21 महीने के बच्चे की वृद्धि और विकास

21 महीने के बच्चे की वृद्धि और विकास

Last Updated On

आपके बच्चे को अभी दो साल का होने में कुछ महीने शेष हैं, फिर भी उसने विकास के कई पड़ाव प्राप्त कर लिए होंगें और कई नई चीजें सीख ली होंगी। अब बच्चा आत्मविश्वास से चल व दौड़ सकता है और साथ ही खिलौनों को सरलता से उठा कर फेंक भी सकता है। इस आयु में वह सीढ़ियां चढ़ने में सक्षम है और जब यह कला उसके पास आ चुकी है तो इसका तात्पर्य है कि वह मेज पर, सीढ़ियों पर, कुर्सी पर बिना अधिक मेहनत के चढ़ सकता है।

21 महीने के बच्चे में अत्यधिक ऊर्जा रहती है इसलिए वह हमेशा सक्रिय दिखाई देता है। बच्चे में इतनी सक्रियता उसकी मांसपेशियों का निर्माण व उन्हें मजबूत करने, उसके संज्ञानात्मक व मोटर स्किल को बढ़ाने, मस्तिष्क को तीव्र करने और साथ ही दिन के अंत में अच्छी नींद लेने में मदद करते हैं। बच्चा नखरे करना, काटना, मारना जैसे आक्रामक व्यवहार भी इसी आयु में कर सकता है। लेकिन उम्र बढ़ने के साथ अधिकांश बच्चे इस तरह के व्यवहार को छोड़ देते हैं।

21 महीने के बच्चे का विकास

हर बच्चा अलग होता है और उसके विकास के पड़ाव अलग-अलग हो सकते हैं। कुछ बच्चे इन पड़ावों को जल्दी तय कर सकते हैं, जबकि अन्य कुछ के विकास में अधिक समय भी लग सकता है। प्रत्येक बच्चे का विकास समय व गति के अनुसार होना ही अच्छा है इसलिए उसकी शारीरिक व मानसिक वृद्धि के लिए समय दें। किसी भी कारण से यदि आपको लगता है कि आपका बच्चा 21 महीने के अनुसार कुछ पड़ावों तक सफलतापूर्वक नहीं पहुँच पा रहा है तो उसके विकास में जल्दबाजी करने का प्रयास बिलकुल भी न करें।

शारीरिक विकास

इस स्तर पर आपका बच्चा हर दिन विभिन्न शारीरिक चुनौतियों का सामना करना पसंद कर सकता है। इस आयु में बच्चा अपनी शारीरिक क्षमताओं का पता लगाता है व अपने नए कारनामों के साथ आपके पूरे घर को खेल का मैदान बना सकता है और इसलिए इस दौरान आपको हमेशा सजग व सतर्क रहने की आवश्यकता पड़ सकती है। 21 महीने के बच्चे में कुछ निम्नलिखित शारीरिक विकास हो सकते हैं;

  • आपका बच्चा हर जगह आत्मविश्वास के साथ चल और दौड़ सकता है।
  • वह छोटे-छोटे फर्नीचर को आस-पास खिसका सकता है या बिना कठिनाई के उनके चारों ओर घूम सकता है।
  • इस आयु में बच्चा बहुत सरलता से अलग-अलग सतहों पर चढ़कर नीचे उतर सकता है।
  • वह बिना किसी मदद के सीढ़ियों पर चढ़ने और नीचे उतरने में सक्षम हो सकता है।
  • आपका बच्चा खुद को संतुलित करते हुए झुकना और फिर बिना संतुलन खोए वापस खड़ा होना भी सीख सकता है।
  • वह पीछे की ओर उल्टा चलने में सक्षम हो सकता है, हाथ ऊपर करके गेंद को उछाल सकता है, गेंद को पैर से मार सकता है और घर के आसान कामों में आपकी मदद कर सकता है।

सामाजिक और भावनात्मक विकास

इस आयु में बच्चा अपनी खुद की एक दुनिया बनाने का प्रयास करता है और चीजों को अपने तरीके से करना पसंद करता है। वह सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करना चाहता है और नए व्यवहारों को परखने के लिए निर्मम, बेचैन और अनियंत्रित भी हो सकता है। 21 महीने के बच्चे में होने वाले सामाजिक और भावनात्मक विकास निम्नलिखित हैं;

