गर्भावस्था के दौरान पानी जैसा स्राव

वजाइनल डिस्चार्ज: प्रेगनेंसी में योनि से पानी जैसा स्राव (ल्यूकोरिया)

In this Article

Last Updated On

महिलाओं की योनि से पानी जैसा स्राव होना, जिसे योनि प्रदर या वजाइनल डिस्चार्ज भी कहते हैं, एक आम बात है । अक्सर महिलाओं में इसकी शुरुआत यौवन के प्रारम्भिक दिनों में होती है जो रजोनिवृत्ति के अंत तक रहती है। इस स्राव की मात्रा प्रत्येक महिला में भिन्न-भिन्न होती है। आमतौर पर मासिक धर्म के दौरान इसकी मात्रा बढ़ जाती है। इस तरह, पानी जैसा स्राव एक स्वस्थ योनि का सूचक है क्योंकि यह बैक्टीरिया के निष्कासन में मदद करता है, तथा योनि क्षेत्र को संक्रमण से मुक्त रखता है। हालांकि, कभी-कभी, गर्भावस्था के दौरान योनि-स्राव खतरनाक भी हो सकता है। पानी जैसे स्राव के बारे में अधिक जानकारी के लिए पढ़ें। इस बारे में भी जानें कि यह क्या है और ऐसा क्यों होता है।

गर्भावस्था में होने वाला पानी जैसा स्राव क्या है

योनि से निकलने वाले द्रव को योनि-स्राव के रूप में जाना जाता है। योनि-स्राव आमतौर पर सफेद या स्पष्ट होता है। यदि आप गर्भवती हैं, तो आप पानी जैसे स्राव को देख सकती हैं, लेकिन इसमें चिंता की कोई बात नहीं है। आमतौर पर गर्भावस्था के दौरान पानी जैसा स्राव, गर्भावस्था के चरण पर निर्भर करता है। गर्भावस्था के चरण के आधार पर, पानी जैसे स्राव की विशेषताएं और निहितार्थ भिन्न-भिन्न हो सकते हैं। यहाँ उसी की एक वर्गीकृत सूची दी गई है:

1. प्रारंभिक गर्भावस्था में पानी जैसा स्राव

प्रारंभिक गर्भावस्था या पहली तिमाही के दौरान स्पष्ट स्राव में थोड़ी तीखी गंध होती है। यह मासिक धर्म चक्र के चिपचिपे स्राव से मिलता जुलता होता है और इससे आपके अंतः वस्त्रों में दाग भी लग सकता है। गर्भवती महिलाओं में एस्ट्रोजन हार्मोन के स्तर में अचानक वृद्धि होने के कारण, यह पानी जैसा स्राव दिखाई देता है जो योनि में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है जिससे अन्य प्रकार के स्रावों में भी वृद्धि होती है।

2. दूसरी तिमाही में पानी जैसा स्राव

दूसरी तिमाही में योनि स्राव का रंग दूधिया सफेद होता है और यह गाढ़ा होता है। यह पहली तिमाही के स्राव की तुलना में बहुत अधिक बार होता है, लेकिन यह पूरी तरह से सामान्य है, क्योंकि ऐसा गर्भवती महिलाओं के शरीर में अनेक हार्मोन के प्रवाह की वजह से होता है। हालांकि, यदि आप अपनी दूसरी तिमाही के दौरान, रक्त-स्राव या बदबूदार स्राव महसूस करती हैं, तो यह किसी समस्या का संकेत भी हो सकता है। ऐसे मामले में, आपको तुरंत डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

3. तीसरी तिमाही में पानी जैसा स्राव

इस समय, रंग, गंध, आवृत्ति, मात्रा और रक्त की उपस्थिति के आधार पर, स्राव कई रूपों में खुद को प्रदर्शित कर सकता है। प्रसव की नियत तारीख के आसपास अगर गर्भवती महिला को भारी मात्रा में प्रवाह होता है तो उसे तय समय से पहले ही प्रसव पीड़ा शुरू हो सकती है या पानी की थैली फट भी सकती है।

