

क्या गर्भवती महिलाएं अंडे खा सकती हैं?

क्या गर्भावस्था के दौरान अंडे खाना ठीक है?”, बहुत सी गर्भवती महिलाओं का यह सवाल हो सकता हैं। हालांकि इस सवाल का जवाब हाँ है, लेकिन कुछ सावधानियां हैं जो अंडे का सेवन करने से पहले लेनी चाहिए।

अंडा एक सुपर फूड है क्योंकि यह खनिज, विटामिन और अच्छे वसा से भरा होता है। गर्भावस्था में अंडे खाने से ये सभी आवश्यक पोषक तत्व माँ और बच्चे दोनों को मिलते है।

कच्चे या बिना उबले अंडे खाने के बजाय, गर्भावस्था के दौरान उबले अंडे खाने की सलाह दी जाती है क्योंकि इससे अंडे में मौजूद कोई भी हानिकारक बैक्टीरिया खत्म हो जाता है। अंडे खरीदते समय कुछ सावधानियां बरतें जैसे कि पैकेजिंग की तारीख की जांच करके उसकी ताजगी सुनिश्चित करें और केवल उन जगहों से अंडे खरीदें जो साफ हैं जिससे संदूषण की संभावना कम हो जाएगी।

अंडे खाने के फायदे

अंडे शक्ति से भरे खाद्य पदार्थ में से एक है और माँ के लिए आवश्यक पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्रोत हैं। नीचे सूचीबद्ध में गर्भावस्था के दौरान अंडे खाने के महत्व पर प्रकाश डालते हैं:

1. अधिक प्रोटीन की मात्रा

प्रोटीन कोशिका के निर्माण और बच्चे के विकास में सहायता करते हैं। उचित मात्रा में अंडे खाने से बच्चे को प्रोटीन की आवश्यक मात्रा मिलेगी जिससे उसके सेहतमंद विकास में वृद्धि होगी।

2. मस्तिष्क का विकास

अंडे में कोलीन होता है जो मस्तिष्क के बढ़ाने व और समग्र विकास के लिए महत्वपूर्ण होता है। यह बच्चे को स्पाइना बिफिडा और एनसेफली जैसी बीमारियों से दूर रखता है।

 मस्तिष्क का विकास

3. कैलोरी ग्रहण करता है

प्रत्येक अंडे में लगभग 70 कैलोरी होती है और यह बच्चे और माँ की दैनिक कैलोरी की आवश्यकता को पूरा करने में मदद करता है।

4. कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करता है

अंडे का सेवन शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को संतुलित करने में मदद करता है। महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान अंडे की जर्दी खाने से बचना चाहिए, अगर उनमें पहले से ही कोलेस्ट्रॉल संबंधी समस्या हो इसके अलावा, अंडे विटामिन डी, विटामिन बी 12 और विटामिन बी 2 जैसे आवश्यक विटामिन भी प्रदान करते हैं।

गर्भावस्था के दौरान अंडे खाने से जुड़े जोखिम

जहां पर अंडा गर्भवती महिलाओं के लिए पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्रोत है, वहीं इसके साथ जुड़े जोखिम भी हैं, खासकर अगर इसका सही तरीके से सेवन नहीं किया जाए तो।

1. साल्मोनेला विषाक्तता

कच्चे, बिना पके हुए अंडे को खाने से साल्मोनेला नामक बीमारी पैदा करने वाले बैक्टीरिया पनप सकते हैं। यह बैक्टीरिया फूडपॉइज़निंग (खाद्यविषायण) का कारण बन सकता है जिससे उल्टी, दस्त, तेज़ बुखार, सिरदर्द, पेट में दर्द और निर्जलीकरण हो सकता है। कुछ मामलों में, ये लक्षण इतने गंभीर हो सकते हैं कि समय से पहले ही प्रसव पीड़ा या गर्भपात का कारण भी बन सकते हैं। इस स्थिति को साल्मोनेला विषाक्तता के रूप में जाना जाता है।

2. अन्य जोखिम

अगर गर्भवती महिला के पहले से ही उच्च कोलेस्ट्रॉल के स्तर हों तो अंडे की जर्दी का सेवन परेशानी का कारण बन सकता है। अंडे के सेवन करने से त्वचा पर चकत्ते, नाक बंद होना, पित्ती जैसी एलर्जी और अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं।

एक गर्भवती महिला कितने अंडे खा सकती है?

