शिशुओं के लिए वेजिटेबल सूप – फायदे व रेसिपी

शिशुओं के लिए वेजिटेबल सूप

Last Updated On

यद्यपि यह सलाह दी जाती है कि शिशुओं को विशेष रूप से 6 महीने तक स्तनपान कराना चाहिए, लेकिन बच्चे के 3 महीने का होने पर उसको सब्जियों के स्वाद से परिचित कराने और भोजन के स्वाद को बढ़ाने के लिए उसके आहार में कभी-कभी सब्जियों को सम्मिलित किया जा सकता है।

बच्चे के आहार में सब्जियों को जोड़ने का सबसे अच्छा तरीका है सब्जियों से बना स्वास्थ्यवर्धक व स्वादिष्ट ‘सूप’। सूप पीने के कई लाभ हैं, जैसे कि यह बंद नाक को ठीक करता है, भूख बढ़ाता है और स्वाद कलिकाओं को भी तृप्त करता है। सूप में पानी की मात्रा अधिक होती है जो आपके बच्चे के शरीर के लिए आवश्यक तरल पदार्थ की भरपाई करती है। सूप में उपलब्ध सब्जियों की प्यूरी बच्चे के लिए खाने और पचाने दोनों में ही आसानी होती है । यदि आपका बच्चा सर्दी और खाँसी से पीड़ित है, तो आप उसे संक्रमण से लड़ने और इम्युनिटी बढ़ाने के लिए विटामिन सी से भरपूर सब्जियों के गर्म सूप का एक कटोरा जरूर दें।

आम मिथक के विपरीत कि केवल मांसाहारी या चिकन सूप ही सर्दी व जुकाम में लाभ पहुँचा सकते हैं, शाकाहारियों के लिए भी वेजिटेबल सूप उतना ही लाभप्रद है। अपने बच्चे के लिए सूप के लाभ और विभिन्न विकल्पों के बारे में जानने के लिए आगे पढ़ें, और यहाँ अपने बच्चे को अपनी पाक कला से प्रसन्न करने के लिए कुछ इंटरेस्टिंग और स्वादिष्ट सूप रेसिपी बताए गए हैं।

बच्चों के आहार में वेजिटेबल सूप शामिल करने के लाभ

खनिज, विटामिन और पोषण से भरपूर, सूप न केवल वयस्कों के लिए बल्कि शिशुओं के लिए भी बहुत अच्छा है। वास्तव में, यह नखरे करने वाले बच्चों के लिए भी सबसे अच्छा भोजन है और साथ ही साथ यह भूख बढ़ाने में भी मददगार है। सूप एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जो बीमार अवस्था में भी लिया जा सकता है और एक आरामदायक भोजन के रूप में प्रसिद्ध है। यह तैयार करने में भी बेहद आसान है और अगर सूप ताजा-ताजा तैयार किया गया है तो इससे गुणकारी कुछ भी नहीं है। तो आइए, बच्चों के लिए वेजिटेबल सूप के और क्या लाभ है जानते हैं।

1. सब्जियों के सेवन में बढ़ोतरी

सब्जियों की दैनिक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए माता-पिता बच्चों को सब्जी और फलियों का सूप दे सकती हैं। जिन सब्जियों को आपका बच्चा पसंद नहीं करता है, उसको चुपके से सूप के रूप में अपने बच्चे के आहार में आप शामिल कर सकती हैं। ऐसा करने से एक और फायदा यह है कि उन सब्जियों का स्वाद धीरे-धीरे बच्चे को पसंद आने लगेगा और वह इस स्वाद का आदी हो जाएगा।

2. हाइड्रेटेड रखता है

चाहें सूप गाढ़ा हो, पानी की तरह पतला हो या और मलाईदार हो, सूप शरीर को जलयुक्त (हाइड्रेट) करने के लिए बहुत अच्छा है।

यह आपके बच्चे के लिए आवश्यक तरल की भरपाई करता है और यदि आपका बच्चा बहुत अधिक पानी या दूध नहीं पीता है तो उसे इससे मदद मिलती है।

