अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब – महिलाओं के बांझपन का मुख्य कारण

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब (ब्लॉक्ड फैलोपियन ट्यूब)

Last Updated On

गर्भावस्था एक संपूर्णता का एहसास है जिसे हर महिला अपने जीवन में पाना चाहती है। किंतु दुर्भाग्य से कुछ महिलाओं को गर्भधारण में कठिनाई होती है। महिलाओं द्वारा अनेक प्रयासों के बाद भी गर्भधारण करने में असफलता के कई कारण हो सकते हैं जिनमें एक महत्वपूर्ण कारण है फैलोपियन ट्यूब अवरुद्ध का अवरुद्ध होना जिसे ब्लॉक फैलोपियन ट्यूब के नाम से भी जाना जाता है। फैलोपियन ट्यूब में रुकावट होने से महिलाओं में बांझपन की समस्या होती है लेकिन आज के समय में इस समस्या का इलाज भी है। चिकित्सा विज्ञान के प्रगति ने महिलाओं की इस जटिलता का समाधान दे दिया है और उनके लिए उपचारों के अनेक विकल्प उपलब्ध हैं। महिलाओं की फैलोपियन ट्यूब में रुकावट का निदान, इलाज, उपचार और अन्य सभी जानकारियों के लिए इस लेख को पूरा पढ़ें।

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब क्या है

फैलोपियन ट्यूब गर्भाशय और अंडाशय के बीच पेट की गुहा में स्थित होती है जिसे गर्भाशय नाल (यूट्रीन ट्यूब) या ओवीडक्ट भी कहा जाता है। गर्भधारण की प्रक्रिया में फैलोपियन ट्यूब का महत्वपूर्ण योगदान होता है। गर्भाशय के किसी एक तरफ 2 फैलोपियन ट्यूब होती हैं जिनकी मदद से शुक्राणु उस डिंब तक पहुँचता है जो डिंब अंडाशय से निकल कर शुक्राणु से मिलता है और निषेचन की प्रक्रिया हो पाती है। निषेचन के बाद निषेचित डिंब उन्हीं फैलोपियन ट्यूब में प्रवेश करके गर्भाशय तक पहुँचता है। यदि अंडाशय और गर्भाशय के बीच में किसी प्रकार की रुकावट होती है तो इसे फैलोपियन ट्यूब में रुकावट के रूप में जाना जाता है, इस स्थिति में महिलाओं की किसी एक या दोनों फैलोपियन ट्यूब में रुकावट हो सकती है।

Blocked Fallopian Tubes

क्या अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब बांझपन का कारण बनता है?

फैलोपियन ट्यूब में रुकावट, बांझपन का एक सामान्य कारण है और यह समस्या दुनियाभर में लगभग 40% महिलाओं में पाई जाती है। फैलोपियन ट्यूब में रुकावट के कारण न तो शुक्राणु डिंब तक पहुँचते हैं और न ही निषेचित डिंब गर्भाशय में प्रवेश कर पाता है। यह समस्या कई महिलाओं में पाई जाती है और वे बांझपन से पीड़ित होती हैं। फैलोपियन ट्यूब की समय पर जांच व सही उपचार करने से बांझपन की समस्या को दूर किया जा सकता है।

क्या अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब के साथ गर्भवती होना संभव है?

आपकी स्थिति के आधार पर फैलोपियन ट्यूब में रुकावट के साथ गर्भवती होना मुश्किल है, लेकिन असंभव नहीं है। इस जटिलता का इलाज करने के विभिन्न तरीके हैं और डॉक्टर आपकी आवश्यकताओं के अनुकूल ही उपचार के नियम पर आपको सलाह देना सुनिश्चित करते हैं।

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब के प्रकार

फैलोपियन ट्यूब में किस स्थान पर ब्लॉकेज है इसके आधार पर ब्लॉकेज निम्नलिखित 3 प्रकार से होता है;

  • समीपस्थ फैलोपियन ट्यूब में रुकावट (प्रोक्सिमल फैलोपियन ट्यूब ब्लॉकेज) – जब फैलोपियन ट्यूब में रुकावट गर्भाशय के बिलकुल पास में होती है उसे प्रोक्सिमल फैलोपियन ट्यूब ब्लॉकेज के नाम से जाना जाता है।
  • मध्यस्थ (मीडियल ब्लॉकेज) – फैलोपियन ट्यूब के मध्य भाग में रुकावट को मीडियल ब्लॉकेज कहा जाता है।
  • दूरस्थ अवरोध (डिस्टल ब्लॉकेज) – फैलोपियन ट्यूब के अंतिम भाग में फिंब्रिया के पास ब्लॉकेज को डिस्टल ब्लॉकेज कहा जाता है।