क्या गर्भावस्था के दौरान पानी जैसा स्राव होना सामान्य है

गर्भवती महिला की योनि से पानी जैसा स्राव होना काफी आम है। जैसे-जैसे गर्भावस्था आगे बढ़ेगी यह स्राव और भी अधिक होगा। पानी जैसे सामान्य और असामान्य स्राव के बारे में विस्तार से जानने के लिए पढ़ें।

1. सामान्य पानी जैसा स्राव

पानी जैसे स्राव के अधिकांश उदाहरण पूरी तरह से सामान्य ही होते हैं। यदि आपको निम्नलिखित अनुभव हो तो चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं है:

  • ल्यूकोरिया / श्वेत प्रदर

जैसा कि उल्लेख किया गया है, यह आमतौर पर पाया जाने वाला स्राव है। यह पतला, स्पष्ट और पानी जैसा होता है। इसे गर्भावस्था के शुरुआती लक्षणों में से एक माना जा सकता है क्योंकि यह गर्भधारण की शुरुआत में दिखाई देता है।

  • रक्तरंजित

गर्भावस्था के अंतिम सप्ताह में होने वाले स्राव में रक्त और बलगम (म्यूकस) हो सकते हैं, जिसका अर्थ है कि आप आने वाले कुछ दिनों में प्रसव के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। म्यूकस उस अवरोधक का हिस्सा है जो आपकी गर्भाशय ग्रीवा को अवरुद्ध करता है, संक्रमण को रोकता है।

  • एम्नियोटिक रिसाव

जब आपकी गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में पानी जैसा स्राव, मूत्र के समान दिखता है और इसमें गांठे होती हैं, तो शायद आपके एम्नियोटिक द्रव में रिसाव हो सकता है। यह पूरी तरह से सामान्य है, आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। हालांकि, यदि आप प्रचुर मात्रा में हरे रंग के पानी के स्राव को देखते हैं, तो यह गंभीर समस्या हो सकती है इससे संकेत मिलता है कि आपके पानी की थैली फट गई है और शिशु शायद मेकोनियम से गुजर चुका है। इस मामले में, आपको तुरंत अस्पताल जाना चाहिए।

2. असामान्य पानी जैसा स्राव

कभी-कभी, पानी जैसा स्राव, कई अन्य लक्षणों से भी जुड़ा हो सकता है जो आपकी परेशानी का सबब बन सकते हैं। ऐसे मामलों में, पानी जैसा स्राव असामान्य है और निम्नलिखित में से किसी एक का संकेत हो सकता है:

असामान्य पानी जैसा स्राव

  • अपरिपक्व प्रसव / नियत समय से पहले प्रसव

गर्भावस्था के अंतिम सप्ताह में थोड़ी मात्रा में रक्त-स्राव सामान्य है लेकिन अगर इसकी मात्रा अत्यधिक है, तो यह अपरिपक्व प्रसव का संकेत हो सकता है। ऐसा होने पर तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

  • यीस्ट संक्रमण

खमीर संक्रमण कभी भी हो सकता है, लेकिन गर्भावस्था के दौरान यह बहुत अधिक असुविधा पैदा कर सकता है। हरे-पीले पानी जैसा स्राव या गाढ़ा सफेद स्राव के अलावा, आपको पेशाब करते समय दर्द का अनुभव भी हो सकता है। यीस्ट संक्रमण से योनि क्षेत्र में जलन या लालिमा भी हो सकती है।

  • एसटीआई

गर्भावस्था के दौरान यौन संचारित रोगों की वजह से भी पानी जैसा स्राव हो सकता है। कोई भी बीमारी आपके स्वास्थ्य और इम्युनिटी को प्रभावित कर सकती है। इससे आपके प्रजनन स्तर पर भी प्रभाव पड़ता है। इसलिए अगर आप बार-बार पानी जैसा स्राव देखें, तो डॉक्टर से परामर्श करना ही सबसे अच्छा विकल्प होगा।

