13 माह के बच्चे के लिए आहार संबंधी सुझाव

13 माह के बच्चे के लिए आहार संबंधी सुझाव

Last Updated On

एक बच्चे की ज़रूरतों को समझना हर माँ के लिए आवश्यक हैं, विशेषकर जब उसका बच्चा सिर्फ एक साल का हो। अपने बच्चे को सही खाना देने से यह उसके शरीर और दिमाग का तेज़ी से विकास करने में मदद करेगा । कई माता-पिता के लिए यह एक चुनौती हो सकता है क्योंकि कुछ बच्चे खाना खाने में नखरे करते हैं और कई बार माता-पिता को यह समझ नहीं आता हैं कि उनको बच्चों को क्या खिलाना चाहिए। यहाँ कुछ आहार योजनाएं, सुझाव और भोजन विकल्प दिए गए हैं, जिनका आधार पर आप अनुसरण कर सकती हैं।

13 माह के बच्चे के लिए सर्वश्रेष्ठ खाद्य पदार्थ

13 माह के बच्चे के लिए सर्वश्रेष्ठ खाद्य पदार्थ

इस आयुमें,आपका बच्चा कुछ ठोस खाद्य पदार्थ खाना शुरू कर देता है। इसलिए उसके बढ़ने और स्वस्थ रहने में मदद करने के लिए उसे स्वस्थ और समृद्ध भोजन देना महत्वपूर्ण हैं। परंतु, इस बात का ख्याल रखें कि आप उसे ज़रूरत से ज़्यादा न खिलाएं । आप बच्चे को खाने में क्या क्या दे सकती हहैं वो कुछ इस प्रकार नीचे दिए गए है:

1. फल

फलों को छोटे टुकड़ों में काटें जिससे आपके बच्चे को उसे उठाने और खाने में आसानी हो। एक बात का ध्यान रखें कि फल छोटे और चबाने में आसान होने चाहिए। अन्यथा, यह बच्चे के गले मे अटक सकते हैं। उदाहरण के लिए, पूरा अंगूर देने के बजाय, उन्हें काट कर दें, क्योंकि पूरा अंगूर बच्चे के गले में अटक सकता हैं।

2. दूध

दूध हर बच्चे के लिए ज़रूरी होता है। यह अत्यधिक पौष्टिक होता हैं और बच्चे के मानसिक और शारीरिक विकास में सहायता करता है। यदि आप अपने बच्चे को स्तनपान करा रही हैं या यदि आप उसे गाय का दूध पिला रही हैं, तो ख्याल रखें की उसे बहुत ज्यादा दूध न पिलाएं । इससे उसकी भूख कम हो जाएगी और उसे ठोस भोजन खाने का मन नहीं करेगा।

3. सब्जी

अब आपका बच्चा कुछ सब्जियों को छोड़ कर जैसे ब्रोकोली और फूलगोभी आदि के अलावा अधिकांश सभी सब्ज़ियांखा सकता है। हालांकि आप इन्हें बच्चे को काटकर या थोड़ा मसल कर दे सकती हैं। आप चाहे तो नाश्ते के रूप में मसले हुए आलू या गाजर भी दे सकती हैं या फिर गाजर के टुकड़े करके उन्हें हाथ से पकड़ कर खाने के लिए दे सकती हैं। आ।

4. मांस

सफेद मांस आपके बच्चे को अच्छी मात्रा में प्रोटीन प्रदान करता हैं। आप इसे पका कर और इसके छोटे टुकड़े करके र अपने बच्चे को खिला सकती हैं। मांस एक शक्तिवर्धक खाना है जो आपके बच्चे में दिनभर उर्जा बनाए रखता है। मांस 15 महीने के शिशु के लिए अच्छा भोजन हैं क्योंकि यह वह समय हैं जब बच्चा खाने को लेकर बेहद सक्रिय और शक्तिशाली हो जाता हैं।

5. दही

दही आपके बच्चे को देने के लिए एक बेहतरीन विकल्प है। आमतौर पर, 6 महीने से बच्चों को दही दिया जा सकता है। यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है और आपके बच्चे के लिए एक स्वादिष्ट विकल्प भी हैं।

6. नट्स

अक्सर माता-पिता अपने बच्चे को मेवे देने के विचार से घबराते हैं क्योंकि अक्सर मेवे खाने से से बच्चों को एलर्जी हो जाती है। अगर आपके बच्चे को मेवों से एलर्जी नहीं है, तो आप बच्चे को ठोस आहार देने के साथ-साथ इसे भी दे सकती हैं ।

बस इस बात का ख्याल रखें कि आप मेवों को देने से पहले इसे छोटे टुकड़ो में तोड़ कर बच्चे को दें ताकि यह उनके गलें में न अटके आसानी से दे सकती हैं।