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब के कारण

फैलोपियन ट्यूब में रुकावट के कुछ कारण निम्नलिखित हैं, आइए जानते हैं;

  • पी.आई.डी. या श्रोणि में सूजन: संक्रमण होने से श्रोणि में सूजन हो सकती है। यह एक यौन संचारित रोग है जिसके कारण अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब हो सकती है।
  • एस.टी.डी.: क्लैमाइडिया और गोनोरिया जैसे अन्य यौन संचारित रोग भी अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब के अन्य कारण हो सकते हैं। कभी-कभी ऐसा भी हो सकता है कि आप किसी भी यौन संचारित रोग से उबर चुकी हों परंतु आपको पहले यह समस्या हो चुकी है जिस कारण से भी आपकी फैलोपियन ट्यूब में रुकावट आ सकती है।
  • अन्तर्गर्भाशय-अस्थानता (एंडोमेट्रिओसिस): यह अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब का सबसे आम कारण है । हर महीने मासिक धर्म चक्र के दौरान गर्भाशय में एक परत बन जाती है, जो बाद में मासिक धर्म के रूप में निकल जाती है। जो महिलाएं एंडोमेट्रिओसिस से पीड़ित हैं, उनमें यह परत गर्भाशय के बाहर बनती है और अत्यधिक स्थिति में यह परत फैलोपियन ट्यूब, योनि या मलाशय तक भी बन जाती है। यह समस्या और भी गंभीर तब हो जाती है जब गर्भाशय की यह परत बाहर न निकलने के कारण जमा हो जाती है और बढ़ती रहती है। यह समस्या फैलोपियन ट्यूब में रुकावट और ऊतकों में क्षति का कारण बनती है।
  • सर्जरी: यदि आपको पहले कभी ऐसी सर्जरी हो चुकी हो जिसमें फैलोपियन ट्यूब भी शामिल हैं तो भी अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब आ सकती है।
  • पथरी (एपेंडिसाइटिस): कुछ मामलों में टूटी हुई एपेंडिक्स भी अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब का कारण बन सकती है।
  • हॉर्मोनल असंतुलन: हॉर्मोन में असंतुलन के कारण भी अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब हो सकती है।

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब के लक्षण

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब के लक्षण ज्यादातर दिखते नहीं हैं। यदि आपको संदेह है कि आपकी फैलोपियन ट्यूब में ब्लॉकेज है तो इसके लिए कुछ लक्षणों पर ध्यान दें, जैसे;

  • गर्भवती होने में असमर्थता
  • पेट में दर्द
  • संभोग के दौरान दर्द
  • आपके नियत मासिक धर्म चक्र के बीच अनियमित माहवारी और धब्बे आना, यह अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब का अन्य संकेत हो सकता है।
  • यदि अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब एंडोमेट्रिओसिस के कारण होती है तो श्रोणि में सूजन व अत्यधिक दर्द हो सकता है।

निदान

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब का निदान करने के लिए डॉक्टर निम्नलिखित परीक्षण कर सकते हैं:

  • हिस्टेरोसैल्पिंगोग्राम (एच.एस.जी.): इसमें एक छोटी सी ट्यूब का उपयोग करके गर्भाशय ग्रीवा के माध्यम से थोड़ा रंग डाला जाता है। रंग अंडाशय से श्रोणि गुहा तक फैल गया है या नहीं, यह श्रोणि क्षेत्र के एक्स-रे से पता चलता है। यदि रंग नहीं फैला है, तो फैलोपियन ट्यूब में रुकावट हो सकती है और आगे इसका परीक्षण करने की आवश्यकता है।
  • अल्ट्रासाउंड: डिंबवाही नलिकाओं की जांच करने और असामान्यता का पता लगाने के लिए योनि के माध्यम से अल्ट्रासाउंड किया जाता है।
  • हिस्टेरोस्कोपी: इसमें गर्भाशय की जांच करने के लिए गर्भाशय ग्रीवा पर एक कैमरा लगाया जाता है।
  • रक्त परीक्षण: रक्त परीक्षण शरीर में क्लैमाइडिया नामक एंटीबॉडी की उपस्थिति का पता लगाने में मदद करता है।