3. पोषण का भंडार

सब्जियाँ, दाल, चावल या फलियों से बने सूप बच्चे के स्वस्थ विकास के लिए आवश्यक मिनरल, कैल्शियम, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट से समृद्ध होते है। जब हम कढ़ी या ग्रेवी के लिए सब्जियों को फ्राई करते हैं, तब अत्यधिक फ्राई करने से सब्जियों का पानी अवशोषित हो जाता है, जिससे पानी में घुलनशील पोषक तत्व भी खत्म हो जाते हैं। लेकिन सूप के मामले में, पोषक तत्व सीधे घुलकर पेट में जाते हैं।

4. पचाने में आसान

जब आप सर्दियों में ठंड को मात देना चाहते हैं और अपने शरीर में गर्माहट लाना चाहते हैं, तो सूप सबसे अच्छी चीज है। भोजन में मौजूद कुछ पोषक तत्व तब अवशोषित होते हैं जब भोजन गर्म होता है और सूप इसके लिए सबसे अच्छा विकल्प होता है।

5. औषधीय गुण

वेजिटेबल सूप में औषधीय गुण होते हैं। जब भी बच्चा बीमार पड़ता है तो उसे ठोस भोजन करने में कठिनाई होती है, तब उसके लिए गर्म सूप सबसे उचित विकल्प है। सूप ठंड, खाँसी, छाती में रक्त संचय और बुखार से राहत देता है। लहसुन, मिर्च और हल्दी के साथ मसालेदार सूप खाँसी और यहाँ तक कि पाचन विकारों के इलाज में सहायता करता है। तुलसी के साथ टमाटर का सूप ठंड और खाँसी के इलाज में मदद करता है।

6. वजन बढ़ाने में लाभकारी

बच्चों को वजन बढ़ाने में मदद करने के लिए गाढ़ा, मलाईदार मक्खन वाला सूप एक शानदार तरीका है। चावल, दाल या नूडल्स से बने सूप को कैलोरी और पोषक तत्वों का सेवन बढ़ाने के लिए सुबह नाश्ते के रूप में या शाम को परोसा जा सकता है। इसे मुख्य व्यंजन के साथ अलग से परोसा जा सकता है।

7. खाने में सरल

यदि आपके बच्चे को अभी तक भोजन चबाने की कला में महारत हासिल नहीं हुई है या उसके दाँत पूरी तरह से विकसित नहीं हुए हैं, तो सूप सब्जियों को खिलाने का सबसे अच्छा तरीका है। सूप को चबाने की आवश्यकता नहीं होती है और छोटे बच्चों के लिए प्यूरी के रूप में सूप सर्वोत्तम होते हैं।

बच्चों के लिए घर का बना वेजिटेबल सूप सर्वोत्तम क्यों है?

बाजारों में रेडीमेड सूप आसानी से उपलब्ध हैं और जिसे बनाना भी मिनटों का खेल है, लेकिन निश्चित रूप से यह सबसे स्वास्थ्यप्रद विकल्प नहीं है। इनके पैक के पीछे दिए गए खाद्य पदार्थों की सामग्री पर एक नजर डालने से पता चलेगा कि वह कितने सारे कृत्रिम स्वादों और सामग्रियों से भरा हुआ है। इसके अलावा, ये अत्यधिक नमक, गाढ़ा करने वाले एजेंट, कॉर्न-स्टार्च और संरक्षक से भरे हुए होते हैं। इसलिए, संक्षेप में, वे कोई पोषण नहीं देते हैं और बिल्कुल भी अच्छा विकल्प नहीं हैं। घर पर बनाया गया ताजी सब्जियों का सूप बच्चों के लिए सर्वोत्तम है। इसे बिना रसायनों के और कम नमक के साथ घर के स्वच्छ वातावरण में पकाया जाता है जो आपके बच्चे के लिए सबसे अच्छा विकल्प है। तो आइए जानते हैं सूप बनाने के कुछ खास रेसिपीज।

बच्चों के लिए 8 स्वादिस्ट शाकाहारी सूप की रेसिपी

क्या आप खोज रहे हैं कि शिशुओं के लिए वेज सूप कैसे बनाया जाता है? यहाँ देखें। सूप की एक कटोरी में सभी पोषण और ऊर्जा वाली सूप बनाने के लिए यहाँ कुछ शाकाहारी विकल्पों का संकलन है। अपने छोटे की आत्मा को आराम देने के लिए आपको बस सही नुस्खा की आवश्यकता है।