7. अनाज

आपके बच्चे के विकास के लिए अनाज देना बहुत महत्वपूर्ण है। उन्हें भिन्न प्रकार के अनाज जैसे गेहूं, रागी, बाजरा, और राजगिरा के आटे से परिचित कराएं ।

8. बीन्स

14 महीने के बच्चे के भोजन में बीन्स देना एक अच्छा विकल्प है। अगर आपके बच्चे को राजमा पसंद है तो इसे तीन बड़े चम्मच एक दिन में दिया जा सकता है । इसमें कैलोरी की मात्रा बिलकुल सही होती है और इसमें वसा भी नहीं होता है, यह आपके बच्चे को बड़ी मात्रा में पोषक तत्व प्रदान करता है।

13 से 16 माह के बच्चे के लिए भोजन सारणी

अपने बच्चे के लिए खाने की सूची तैयार करना इतना आसान नहीं है, आपको इसे तैयार करते वक़्त बहुत सारी बातों का ध्यान रखना पड़ता है। यहाँ कुछ विकल्प दिए गए हैं जो आपकी इसमें मदद कर सकते हैं। आप इसे अपने बच्चे की पसंद के आधार पर बदल भी सकती हैं।

जल्द सुबह सुबह का नाश्ता देर सुबह का नाश्ता दोपहर का भोजन शाम का नाश्ता रात का भोजन
आधा से एक कप दूध ओट्स , सेब, दलिया

या

अंडे की भुर्जी, दलिया

या

साबुत अनाज से बने मफ़िन

सब्जियों के टुकड़े

या

तरबूज के टुकड़े

या

पैनकेक

चावल,दाल

या

रागी की इडली

फल वाला दही

या

राजमा

या

सब्जियों के टुकड़े

या

फल

चावल और दही

या

मसले हुए आलू

13 से 16 माह के बच्चे के लिए व्यंजन विधियां:

घर का बना व्यंजन आपके बच्चे के लिए पौष्टिक और अच्छा होता है। खाने की अच्छी आदतें आपके बच्चे को लंबे समय तक स्वस्थ रखेगी । अतः यहाँ हम आपको कुछ घर पर बनाए जा सकने वाले व्यंजनों के साथ उनकी विधि भी बताएंगे, जो आप आजमा सकती हैं।

1. रागी इडली

यह भारतीय व्यंजन 6 महीने के बच्चे के लिए एक अच्छा खाद्य पदार्थ है, जिसे बनाने में आपको ज्यादा वक्त भी नहीं लगेगा और इसे तैयार करना भी काफी आसान हैं।

सामग्री

  • (10 इडली के लिए)
  • इडली का घोल (खमीर किया हुआ ) – 2 कप
  • रागी का आटा -1/2 कप
  • तेल -1 बड़ा चम्मच
  • गर्म पानी – 1/4 कप 2 बड़े चम्मच
  • नमक स्वादानुसार

विधि

  • एक कटोरे में आटे के साथ गर्म पानी मिलाकर एक गाढ़ा मिश्रण तैयार करें ।
  • मिश्रण गाढ़ा हो जाने पर, इसमें इडली का घोल मिलाएं और थोड़ा नमक डालकर चलाएं ।
  • इसे 20 मिनट के लिए अलग रख दें ।
  • इसी दौरान स्टीमर में पानी उबालें और उसके सांचों में तेल लगाएं ।
  • घोल को सांचे में डाल दें।
  • इडली स्टैंड को स्टीमर में रखें और इसे 10 मिनट तक भाप में पकने दें।
  • इसे गरमा गरम परोसें।

2. चीकू प्यूरी

चीकू का स्वाद मीठा होता है और इसके अद्भुत स्वास्थ्य लाभ भी हैं। यकीन मानिए आपका बच्चा इस स्वादिष्ट चीकू प्यूरी को झटपट खा कर खत्म कर देगा।

सामग्री

  • (2 ½ कप के लिए)
  • चीकू -1

विधि

  • चीकू को आधा काट कर बीज निकाल दें ।
  • कांटे वाले चम्मच का इस्तेमाल करके इसे अपने हिसाब से मिलाएं ।
  • चाहे तो माँ का दूध या गाय का दूध इसमें मिला सकती हैं।

3. ओट्स चीला

सामग्री

  • (6 चीला के लिए)
  • ओट्स – 1 कप, पाउडर
  • चने का आटा – 1/4 कप
  • जीरा पाउडर – 1 चम्मच
  • हल्दी – एक चुटकी
  • गाजर – 1/4, कसा हुआ
  • प्याज – 1
  • हरी मिर्च – 2, कटी हुई
  • आवश्यकतानुसार पानी
  • तेल / घी

