बच्चों की उल्टी रोकने के लिए 13 प्रभावी घरेलू उपचार

बच्चों की उल्टी रोकने के लिए 13 प्रभावी घरेलू उपचार

Last Updated On

ऐसा जरूरी नहीं है कि बच्चों को हर बार उल्टी होना एक गंभीर समस्या ही हो। यद्यपि कभी-कभी बच्चे कुछ खाते ही या दूध पीते ही उल्टी कर देते हैं, किंतु कभी-कभी नवजात शिशुओं में दूध उलटने के कारण नई माएं चिंतित हो जाती हैं कि कहीं यह कोई गंभीर समस्या तो नहीं है। आप निश्चिंत रहें बच्चों में उल्टी, हमेशा गंभीर समस्या नहीं होती है परन्तु यदि आपका बच्चा बार-बार उल्टी करता है तो उसका इलाज करना आवश्यक है। आपका बच्चा मोशन सिकनेस, फूड पॉइजनिंग या अन्य समस्याओं से पीड़ित हो सकता है। अधिक उल्टी के कारण अक्सर बच्चों को दवा लेने में परेशानी होती है, ऐसे में आप बच्चे में उल्टी के लक्षण दिखने पर उनके लिए आप कुछ घरेलू उपचारों का उपयोग कर सकती हैं। निम्नलिखित लेख में, हम बच्चों की उल्टी के लिए कुछ सरल घरेलू उपचारों पर चर्चा करेंगे।

बच्चों की उल्टी को रोकने के प्राकृतिक घरेलु उपचार

उल्टी के कारण बच्चों में आंतरिक कमजोरी, डिहाईड्रेशन, चिड़चिड़ापन, पेट में दर्द और अन्य समस्याएं उत्पन्न होती हैं। अपने बच्चे में उल्टी को प्रभावी तरीके से रोकने के लिए निम्नलिखित घरेलू उपचारों को आजमा कर देखें, बच्चों में उल्टी के लिए कुछ उपचार इस प्रकार हैं;

१. तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाएं:

बच्चों में उल्टी अनेक समस्याओं का कारण होती है जिनमें से एक समस्या डिहाईड्रेशन है। उल्टी होने से बच्चों के शरीर में पानी की कमी होने के कारण वे डिहाइड्रेशन जैसी समस्या का भी शिकार हो जाते हैं। जिस कारण वे अत्यधिक कमजोरी महसूस कर सकते हैं, इस स्थिति में बच्चों की खोई हुई ऊर्जा वापस लाने के लिए उन्हें तरल आहार का सेवन कराएं। तरल आहार, जैसे सूप, जूस उनके शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं और डिहाइड्रेशन होने से रोकते हैं। यहाँ तक कि यदि उल्टी बंद भी हो जाती है तब भी लगभग 12 घंटों तक बच्चे को कोई भी ठोस आहार न दें, उन्हें सिर्फ तरल आहार देने की सलाह दी जाती है। बच्चे को किसी भी प्रकार का ठोस पदार्थ खिलाने से पहले खयाल रखें, उसकी पाचन प्रक्रिया में सुधार होना आवश्यक है। तरल आहार में आप अपने बच्चे को फल और सब्जियों प्यूरी, हल्का सूप, जूस या आइस-क्रीम जैसी चीजें दे सकती हैं।

२. अदरक का रस दें:

अदरक का रस दें

उल्टी, खट्टी डकार या उबकाई को रोकने के लिए अदरक अत्यधिक प्रभावी विकल्पों में से एक है। उपचार के लिए किस कर उसका रस निचोड़ लें और स्वाद के लिए शहद की कुछ बूंदें मिला लें। अदरक और शहद का मिश्रण बच्चों में उल्टी को खत्म करने के साथ-साथ पाचन प्रक्रिया में भी सुधार करता है।

३. पुदीने का रस भी अत्यधिक प्रभावी है:

