गर्भनिरोधक गोलियां

A Brief Guide on Oral Contraceptive Pills

In this Article

Last Updated On

गर्भनिरोधक गोलियां वैसी दवाएं होती हैं जो अनचाही गर्भावस्था को रोकने लिए मासिक धर्म चक्र के अनुसार महिलाओं को दी जाती हैं। विज्ञान प्रगति की मदद से गर्भनिरोधक गोलियां, जन्म नियंत्रण का एक प्रभावी, सुरक्षित और सस्ता तरीका बन चुका है।

गर्भनिरोधक गोलियां क्या होती हैं?

गर्भनिरोधक गोलियां अनचाही गर्भावस्था को रोकने की दवाएं होती हैं (जिन्हें ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स या ओ.सी.पी. भी कहा जाता है) जिसमें महिलाओं के एस्ट्रोजन व प्रोजेस्टेरोन नामक दो हॉर्मोन या फिर दोनों में से एक निश्चित मात्रा में मौजूद होते हैं। इन गोलियों को प्रत्येक मासिक धर्म के दौरान हॉर्मोनल स्तर में बदलाव करने के लिए तैयार किया जाता है ताकि डिंबोत्सर्जन और गर्भावस्था को रोका जा सके।

गर्भनिरोधक गोलियों के प्रकार

हॉर्मोनल गर्भनिरोधक की विभिन्न गोलियां अब व्यावसायिक रूप से उपलब्ध हैं। अधिकांश गोलियों में प्रोजेस्टिन ओनली (प्रोजेस्टेरोन) या निश्चित अनुपात में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टिन दोनों मौजूद होते हैं।

1. प्रोजेस्टिनओनली पिल या मिनी

प्रोजेस्टिनओनली पिल्स या पी..पी. में सिर्फ प्रोजेस्टिन मौजूद होता है (मानव में मौजूद प्रोजेस्ट्रोन नामक प्राकृतिक हॉर्मोन का एक सिंथेटिक रूप) जिसमें एस्ट्रोजन हॉर्मोन बिलकुल भी मौजूद नहीं है। पी..पी. को मासिक धर्म के साधारण सभी दिनों में मौखिक रूप से लेने की आवश्यकता होती है। साधारणतः मासिक धर्म 28 दिनों का होता है इसलिए यह दवाएं भी 28 गोलियों के ब्लिस्टर पैक में उपलब्ध हैं। कुछ अन्य दवाओं के विपरीत, अच्छे परिणामों के लिए इन गोलियों का नियमित और रोज़ाना सेवन करें। निर्धारित अनुसार इन गोलियों को लेने से आपका अगला मासिक धर्म जिस दिन आपने ब्लिस्टर पैक से पहली गोली का सेवन किया था, उस दिन से 28 दिनों में होने की संभावना होती है। शुरुआती कुछ महीनों में अनियमित चक्र या असामान्य स्पॉटिंग के बारे में डॉक्टर से सलाह लें। एस्ट्रोजन के न होने के कारण पी. . पी. के दुष्प्रभाव कम होते हैं, जैसे वज़न बढ़ना और इत्यादी ।

2. संयुक्त पिल (कॉम्बिनेशन पिल)

संयुक्त पिल (कॉम्बिनेशन पिल) में प्रोजेस्टिन के साथसाथ एस्ट्रोजन भी मौजूद होता है। इन गोलियों को प्रोजेस्टिन हॉर्मोन की खुराक और अनुपात के अनुसार आगे वर्गीकृत किया गया है:

  • मोनोफेज़िक गोली: एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टिन की निश्चित खुराक।
  • द्विचरणीय (बाय फेज़िक) गोली: एस्ट्रोजन की निश्चित खुराक जबकि प्रोजेस्टिन की खुराक चक्र के मध्य से आधी बढ़ जाती है।
  • त्रिचरणीय गोली: एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टिन की तीन अलगअलग खुराकें जो हर 7 दिनों में बदलती हैं।
  • चौथे चरण की गोली: 28 दिनों तक एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टिन की 4 अलगअलग खुराकें दी जाती हैं।
  • 91 दिन की गोली: 84 दिनों के लिए एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टिन की एक निश्चित खुराक शामिल होती है।