विधि

  • एक कटोरी में पीसा हुआ ओट्स लें और अन्य सामग्री के साथ मिलाएं। अपनी आवश्यकता के अनुसार पानी डालें और एक गाढ़ा घोल तैयार करें।
  • एक तवे को गरम करें और उसमें तेल डालें।
  • तवे पर घोल को डालकर फैलाएं और इसे पकने दें।
  • इसे दोनों तरह से समान रूप से पकने दें ।

4. पास्ता खीर

सामग्री

  • दूध – 2 कप
  • पास्ता – 3/4 कप
  • गुड़ की चाशनी – 1/4 कप
  • हरी इलायची – 2
  • चावल का आटा – 1.5 कप दूध / पानी के साथ मिश्रित – 1/4 कप
  • घी
  • काजू

विधि

  • पानी में पास्ता डालकर उबालें और कुछ मिनट तक पकाएं।
  • पानी को छान लें और एक तरफ रख दें।
  • एक कड़ाही में काजू को घी में भून लें और एक कटोरे में अलग करके रख दें।
  • कड़ाही में दूध डालें और उसमें पका हुआ पास्ता डालें। इसे कुछ देर के लिए उबलने दें।
  • दूसरे कटोरे में, चावल का आटा, दूध और पानी अच्छी तरह मिलाएं।
  • इसे धीरे-धीरे कड़ाही में डालें और अच्छे से मिलाएं।
  • खीर को गाढ़ा होने दें, इसमें इलायची पाउडर छिड़के।
  • गुड़ की चाशनी डालें और पकने दें।

5. ओवन में भुनी हरी फलियां

सामग्री

  • हरी फलियां (कटी हुई) -1 कप
  • एक्स्ट्रा वर्जिन जैतून का तेल – 2 चम्मच
  • स्वाद के लिए नमक

विधि

  • ओवन को 425 डिग्री सेंटीग्रेट पर गरम करें।
  • ट्रे को ओवन में दस मिनट के लिए रख दें।
  • कटोरे में रखी फलियों के साथ थोड़ा नमक और तेल मिलाएं।
  • मिश्रण को पहले से गरम हुए ओवन की ट्रे पर एक परत में रखें और 8 मिनट के लिए कुरकुरा होने तक बेक करें ।

13 से 16 माह के बच्चे को खाना खिलाने हेतु उपयोगी सुझाव

आपने ध्यान दिया होगा कि कैसे समय के साथ साथ आपका बच्चा खाना खाने को लेकर नखरे करने लगा है । लेकिन इस बात को लेकर ज्यादा चिंता न करें; लगभग सभी बच्चे खाना खाने में थोड़ा नखरे दिखाते हैं । इसलिए आपको ऐसे कुछ सुझाव नीचे दिए गए हैं जो आपको उन्हें आसानी से खाना खिलाने में मदद करेगा।

  • अगर आपका बनाया हुआ खाना आकर्षक होगा तो बच्चे इसे चाव से खाएंगे । बच्चे भी हमारी तरह ही सुंदर चीजों की ओर आकर्षित होते हैं। अतः यह सुनिश्चित करें कि खाना दिखने में अच्छा लगे। यदि आप सैंडविच बना रहीं हैं, तो आप इसे सुंदर आकार देने के लिए कुकी कटर का उपयोग कर सकती हैं।
  • उसे ना तो ज्यादा खाने के लिए दें और ना ही बहुत कम ।
  • अपने बच्चे को जबरदस्ती खाना खाने के लिए मजबूर न करें। बल्कि, उन्हें अपने आप खाने दें।
  • बहुत ज्यादा मीठी चीजें देने से या फिर ऐसे पदार्थ देने से बचें जिसमें चीनी का उपयोग अधिक किया गया हो ।
  • जब आप अपने बच्चे के लिए खाना बनाए, तो उसमें विविधता रखें और उसे आकर्षक बनाएं। बार-बार वही खाना देने से आपके बच्चे में खाने को लेकर रूचि कम होने लगेगी।
  • 13 से 16 महीने के बच्चे को समृद्ध और अच्छा भोजन देना महत्वपूर्ण है। प्रतिदिन उसके खाने में ताज़े फल और सब्जियों को शामिल करें। ऐसे करने से आप उसमें स्वस्थ आहार का पालन करने की अच्छी आदत डलवा सकती हैं।

एक बच्चे का शरीर लगातार बढ़ता और बदलता रहता हैं और इसलिए उसको उचित भोजन मिलना महत्वपूर्ण है। अपने बच्चे के लिए एक संपूर्ण आहार योजना का पालन करें और बच्चे को खाने का आनंद खुद लेने दें यह उसकी खाने की अच्छी आदत को बनाए रखेगा और साथ ही वह स्वस्थ भी रहेगा।