  • इस आयु में बच्चे का आत्मविश्वास बढ़ता है। यदि आप उसे परिवार के अन्य सदस्यों के पास छोड़ देते हैं, तो वह आपके बिना रहने में अधिक सहज हो सकता है।
  • ज्यादातर बच्चे अपने आप को “मैं” या अपने नाम से संदर्भित करना शुरु कर देते हैं।
  • बच्चा दूसरों के साथ अपने खिलौने या चीजें साझा करने के लिए तैयार हो सकता है। वह दूसरों के प्रति अधिक विचारशील होना शुरु कर सकता है।
  • यदि आप बच्चे को फोटो एल्बम दिखाएं तो वह परिचित चेहरों को पहचानने में सक्षम हो सकता है।
  • 21 महीने के बच्चे की कल्पना, पानी या कीड़े के डर की तरह उसके मन में कुछ आशंकाओं को जन्म दे सकती है।
  • बच्चे, कुछ स्थितियों में अपनी स्वतंत्रता का दावा करना पसंद कर सकते हैं, जो अक्सर गुस्से और झुंझलाहट का कारण बनता है।

सामाजिक और भावनात्मक विकास

संज्ञानात्मक और भाषा विकास

21 महीने के बच्चे की भाषा में विकास स्पष्ट रूप से दिखाई देता है और यह विकास उसे किसी से बात करने के लिए अधिक आत्मविश्वासी बनाता है। बच्चे में कुछ अन्य संज्ञानात्मक और भाषा विकास निम्नलिखित हैं;

  • बारीकियों पर ध्यान देने की बढ़ती हुई क्षमता के कारण बच्चा अपने शरीर के कई अंगों का नाम बता सकता है।
  • सीधी लकीरों के साथ-साथ, वह गोल और अन्य आकृतियों की रचना करने का भी अच्छा प्रयास कर सकता है।
  • बच्चे में इंद्रियों की बढ़ती चेतना उसे इस बारे में उत्सुक कर सकती है कि विविध वस्तुओं की गंध, स्वाद, रूप और ध्वनि कैसी होती है।
  • आपका बच्चा अब धैर्यपूर्वक बैठकर चित्रों वाली पुस्तक को देख सकता है या किसी पज़ल के कुछ हिस्से खुद लगा सकता है क्योंकि उसकी सोच और तर्क कौशल विकसित हो रहे हैं।
  • वह सरल निर्देशों को समझ सकता है और सरल वाक्यांश कह सकता है।साथ ही छोटे वाक्य बनाने के लिए उनका उपयोग भी कर सकता है।

व्यवहार

21 महीने का बच्चा बड़ों की नकल बहुत अच्छी तरह से कर सकता है। आप स्वयं अच्छा व्यवहार करके बच्चे की अच्छी आदतों को विकसित करने में उसकी मदद कर सकती हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप चाहती हैं कि आपका बच्चा ‘धन्यवाद’ और ‘कृपया’ कहे तो उससे और अन्य लोगों से बात करते समय उन शब्दों का उपयोग करें। अपने बच्चे को निर्देश देते समय नकारात्मक से अधिक सकारात्मक कथनों का उपयोग करें। उदाहरण के लिए, ‘कुत्ते को मत मारो’ कहने के बजाय ‘कुत्ते को धीरे छुओ’ कहें।

आप घर में कुछ यथोचित नियम बना सकती हैं यद्यपि आपका बच्चा सभी नियमों का पालन नहीं करेगा किन्तु फिर भी उसे नियमों के बारे में लगातार याद दिलाती रहें। बच्चे के अच्छे व्यवहार पर उसकी तारीफ करना या उसे कोई पुरस्कार देना एक अच्छा विचार है। यह उसे अपने सकारात्मक व्यवहार को दोहराने के लिए प्रोत्साहित कर सकता है।