ताजे पुदीने का तीव्र स्वाद उल्टी को खत्म करने में अधिक प्रभावी है। बच्चों को इसे उपचार के रूप में देने के लिए ताजे पुदीने की कुछ पत्तियों को पीसकर लगभग 1 चम्मच रस निकाल लें। पुदीने के रस में लगभग 1 चम्मच नींबू का रस और स्वाद के लिए लगभग 1 चम्मच शहद भी मिलाकर अपने बच्चे को खिलाएं। इससे बच्चे की उल्टी में तुरंत आराम मिलेगा, आप चाहें तो बच्चे को पुदीने की कुछ पत्तियां धो कर चबाने के लिए भी दे सकती हैं।

४. दालचीनी भी उल्टियों को रोकता है:

दालचीनी भी उल्टियों को रोकता है

दालचीनी के गुण पेट को शांत करते हैं और ठंडक पहुँचाने में मदद करते हैं। दालचीनी उल्टी और उबकाइयां जैसी समस्याओं में राहत देता है। बच्चों को दालचीनी देने के लिए आप सबसे पहले इसे पानी में कुछ मिनटों तक उबालकर एक कप में छान लें। फिर छने हुए पानी में स्वाद के लिए थोड़ा सा शहद मिलाकर अपने बच्चे को पीने के लिए दें।

५. चावल का पानी बच्चों की उल्टियों को रोकता है:

चावल का पानी जठरशोथ से होने वाली उल्टी को ठीक करने में मदद करता है। चावल का पानी बनाने के लिए एक कप सफेद चावल लेकर इसे दो कप पानी में उबालें। चावल पक जाने पर, अतिरिक्त पानी या स्टार्च छान लें और उल्टी को रोकने के लिए अपने बच्चे को यह पानी पिलाएं।

६. इलायची खिलाएं:

इलायची खिलाएं

बच्चों में उल्टी के लिए सबसे प्रभावी भारतीय घरेलू उपचारों में से एक इलायची के बीज हैं। इलायची के बीज आपके बच्चे के पेट को शांत करते हैं और यह उल्टी को कम करने में भी मदद करते हैं। आप आधा चम्मच इलायची के दाने पीसकर उसमें थोड़ी सी चीनी मिला लें। इस मिश्रण के सेवन से आपके बच्चे में उल्टी की समस्या में राहत मिलेगी

७. बच्चों में उल्टी ठीक करने के लिए लौंग भी दी जा सकती है:

यदि आपके बच्चे को बार-बार उल्टी होती है तो इससे छुटकारा पाने के लिए उसे लौंग दें। लौंग आपके बच्चे में उल्टी की समस्या को खत्म करता है और साथ ही यह पाचन के लिए भी अच्छा है। यदि आपका बच्चा इतना बड़ा है कि लौंग चबा सकता है, तो आप उसे कुछ लौंग दे सकती हैं या एक कप पानी में कुछ लौंग उबालकर छान लें। गुनगुने लौंग के पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर अपने बच्चे को पिलाएं, इससे भी उसे काफी आराम मिल सकता है।

८. सौंफ खिलाकर देखें:

सौंफ खिलाकर देखें

बच्चे की उल्टी के लिए सौंफ के बीज सबसे प्रभावी प्राकृतिक उपचार में से एक हैं। सौंफ में मौजूद एंटी-बैक्टेरियल गुण बच्चों में उल्टी व उबकाई को ठीक करने के लिए अद्भुत कार्य करते हैं। लगभग एक चम्मच सौंफ के बीज को एक कप पानी में 10 मिनट तक उबालकर, छान लें। आप यह पानी अपने बच्चे को दिन-भर में 3 से 4 बार पीने के लिए दें।

९. एक बार सेब का सिरका (एप्पल साइडर विनेगर) आजमा कर देखें:

सेब के सिरके में भी एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो बच्चों में उल्टी की समस्या को खत्म करने में सक्षम है। यह सिरका पेट को शांत करता है और डिटॉक्स करने में भी मदद करता है। एक गिलास पानी में एक छोटा चम्मच सेब सिरका और शहद मिलाकर आप अपने बच्चे को दिनभर में कई बार दे सकती हैं, यह काफी असरदार रहेगा।

१०. प्याज का रस भी काफी प्रभावी है:

प्याज का रस भी काफी प्रभावी है

प्याज एक एंटी-बैक्टीरियल खाद्य पदार्थ है और यह बच्चों में उल्टी की समस्या को कम भी कर सकता है। यदि आपके बच्चे को अत्यधिक उल्टियां हो रही हैं तो आप उसे प्याज का रस पिला सकती हैं। इसे बनाने के लिए प्याज के रस में बराबर मात्रा में अदरक का रस मिलाएं और स्वाद के लिए आप इसमें थोड़ा सा शहद भी मिला सकती हैं। अपने बच्चे को यह मिश्रण दिनभर में कई बार दें, यह उसे उल्टियों में काफी फायदा पहुँचाने में मदद करता है।

११. जीरा बच्चों की उल्टी में असरदार होता है:

जीरा पैन्क्रीऐटिक एंजाइम के स्राव को प्रोत्साहित करके पाचन संबंधी समस्याओं को ठीक करने में बहुत प्रभावी है। अपने बच्चे में उल्टी व उबकाई को दूर करने के लिए आप जीरे का उपयोग कर सकती हैं। इसके उपयोग के लिए लगभग एक चम्मच जीरे को भूनकर पीस लें और गुनगुने पानी में मिला लें और आप चाहें तो इसमें एक चुटकी जायफल भी मिला सकती हैं। यह मिश्रण अपने बच्चे को पिलाएं उसे काफी आराम मिलेगा।उल्टी ठीक करने के लिए आप जीरे के एक और विकल्प का उपयोग कर सकती हैं। इसके उपयोग के लिए आप जीरा पाउडर में इलायची पाउडर और शहद एक साथ मिलाकर बच्चे को दिन में कई बार चटा सकती हैं। यह भी बच्चों में उल्टी की समस्या को तुरंत ठीक करता है।

१२. कैमोमाइल टी बच्चों के लिए भी फायदेमंद है:

कैमोमाइल टी बच्चों के लिए भी फायदेमंद है

कैमोमाइल अपने सुखदायक और शांत गुणों के लिए जाना जाता है। मतली के एहसास को दूर रखकर यह पाचन में सहायता करता है और बच्चों को शांत नींद सुलाने में मदद करता है। गर्म पानी में एक चम्मच कैमोमाइल डालें और इसमें शहद मिलाएं। यह चाय अपने बच्चे को दिन में दो से तीन बार पिलाएं।

१३. लैवेंडर का तेल बच्चे के लिए प्रभावी है:

यह सुगंधित तेल उल्टी से पीड़ित बच्चों में ताजगी बढ़ाने के लिए भी जाना जाता है। यह तेल उल्टी के कारण सिर दर्द को ठीक करने और बच्चों को आरामदायक नींद लेने में मदद करता है। आप अपने बच्चे के तकिए या नैपकिन पर लैवेंडर के तेल की कुछ बूंदें डालें और इसकी खुशबू से उसे काफी आराम मिलेगा।

ऊपर दिए हुए सभी घरेलू उपचार आप अपने बच्चे को तुरंत देना शुरू कर सकती हैं और छोटे बच्चों के लिए आप इन समाग्रियों का उपयोग बहुत थोड़ी मात्रा में छोटे चम्मच की मदद से करें । इन सभी उपचारों को करने के बाद भी यदि आपके बच्चे की उल्टियां बंद नहीं होती हैं तो तुरंत डॉक्टर से जांच करवाएं।

हालांकि उल्टी की समस्या को घर पर ठीक किया जा सकता है, किन्तु फिर भी हम यह सुझाव देते हैं कि बच्चे पर ऊपर बताए हुए किसी भी उपचार का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।