1. पालक का सूप

पालक एक हरी पत्तेदार सब्जी है, जो विटामिन और खनिजों से भरी हुई है, और यह आपके बच्चे के आहार में शामिल करने के लिए भी उतना ही आवश्यक है।

पालक का सूप

सामग्री

  • 1 कप कटा हुआ पालक
  • नमक स्वादानुसार
  • एक चम्मच चीज़, एक मुट्ठी उबले हुए आलू के टुकड़े और मकई के दाने (वैकल्पिक)

विधि 

  • पालक को थोड़े से नमक के साथ उबालें और परोसने से पहले प्यूरी बना लें।
  • पालक के स्वाद को छुपाने के लिए आप आलू, दाल, मकई के दाने और चीज़ को मिलाकर एक बदलाव कर सकते हैं।

यह सूप 7 माह से बड़े बच्चे को परोसा जा सकता है।

2. मिक्स्ड वेजिटेबल सूप

यह उन बच्चों के लिए एकदम सही विकल्प है जो सब्जियों को देखते ही नखरे करना चालू कर देते हैं।

मिक्स्ड वेजिटेबल सूप

सामग्री

  • 1-2 कप कटी हुई सब्जियाँ (गाजर, मटर, आलू, पालक, मक्का, टमाटर)
  • नमक स्वादानुसार
  • स्वाद के लिए हल्की सी काली मिर्च छिड़क दें (इच्छानुसार)

विधि

  • सब्जियों को प्रेशर कुकर में अच्छी तरह से उबालें और इन्हें ठंडा होने पर गाढ़ा पीस लें
  • स्वादानुसार नमक डालें

बस सुनिश्चित करें कि बच्चे को यह सूप अलग से खिलाएं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि उसे कोई एलर्जी तो नहीं हुई।

3. दाल का सूप

भारत में हर शिशु को परोसा जाने वाला एक लोकप्रिय व्यंजन, ‘दाल का सूप’ या ‘दाल का पानी’ प्रोटीन और आयरन से भरपूर होता है। दालें कार्बोहाइड्रेट का एक अच्छा स्रोत है और इसके सेवन से लंबे समय तक पेट भरा रहता है।

दाल का सूप

सामग्री

  • 1/2 – 1 कप दाल
  • नमक स्वादानुसार
  • 1 चम्मच घी (इच्छानुसार)

विधि

  • दाल को प्रेशर कुकर में उबालें और स्वादानुसार नमक डालें।
  • एक अनोखे स्वाद और अच्छे पाचन के लिए इसे एक चम्मच घी के साथ परोसें।

इस सूप को 6 महीने की उम्र से परोसा जा सकता है और यह शिशुओं के लिए बहुत अच्छा भोजन है।

4. टमाटर का सूप

टमाटर के सूप में लाइकोपीन मौजूद होता है और आपके बच्चे की त्वचा की चमक को बढ़ाने के लिए एंटीऑक्सीडेंट प्रदान करता है। टमाटर का सूप बच्चे को 8 महीने बाद से दिया जा सकता है।

टमाटर का सूप

सामग्री

  • 1-3 मध्यम आकार के टमाटर
  • नमक स्वादानुसार
  • एक चुटकी काली मिर्च
  • एक चम्मच बटर

विधि

  • टमाटर उबालें, ठंडा होने पर उसे छील लें, उसका बीज निकाल दें और प्यूरी करें।
  • थोड़े तीखे स्वाद के लिए इसे नमक और थोड़ी काली मिर्च के साथ परोसें।
  • इसे मलाईदार बनाने के लिए इसके ऊपर बटर डालें।

5. चुकंदर व गाजर का सूप

बटर यह सूप बीटा-कैरोटीन, फोलेट, लोहा, मैग्नीशियम और अन्य पोषक तत्वों से भरपूर है और उन शिशुओं के लिए फायदेमंद है जो एनीमिक हैं या जिनमें हीमोग्लोबिन का स्तर कम है।