सेवन करने के लिए बताए गए अंडे की मात्रा आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर के आधार पर प्रतिदिन एक से दो अंडे तक होती है। प्रत्येक अंडे में लगभग 185 मिलीग्राम कोलेस्ट्रॉल होता है और शरीर को रोजाना लगभग 300 मिलीग्राम की आवश्यकता होती है। अगर आपका कोलेस्ट्रॉल उच्च है तो हर रोज़ अंडे खाने से समस्याएं बढ़ सकती हैं और ऐसी स्थिति में इनका सेवन नहीं करना चाहिए।

प्रतिदिन सेवन किए जाने वाले अंडे की संख्या आपके आहार में बचे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा के आधार पर होनी चाहिए। सुरक्षा के तौर पर , अंडे की जर्दी का सेवन महीने में बीस अंडे से कम त होनी चाहिए। ज्यादातर डॉक्टर सलाह देते हैं कि गर्भवती महिलाएं केवल अंडे के सफेद हिस्से का सेवन करें।

सही अंडे का चयन कैसे करें?

अंडे खरीदते समय, यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता होती है कि अंडा एक स्वच्छ स्थान पर रखा हुआ हो और उससे संदूषण का खतरा नहीं हो। अधिकांश देशों में अंडों पर एक प्रमाणन चिह्न होता है जो उन्हें उपभोग और किसी भी बैक्टीरिया से मुक्त होने के लिए प्रमाणित करता है।

यहां तक कि अन्य खाद्य पदार्थों को खरीदते समय, उन वस्तुओं से बचना चाहिए जो अंडो से बनी होती हैं क्योंकि इनमे डाले अंडों के स्रोत की पुष्टि नहीं की जा सकती है।

अंडे को स्टोर करने का सही तरीका क्या है?

  • अंडे को साल्मोनेला बैक्टीरिया से मुक्त रखने के लिए, उन्हें सही तरीके से स्टोर करना महत्वपूर्ण है।
  • अंडे को हमेशा फ्रिज में रखें क्योंकि इससे उनके खराब होने की संभावना कम हो जाती है।
  • अंडों को अन्य खाद्य पदार्थों से दूर रखें और जिस ट्रे या बॉक्स में उन्हें लाया गया था उससे निकाल कर दूसरी ट्रे या बॉक्स में रखे।
  • 3 दिनों के अंदर उबले अंडे का सेवन कर लेना चाहिए।
  • ऐसे अंडे का उपयोग करने से बचें जिनके अंड कवच फटे हों क्योंकि उनमें गंदगी और बैक्टीरिया हो सकते हैं।

सुनिश्चित करें कि अंडों ने अपने शेल्फ लाइफ को पार नहीं किया हो।

गर्भवती महिलाओं के लिए अंडे के व्यंजन बनाना

गर्भवती महिलाओं के लिए अंडे के व्यंजन वैसे ही तैयार किए जाते हैं जैसे आम लोगों के लिए यहां यह सुनिश्चित करना है ज़रूरी है कि साल्मोनेला बैक्टीरिया खाना पकाने की प्रक्रिया में मर जाए:

 गर्भवती महिलाओं के लिए अंडे के व्यंजन बनाना

अंडा पकाने के लिए, एक अंडा लें और इसे लगभग पांच से सात मिनट तक उबालें।

आप अंडे को दोनों तरफ से तब तक फ्राई कर सकते हैं जब तक कि सफेद रंग पारभासी न रहे। जर्दी पूरी तरह से ठोस हो जानी चाहिए। इस प्रक्रिया में लगभग पांच मिनट लगते हैं।

खाना खाते समय बाहर से खरीदे खाने में विशेष सावधानी बरतनी चाहिए जिसमें अंडे शामिल हों।

अंडे कितने समय तक खाने लायक रहते हैं?

जिस दिन अंडा दिया गया था, उस दिन से लेकर अट्ठाईस दिनों के अंदर अंडा खा सकते है।

उबले अंडे को उबालने के 2-3 दिनों के भीतर खा लेना चाहिए और ऐसा भोजन जिसमें अंडा हो उसका तुरंत सेवन करना चाहिए।

अंडे के सेवन के माध्यम से बैक्टीरियल संक्रमण से बचने के सुझाव

  • अंडों को अच्छे से धोएं और उसे साफ़ हाथों से पकड़े ।
  • कच्चे अंडे को अन्य बर्तनों या खाद्य पदार्थों पर न रखें।
  • ऐसे बर्तनों का उपयोग करें जिन्हें गर्म, साबुन के पानी से साफ किया गया हो।
  • अंडे को अन्य खाद्य पदार्थों के साथ न रखें, भले ही वे टूटे हों या नहीं।
  • खाना पकाने के बाद बर्तन, परिवेश / किचन प्लेटफॉर्म को गर्म, साबुन के पानी से अच्छी तरह साफ करें।

निष्कर्ष

प्रोटीन का एक आसानी से उपलब्ध स्रोत, अंडा गर्भावस्था में आहार के लिए एक बढ़िया तरीका हैं। उन्हे अपने भोजन में शामिल करें, उपरोक्त तथ्यों को ध्यान में रखते हुए और उनके पौष्टिक मूल्य का अधिकतम लाभ उठाएं।