बच्चे के नखरे

इस आयु में अक्सर बच्चों का मिजाज जल्द ही बदलता है और वे नखरे व आक्रामक व्यवहार का प्रदर्शन बार-बार करते हैं। बच्चे ऐसा व्यवहार खासकर तब करते हैं जब वयस्कों द्वारा उन्हें चिढ़ाया जाता है या वे किसी कारण से चिड़चिड़ाते हैं। 21 महीने का बच्चा अपनी इच्छा को परखने का प्रयास कर सकता है कि क्या उसके पास अपनी पसंद का कार्य करने के लिए पर्याप्त शक्ति है। ऐसी स्थितियों में, शांत रहना महत्वपूर्ण है और उनके अस्वीकार्य व्यवहार के लिए डांटने के बजाय स्थिति को सकारात्मक दिशा में ले जाने का प्रयास करें, जैसे अपनी आवाज तेज करने के बजाय बच्चे से सम्मानपूर्वक बात करें। यदि आप अपने बच्चे से शांति से बात करती हैं तो संभवतः वह आपकी बात को नजरअंदाज नहीं कर पाएगा। बच्चे को अपने क्रोध और हताशा की भावनाओं को दूर करने के लिए कुछ समय दें, कभी-कभी बच्चे को गले से लगाना भी चमत्कार कर सकता है। कुछ बच्चों के लिए खिलौने या गतिविधि द्वारा ध्यान हटाने की आवश्यकता हो सकती है। यदि आपका बच्चा अन्य लोगों के सामने नखरे करता है, तो उसे एक शांत जगह पर ले जाएं और स्थिति सामान्य होने तक उसे अपना गुस्सा निकालने का समय दें।

आहार और पोषण

यदि आपका बच्चा 21 महीने का हो गया है, फिर भी बोतल से दूध पीता है तो आप इसे छुड़ाने के बारे में सोच सकती हैं। सुनिश्चित करें कि आप यह परिवर्तन धीरे-धीरे व सावधानी से करें। बच्चे के दिन के आहार के लिए आप एक ‘किड सिपर’ का प्रयोग कर सकती हैं।

आहार और पोषण

वास्तव में 21 महीने के बच्चे के भोजन में सभी प्रकार की फायदेमंद सब्जियां और फल शामिल होने चाहिए। लेकिन इस बात का खयाल रखें कि इस आयु में बच्चा भोजन करते समय नखरे या समस्याएं उत्पन्न कर सकता है। बच्चे को भोजन करने के लिए जबरदस्ती न करें, क्योंकि जबरदस्ती करने से भोजन करते समय बच्चे को घृणा हो सकती है। भोजन की तैयारी करते समय बच्चे को भी इस क्रिया में शामिल करें क्योंकि इससे भोजन के प्रति बच्चे की रुचि में वृद्धि होगी। उसके खाने की प्रस्तुति के बारे में कल्पनाशील होने से भी मदद मिल सकती है। इस आयु में बच्चे को कुछ खाद्य पदार्थ अधिक प्रिय हो सकते हैं, लेकिन उन्हें थोड़ी-थोड़ी मात्रा में विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों से परिचित कराते रहें। यदि आपका बच्चा शुरु में किसी खाने को चखने या स्वाद के प्रति अरुचि रखता है, तो वह खाद्य पदार्थ उसे बार-बार देने का प्रयास करें इससे उसकी पसंद में बदलाव भी आ सकता है।

नींद

21 महीने का बच्चा संभवतः दिन में कम सोता है, वह दिन भर में शायद केवल एक या दो बार थोड़ी देर के लिए सो सकता है। उसकी अधिकांश नींद अब रात में होगी। इस आयु में बच्चा रात के समय में सोने के लिए नखरे कर सकता है। हालांकि, बच्चे के लिए सोने की दिनचर्या बनाना महत्वपूर्ण है और इससे भी महत्वपूर्ण बात – उस पर टिके रहना है। सोते समय आपका बच्चा अलगाव की चिंता का अनुभव कर सकता है, जो उसकी नींद को बाधित करता है। इस आयु में कुछ बच्चे नींद का प्रतिगमन (स्लीप रिग्रेशन) विकसित करते हैं, इस समस्या में रात के दौरान बच्चे की गहरी से गहरी नींद भी टूटने की संभावना अधिक होती है। सोते समय बच्चे के कल्पनाशील दिमाग में अंधेरे, राक्षसों के डर जैसी कुछ आशंकाएं भी हो सकती हैं।