Woman undergoing blood test

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब होने के कारण गर्भधारण में जटिलताएं

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब की समस्या का होना, अक्सर अस्थानिक गर्भावस्था का कारण बन जाता है। यह वो स्थिति है जिसमें निषेचित डिंब गर्भाशय के अलावा किसी अन्य स्थान पर प्रत्यारोपित हो जाता है। इस प्रकार की गर्भावस्था गर्भवती महिला के लिए एक गंभीर खतरा उत्पन्न कर सकती है और यह जानलेवा भी हो सकती है। यदि सर्जरी के माध्यम से प्रभावित ट्यूब को आंशिक रूप से हटाया जाता है तो अस्थानिक गर्भावस्था की संभावना बढ़ सकती है। आमतौर पर यह सलाह दी जाती है कि जिन महिलाओं को यह समस्या है या हुई है, वे आई.वी.एफ. (इन विट्रो फर्टिलाइजेशन) का चयन करें।

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब का उपचार

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब के लिए उपचार उपलब्ध हैं लेकिन यह इस बात पर निर्भर करता है कि फैलोपियन ट्यूब में ब्लॉकेज की क्या स्थिति है। यदि दो फैलोपियन ट्यूब में से केवल एक में ही ब्लॉकेज या रुकावट है, तो आप अधिक मदद के बिना ही गर्भधारण कर सकती हैं क्योंकि डिंबोत्सर्जन में अंडाशय बारी-बारी से दोनों फैलोपियन ट्यूब से जुड़ता है। इसके उपचार के लिए निम्नलिखित सलाह दी जाती है, आइए जानते हैं;

  • गर्भावस्था की संभावना को बढ़ाने के लिए इंफर्टिलिटी की दवाएं ली जा सकती हैं।
  • यदि आपकी फैलोपियन ट्यूब, ऊतकों में क्षति के कारण अवरुद्ध हुई है तो इन ऊतकों को हटाने के लिए लेप्रोस्कोपिक उपचार किया जा सकता है।
  • सैल्पिंगेक्टोमी एक और शल्य प्रक्रिया है जिसमें फैलोपियन ट्यूब का अवरुद्ध हिस्सा हटा दिया जाता है जबकि फैलोपियन ट्यूब का बाकी हिस्सा वापस जोड़ दिया जाता है।
  • अगर फिंब्रिया में कोई क्षति होती है तो फिम्ब्रियोप्लास्टी की जाती है। इस प्रक्रिया की सहायता से रोमक और फिंब्रिया से चिपके हुए ऊतकों की क्षति का इलाज किया जाता है।

अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब के लिए घरेलू उपचार

फैलोपियन ट्यूब में ब्लॉकेज को खत्म करने के लिए अनेक घरेलू उपचार हैं किन्तु यह इसपर आधारित है कि आपकी फैलोपियन ट्यूब किस हद तक अवरुद्ध है। ऊतकों की अत्यधिक क्षति के कारण ब्लॉकेज होने पर शल्यक्रिया की आवश्यकता हो सकती है। यदि ब्लॉकेज बहुत कम है या दो डिंबवाही नलिकाओं में से केवल एक अवरुद्ध है, तो निम्नलिखित प्राकृतिक तरीके आपकी मदद कर सकते हैं।

  • आपकी पिट्यूटरी ग्रंथियों के इलाज के लिए हॉर्मोन का संतुलन करने वाली प्राकृतिक दवाएं दी जा सकती हैं – पिट्यूटरी ग्रंथियों वे ग्रंथियां हैं जो हॉर्मोनल गतिविधि के लिए जिम्मेदार होती हैं।
  • औषधीय चिकित्सा, जिसमें प्रजनन क्षमता की संभावना को बढ़ाने के लिए हर्ब्स, जैसे कि गोल्डनसील, अदरक की जड़, नागफनी, पेओनी की जड़ और जंगली रतालू (याम) दिए जाते हैं। यह जड़ी-बूटियां संचार प्रणाली को प्रभावित करती हैं, लसीका प्रणाली को उत्तेजित करती हैं, प्रोजेस्टेरोन के स्तर को बढ़ाती हैं और एस्ट्रोजन व टेस्टोस्टेरोन के स्तर को संतुलित करती हैं, किसी भी आसंजन व क्षति को ठीक करती हैं, जमाव व सूजन को कम करती हैं, ऑक्सीजन को अवशोषित करने में मदद करती हैं और इस साथ-साथ रक्त प्रवाह में सुधार करती हैं।
  • अरंडी के तेल (कैस्टर ऑयल) का तेल श्रोणि के बाहरी क्षेत्र में लगाने से परिसंचरण में सुधार आता है और आपके पेट व श्रोणि के ऊतकों को ठीक होने में मदद मिलती है। अरंडी का तेल लसीका प्रणाली को उत्तेजित करने में भी मदद करता है, जिसके परिणामस्वरुप यह सभी चयापचय अपशिष्ट, मृत कोशिकाओं और पुराने ऊतकों को हटाने में मदद कर सकता है।