  • वेजिनोसिस

इसमें बैक्टीरिया की वजह से स्राव, खुजली और पेशाब करते समय जलन होती है। इसके अलावा स्राव में दुर्गंध भी होती है। यह बेहद जरूरी होगा कि इसका तुरंत ही इलाज करवाएं क्योंकि इस वजह से समय से पहले प्रसव या गर्भपात भी हो सकता है।

गर्भावस्था में स्पष्ट, पानी, या जेली जैसे स्राव की वजह क्या है

एस्ट्रोजेन हार्मोन में वृद्धि और श्रोणि क्षेत्र में रक्त प्रवाह में वृद्धि होने की वजह से से गर्भाशय ग्रीवा में पाई जाने वाली म्यूकस ग्रंथियों में अतिरिक्त बलगम का उत्पादन होता है। इसके अलावा, गर्भाशय ग्रीवा और योनि द्वारा मृत कोशिकाएं निकालने पर भी सफेद जेली जैसा स्राव हो सकता है।

पानी जैसा स्राव चिंता का संकेत कब हो सकता है

यदि गर्भावस्था में पानी का स्राव, ऐंठन के साथ होता है, तो इसे हल्के में न लें। यदि यह स्राव हरे या पीले रंग का है और इसमें तेज दुर्गंध है, तो आपको डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। इससे योनि क्षेत्र में लालिमा, खुजली, या सूजन का भी अनुभव हो सकता है।

गर्भावस्था में पानी जैसे स्राव के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

गर्भावस्था के दौरान पानी जैसे स्राव से जुड़े कई संकेत और लक्षण हैं। उनमें से कुछ नीचे दिए गए हैं:

  • गर्भावस्था की संपूर्ण अवधि में लगातार पानी जैसा स्राव भी हो सकता है।
  • पानी जैसा स्राव पीले, हरे, गुलाबी, सफेद या भूरे रंग का हो सकता है।
  • यह गर्भावस्था में संभोग के दौरान अथवा बाद में गर्भाशय ग्रीवा और एक्ट्रोपियन के कारण भी हो सकता है।

पानी जैसा योनि स्राव एक संक्रमण का संकेत कब देता है

चूंकि गर्भावस्था के दौरान पानी जैसा स्राव होना आम बात है, इसलिए अधिकांश महिलाएं सामान्य और असामान्य स्राव के बीच अंतर नहीं बता पाती हैं। यह कहना मुश्किल है कि पानी जैसे स्राव संक्रमण की वजह से ही हो सकता है। लेकिन अगर आप अधोलिखित लक्षणों में से किसी एक को भी देखते हैं, तो आपको स्त्री रोग विशेषज्ञ से परामर्श प्राप्त करने से मदद मिल सकती है।

  • खासकर गर्भावस्था के 27वें सप्ताह के बाद, शरीर के निचले हिस्से में दर्द के साथ अधिक मात्रा में पानी जैसा स्राव होने पर
  • योनि स्राव के रंग या गंध में अकस्मात परिवर्तन
  • योनि क्षेत्र में खुजली, सूजन, लालिमा या दर्दनाक झनझनाहट
  • लगातार बुखार
  • पेशाब करने में कठिनाई

अगर स्राव बदबूदार हो या उसका रंग बदला हुआ हो तो क्या होगा

आमतौर पर पानी जैसा स्राव सफेद रंग का होता है और इसमें हल्की सी गंध होती है। अगर इन लक्षणों में बहुत अधिक बदलाव आते हैं तो इससे अंतर्निहित समस्याएं जैसे कि समय से पहले प्रसव या संक्रमण भी हो सकता है। स्राव में किसी भी तरह के परिवर्तन होने पर उसकी सावधानीपूर्वक जांच करना याद रखें।