खेल और गतिविधियां

यह आवश्यक है कि बच्चा अपनी आयु के अनुकूल खिलौनों के साथ खेले, जो न केवल उसके लिए सुरक्षित हों बल्कि उसके उचित विकास में भी सहायक भी हों। 21 महीने के बच्चे की गतिविधियों में वे खिलौने शामिल हो सकते हैं, जिसमें में वह अभिनय कर सकता है, जैसे फोन, ट्रेन, रेसिंग कार, किचन के छोटे-छोटे बर्तन और वह खिलौने जिन्हें बच्चा आसानी से खेल या पकड़ सकता है, जैसे ब्लॉक, प्लास्टिक की ईटें और इमारतें, ऐसे खिलौने जिनकी मदद से बच्चा एक्टिव रह सके, जैसे गेंद, तीन पहियों वाली साइकिल और संगीतमय खिलौने, जैसे जाइलोफोंस, ड्रम। आप अपने बच्चे के लिए छोटे फ्रेम ला सकती हैं जिन पर वह चढ़ सकता है या बस कुछ गद्दियों का ढेर बना सकती हैं या बाधाओं वाला रास्ता बना सकती हैं जिस में बच्चा बिना डर व चोट के मजे से खेल सकता है। आपके बच्चे को बाल कविताएं, गाने के साथ-साथ क्रियाएं करना, मोम के रंगों के साथ खेलना, उंगली से खेलना काफी दिलचस्प लग सकता है।

माता-पिता के लिए सुझाव

बच्चे के स्वास्थ्य और विकास के बारे में माता-पिता के लिए कुछ सुझाव निम्नलिखित हैं;

  • अपने बच्चे को किसी भी नुकसान से बचाने के लिए घर को सुरक्षित बनाना और संभावित खतरों को दूर करना महत्वपूर्ण है।
  • दाँतों की सड़न की संभावना को कम करने के लिए उसे अपने दाँतों को नियमित रूप से ब्रश करने के लिए प्रोत्साहित करें।
  • विशेषज्ञों का कहना है कि जो माता-पिता अपने बच्चे के साथ स्पष्ट और बार-बार बात करते हैं, वे बच्चे को अधिक शब्दावली और स्पष्टता के साथ बात करने में सहायता कर सकते हैं।
  • अपने बच्चे के लिए उसके भोजन, दिन में व रात में नींद लेने की दिनचर्या को निर्धारित करें।
  • 21 महीने का समय बच्चे को तैराकी सीखने के लिए भी एक सही समय है।

माता-पिता के लिए सुझाव

डॉक्टर से परामर्श कब करें

बच्चे के स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए हर माँ को अपने मन की बात ही सुननी चाहिए, इसी में बुद्धिमानी है। यदि आपको लगता है कि कुछ गलत है, तो मार्गदर्शन के लिए तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें। यदि बच्चा खाने में परेशान करता है, तो आप आहार विशेषज्ञ की सलाह ले सकती हैं। कुछ बच्चों को बोलना शुरू करने में देरी हो सकती है लेकिन 21 महीने के बच्चे का न बोलना एक चिंताजनक स्थिति है। इस समस्या के लिए अपने बच्चे की जांच स्पीच थेरेपिस्ट से करवाएं।

21 महीने की उम्र में आपका बच्चा एक छोटे साहसी व्यक्ति की तरह होता है, जो विभिन्न चीजों का पता लगाना चाहता है। इस प्रक्रिया में उसके अनेक कौशल का विकास होता है। यदि आप देखती हैं कि बच्चा लड़खड़ाते हुए या आक्रमक व्यवहार करता है तो उसे प्यार से समझाने का प्रयास करें। अपने बच्चे के साथ जीवन के इस चरण का आनंद लें और एक बार फिर अपने बचपन को दोबारा से जीने का अमूल्य अवसर प्राप्त करें।