Castor oil

  • प्रजनन अंग या पेट की मालिश करने से भी डिंबवाही नलिका ठीक हो सकती है। नियमित रूप से मालिश आपके परिसंचरण को बेहतर बनाने और अवरुद्ध मार्ग को साफ करने में मदद करती है। मालिश एंडोमेट्रिओसिस में होने वाले किसी भी दर्द को दूर करने में मदद कर सकती है। यह किसी ऊतकों की क्षति को ठीक करती है और साथ ही सूजन को कम करने में मदद कर सकती है।यह मुड़े हुए ऊतक या ऊतकों में खिंचाव को ठीक करने में भी मदद करती है।
  • प्रजनन मार्ग को साफ करना भी अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब को खत्म करने का एक और तरीका है। इसमें हर्ब्स और प्राकृतिक एंटीबायोटिक की मदद से प्रजनन मार्ग को साफ किया जाता है। यह उपचार आपके प्रजनन अंगों के लिए लगभग डिटॉक्सिफिकेशन की तरह ही है।
  • व्यवस्थित एंजाइम चिकित्सा, जिसमें प्राकृतिक रूप से आपके शरीर में पाए जाने वाले एंजाइम का उपयोग ऊतकों की क्षति को खत्म करने, अवरोध को कम करने, सूजन को दूर करने और प्रजनन मार्ग को साफ करने के लिए की जाती है।

रोकथाम

यह बात बिलकुल सही है कि रोकथाम हमेशा इलाज से बेहतर होता है। यहाँ रोकथाम के कुछ निम्नलिखित उपाय हैं जो आप कर सकती हैं, आइए जानते हैं;

  • शराब पीने और धूम्रपान करने से बचें।
  • ध्यान (मेडिटेशन) का अभ्यास करें। यह आपके तनाव के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है।
  • घर में या योग क्लास में परन्तु योग जरूर करें। योग में बद्धकोणासन और सेतुबंधासन जैसे कुछ आसन हैं जो आपके प्रजनन अंगों के स्वास्थ्य को बेहतर करने में मदद कर सकते हैं।
  • जंक फूड के अधिक सेवन से बचें। ताजे फल, हरी पत्तेदार सब्जियां और नारियल के तेल जैसे खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करें। इसमें एंटीऑक्सीडेंट उच्च मात्रा में होता है। खट्टे खाद्य पदार्थ, अंडे, आम, तुरई और पालक कैरोटिनॉइड से भरपूर होते हैं, जो आपके एंजाइम की और साथ ही परिसंचरण में भी मदद करते हैं।
  • विटामिन ‘सी’ के सेवन को बढ़ाएं – यह सूजन को कम करने में मदद करता है।
  • हर्बल टैम्पोन का उपयोग करें, इनमें गोल्डनसील और डोंग क्वाई जैसी हर्ब होती हैं, जो फैलोपियन ट्यूब को साफ करने में मदद कर सकती हैं।

जैसा कि पहले भी बताया गया है कि अवरुद्ध फैलोपियन ट्यूब के साथ गर्भवती होना कठिन है परंतु असंभव नहीं है, विशेषकर तब जब इस समस्या का इलाज जल्द से जल्द करवा लिया जाए। डॉक्टर से अपनी स्थिति के बारे में जानें और समझें कि आपके लिए सबसे अच्छा उपाय क्या है। स्वस्थ जीवनशैली व स्वस्थ आहार और नियमित व्यायाम इसके लिए सहायक साबित हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

बांझपन के उपचार के लिए इन विट्रो फर्टीलाइजेशन (आई.वी.एफ)
सहायक प्रजनन तकनीक (ए.आर.टी.) – बाँझपन का उपचार