चुकंदर व गाजर का सूप

सामग्री

  • 1-3 मध्यम आकार के गाजर और चुकंदर
  • नमक स्वादानुसार
  • एक चुटकी काली मिर्च

विधि

  • गाजर और चुकंदर को छील लें और उसे अच्छी तरह से मसल लें। इसे सूप की तरह गाढ़ा करें।
  • चटपटे स्वाद के लिए  इसमें नमक और थोड़ी काली मिर्च मिला करके परोसें।

6. चना और पालक का सूप

यह सूप पोषक तत्वों और प्रोटीन का एक शक्तिशाली संयोजन है जो एंटीऑक्सिडेंट में समृद्ध है और लोहे के स्तर में सुधार करने में मदद करता है, हड्डी के विकास को बढ़ावा देता है और रक्त परिसंचरण को भी बढ़ाता है।

चना और पालक का सूप

सामग्री

  • रात भर भिगोए हुए 1-2 चम्मच छोले
  • 1 कप बारीक कटी पालक पत्ते
  • नमक

विधि

  • पालक को अलग से उबालें और इसे प्यूरी करें।
  • छोले को प्रेशर कुकर में मसलने लायक पकाएँ।
  • पालक और छोले को मिलाएँ और स्वाद के लिए थोड़ा नमक मिलाएँ

यह सूप 10 महीने से अधिक उम्र के बच्चों के लिए आदर्श है और आप अपने बच्चे को चबाने के लिए इसमें छोले के छोटे टुकड़े छोड़ सकते हैं।

7. वेज क्लियर सूप

जो बच्चे सब्जियाँ खाने से नफरत करते हैं उन बच्चों के उन माता-पिता के लिए वेज क्लियर सूप एक वरदान है।

वेज क्लियर सूप

सामग्री

  • वेजिटेबल स्टॉक के लिए फूलगोभी, गाजर और ब्रोकोली 1-2 कप
  • सब्जी के टुकड़े के लिए छोटे आलू, मटर और बीन्स
  • स्वाद के लिए धनिया
  • नमक

विधि

  • विटामिन ‘के’ से भरपूर फूलगोभी, गाजर और ब्रोकली को पानी में उबालें और पानी को फेंक दे।
  • मटर, सेम और आलू के टुकड़े को चबाने लायक उबाल लें और स्टॉक में मिलाएं ।
  • नमक डालें और धनिया से सजाएं।

प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर मटर, बीन्स और आलू को बच्चों के चबाने के लिए टुकड़ों के रूप में डाला जा सकता है। दृष्टि में सुधार और पाचन में मदद के लिए आप इसमें धनिया भी डाल सकते हैं। एक वर्ष से कम उम्र के बच्चों के लिए, इन सभी सब्जियों को उबाल कर प्यूरी बना लें और इसे गाढ़ा करने के लिए कॉर्नफ्लोर मिलाया जा सकता है लेकिन यह जरूरी नहीं है ।

8. चावल, दाल और सब्जी का सूप

‘खिचड़ी’ के रूप में भी लोकप्रिय, यह सूप कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन और खनिजों से भरपूर है, जो चावल, दाल और सब्जियों का लाभ एक साथ प्रदान करता है।

चावल, दाल और सब्जी का सूप

सामग्री

  • 1/2 कप चावल
  • 1/2 कप दाल
  • 1/4 कप कटी हुई सब्जियाँ (गाजर, आलू, मटर, बीन्स और फूलगोभी)

विधि

  • प्रेशर कुकर में चावल, दाल और सब्जियों को अच्छी तरह पकाएं ।
  • ठंडा होने पर इसे अच्छी तरह से मसल लें और नमक डालें।
  • स्वाद के लिए थोड़ा घी मिलाएं ।

इसे 6 महीने की उम्र के बाद के शिशुओं को परोसा जा सकता है। यह एक पौष्टिक भोजन माना जाता है और माताएं विभिन्न प्रकार की सब्जियां शामिल करने के लिए इसमें हर बार विभिन्न प्रकार की सब्जियों को मिला सकती हैं। केवल एक चीज का ध्यान रखें कि आप बच्चे को सिर्फ सूप में ही न रखें । सूप निश्चित रूप से बच्चे के आहार में शामिल करने के लिए अच्छे हैं, लेकिन उनके आहार में यह एकमात्र भोजन नहीं होना चाहिए। सूप को कभी भी ठोस भोजन का विकल्प नहीं बनाना चाहिए।