अधिक मात्रा में स्राव कब होता है

जैसे-जैसे गर्भावस्था के चरण पूर्ण होते रहते हैं वैसे-वैसे माहवारी के दौरान पानी जैसे स्राव की मात्रा बढ़ती जाती है। आप गर्भावस्था की तीसरी तिमाही के अंत में बहुत अधिक मात्रा में तरल स्राव की उम्मीद कर सकती हैं।

क्या गर्भावस्था की शुरुआत में पानी जैसा स्राव गर्भपात का संकेत है

यदि आप अपनी पहली तिमाही के दौरान योनि से गुलाबी रंग के पानी जैसे स्राव का अनुभव कर रही हैं, तो यह गर्भपात का संकेत हो सकता है। यह रंग रक्त, थक्कों या नाल के ऊतकों के टुकड़े, गर्भाशय या एम्नियोटिक थैली की वजह से होता है।

पानी जैसे स्राव का इलाज कैसे करें

इस परेशानी के लिए उपचार, अंतर्निहित समस्या पर निर्भर करता है। आपकी जीवनशैली में थोड़े बदलाव करके घर पर ही पानी जैसे स्राव की समस्या का आसानी से समाधान किया जा सकता है। लेकिन कभी-कभी, इसमें चिकित्सीय हस्तक्षेप की आवश्यकता हो सकती है। यहाँ बताया गया है कि पानी जैसे स्राव का कैसे ध्यान रखा जा सकता है।

1. चिकित्सीय उपचार

जैसा कि पहले बताया गया है कि यदि आप गर्भावस्था के दौरान अपने योनि स्राव में किसी भी प्रकार के बदलाव का निरीक्षण करती हैं या कुछ संबंधित लक्षणों का अनुभव करती हैं तो आपको अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। आपके डॉक्टर, परीक्षण के लिए आपकी योनि से स्वैब ले सकते हैं और उपचार के साथ-साथ आपकी योनि को स्वस्थ रखने के लिए सही राय भी प्रदान कर सकते हैं।

2. घर पर आजमाने के उपाय

उचित स्वच्छता बनाए रखने से आपकी योनि साफ और स्वस्थ रहती है। यहाँ पर यह बताया जा रहा है कि आप अच्छे योनि स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए क्या-क्या कर सकती हैं:

  • आप अपने पास यथासंभव मात्रा में अपने अंतः वस्त्र के अस्तर और सैनिटरी नैपकिन रखें और आवश्यकतानुसार उनका उपयोग करें। टैम्पोन का उपयोग करने से बचें क्योंकि उससे योनि क्षेत्र में जलन होने के साथ-साथ विषाक्त झनझनाहट भी हो सकती है।
  • अपनी योनि की दीवारों को मजबूत करने और मूत्र के रिसाव को रोकने के लिए केगेल व्यायाम का अभ्यास करें।
  • किसी भी संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए स्वच्छता बनाए रखें। अपने योनि क्षेत्र को साफ पानी से धोएं।
  • मल-त्याग तथा पेशाब करने के बाद अपने जननांग क्षेत्र को आगे से पीछे तक पोंछें।
  • प्रोसेस्ड फूड से बचें और इसके बजाय ताजे फल और सब्जियों का चुनाव करें। एक स्वस्थ आहार का पालन करें और शर्करा युक्त भोजन के सेवन से बचें क्योंकि वे खमीर संक्रमण का कारण भी बन सकते हैं।
  • सूती अंतः वस्त्र पहनें क्योंकि सूती कपड़ा हल्का होता है। आपका अंतः वस्त्र हमेशा साफ और सूखा होना चाहिए।
  • नियमित रूप से अपने शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए खूब पानी पिएं।
  • अच्छे बैक्टीरिया की वृद्धि को प्रोत्साहित करने के लिए अपने आहार में दही शामिल करें क्योंकि यह एक प्रोबायोटिक है।
  • असामान्य बैक्टीरियल वृद्धि को रोकने के लिए आंतों में पीएच संतुलित योनि शोधक का उपयोग करें।

याद रखने योग्‍य बातें

कुछ सावधानियां बरतने से आपको उन जटिलताओं से बचने में मदद मिलेगी जो पानी जैसे स्राव की वजह से होती हैं।

  • नियमित रूप से जांच करवाएं

यदि आपके पानी जैसे स्राव में संक्रमण के लक्षण हैं, तो आपको चिकित्सीय उपचार प्राप्त करना होगा। इसके अलावा, खमीर संक्रमण से बचने के लिए, प्रोबायोटिक्स से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करें।

  • स्वच्छता बनाए रखें

अपने योनि क्षेत्र को साफ रखें। अपने योनि क्षेत्र को साफ करने के लिए सुगंधित साबुन या स्प्रे का उपयोग करने से बचें। यदि योनि स्राव बदबूदार है, तो स्प्रे का उपयोग करने से मदद नहीं मिलेगी। अपने योनि क्षेत्र को गर्म पानी से धोएं और साफ और आरामदायक अंत: वस्त्र पहनें।

  • अपने अंत: वस्त्र को नियमित रूप से बदलें

हर बार जब आप किसी प्रकार के स्राव का अनुभव करती हैं, तो अपने अंत: वस्त्र को एक अस्तर के साथ उपयोग करने से या बस अंत-वस्त्र बदलने से आप योनि क्षेत्र को स्वच्छ रख सकेंगी और किसी भी प्रकार का संक्रमण होने की संभावना कम होगी।

  • अपने योनि स्राव का ध्यान रखें

हमेशा अपने योनि स्राव का ध्यान रखें। स्राव का रंग, गाढ़ापन, मात्रा और गंध पर ध्यान दें, ताकि आप यह बता सकें कि क्या यह परिवर्तन अचानक हुआ है। इसके अलावा, संभोग के बाद अपने योनि क्षेत्र को अच्छी तरह से धोएं और अक्सर पेशाब करें।

  • अपने डॉक्टर पर भरोसा रखें

अपने डॉक्टर को ध्यान से सुनें, क्योंकि वही आपकी गर्भावस्था के दौरान आपका सबसे अच्छा मार्गदर्शन करने में सक्षम होंगे। यदि आवश्यक हो, तो उनके द्वारा दिए गए निर्देशों और सुझावों पर ध्यान दें ताकि आप महत्वपूर्ण चीजों को न भूलें।

क्या आप पानी जैसे स्राव को रोक सकती हैं

यदि आपका स्राव सामान्य है, तो किसी भी उपचार की आवश्यकता नहीं है। हालांकि, ऊपर वर्णित सावधानी बरतने से किसी भी असामान्य पानी जैसे स्राव के इलाज या बचाव में मदद मिलेगी।

डॉक्टर से परामर्श कब करें

कुछ स्थितियों में, किसी भी अंतर्निहित समस्या के इलाज के लिए तत्काल उपचार की आवश्यकता होती है। किसी भी मामले में, तीसरी तिमाही में अधिक मात्रा में स्राव का अनुभव करना एक गंभीर मामला है, खासकर यदि इसके साथ गर्भवती महिला को दर्द और परेशानी का अनुभव होता है। अपने डॉक्टर से संपर्क करने में संकोच न करें, भले ही आप स्थिति के बारे में पूरी तरह से आश्वस्त हों या न हों।

किसी भी तरह का पानी जैसा स्राव सदैव अप्रिय होता है, लेकिन यह ज्यादातर समय पूरी तरह से प्राकृतिक है। अब तक आप सामान्य और असामान्य पानी जैसे स्राव के बीच के अंतर को समझ गई होंगी । अपने शरीर में होने वाले परिवर्तनों पर ध्यान दें। इसके अलावा, इस लेख में बताई गई युक्तियों का पालन करें ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि आपका पानी जैसा स्राव सामान्य है। हालांकि, अगर आपको स्राव असामान्य दिखाई देता है, तो डॉक्टर से परामर्श लेने में हिचकिचाएं नहीं।

यह भी पढ़ें:

गर्भावस्था के दौरान पीला स्राव
गर्भावस्था के दौरान योनि स्राव