यह गोलियां 28 या 21 दिनों के ब्लिस्टर पैक में उपलब्ध हैं। अन्य फॉर्मूलों की तरह इन मिश्रित गोलियों को मासिक धर्म की शुरुआत के साथ शुरू किया जाता है और तब तक जारी रखा जाता है जब तक आप अपना अगला चक्र प्राप्त नहीं कर लेती हैं। 21 दिन के ब्लिस्टर पैक में सिर्फ इतना अंतर होता है कि पहली 21 गोलियों में सक्रिय हॉर्मोन होते हैं, जबकि अंतिम 7 कृत्रिम गोलियां होती है जिनमें कोई सक्रिय दवा नहीं होती है । इन 7 कृत्रिम गोलियों का उद्देश्य आपको रोज़ गोलियां लेने की आदत डालना है और आपको गोलियां रहित समय प्रदान करना भी है । सलाह के अनुसार गोली समय पर लेने से, प्रत्येक ब्लिस्टर पैक आपके मासिक धर्म चक्र के 28 दिनों तक रहता है और कोर्स के अंतिम सप्ताह में जब आप कृत्रिम दवाओं का सेवन करती हैं तब आपका मासिक धर्म शुरु हो सकता है।

गर्भनिरोधक गोलियां अनियमित मासिक धर्म से जुड़ी होती है जिस कारण से अपेक्षा अनुसार आपकी माहवारी समय पर नहीं भी हो सकती है, अधिक जानकारी के लिए स्त्री रोग विशेषज्ञ से संपर्क करें। ओ.सी.पी. का सेवन करने वाली महिलाएं लगातार न्यूनतम स्पॉटिंग का अनुभव कर सकती हैं।

3. आपातकालीन गर्भनिरोधक गोली

इन गोलियों में लेवो नॉर्गेस्टेरॉल (एक एस्ट्रोजन सदृश) की खुराक कम होती है और अनचाही गर्भावस्था को रोकने के लिए असुरक्षित संभोग के 72 घंटों के भीतर ली जा सकती है।

गर्भनिरोधक गोली के प्रकार चुनें

आपके शारीरिक मापदंडों और हॉर्मोनल या मासिक धर्म की प्रतिक्रिया के आधार पर, स्त्रीरोग विशेषज्ञ आपको एक संयुक्त गोली (कॉम्बिनेशन पिल) या प्रोजेस्टिनओनली गोली का कोर्स दे सकते हैं । विभिन्न गोलियों की प्रतिक्रिया हर महिला में अलग होती है और इन दवाओं का सही ढंग से पालन यह तय करता है कि किस प्रकार की ओ.सी.पी. आपके लिए सबसे उपयुक्त है।

गर्भनिरोधक गोली

जन्म नियंत्रण गोलियां कितनी सुरक्षित होती हैं?

आमतौर पर, मौखिक गर्भनिरोधक गोलियां ज़्यादातर उन महिलाओं के लिए सुरक्षित होती हैं, जिनमें कोई भी मौजूदा बीमारी नहीं है और जो दीर्घकालिक दवाएं भी नहीं ले रही हैं। हालांकि, ऐसी कुछ स्थितियां हैं जिनमें डॉक्टर खुराक को अनुकूलित करते हैं या दवाओं के दुष्प्रभावों से बचने के लिए गर्भनिरोध की अन्य कोई पद्धति अपनाने की सलाह दे सकते हैं।

निम्नलिखित स्थितियों और दवाओं की एक सूची दी हुई है जिसमें आपको ओ.सी.पी. से बचने की आवश्यकता है:

  1. गर्भावस्था और प्रसव के बाद के शुरुआती कुछ सप्ताह: गर्भावस्था अपने आप में गर्भनिरोधक का एक प्राकृतिक तरीका है, इसलिए यदि आप गर्भवती हैं तो ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे आपका शरीर फिर से गर्भधारण कर सके और आपको गर्भनिरोधक की आवश्यकता नहीं है । प्रसव के बाद शुरुआती 4-6 सप्ताह जब आप विशेष रूप से स्तनपान करवाती हैं, तो बेहतर है आप ओ.सी.पी. लेने से बचें।
  2. पुरानी या पहले से मौजूद हृदय संबंधी समस्याएं, जैसे कोरोनरी रोग, हृदय की गति रुकना या वॉल्वुलर स्थितियां
  3. लंबी हड्डी का फ्रैक्चर, अस्वस्थ मोटापा, स्ट्रोक या शय्याग्रस्त स्थिति, निचले अंगों में शिरापरक घनास्त्रता के लिए प्रवृत्त होना
  4. वंशानुगत रक्तस्राव विकार (हिमोफिलिया)
  5. लंबे समय तक या जटिल उच्च रक्तचाप या मधुमेह
  6. संयोजी ऊतक विकार, जैसे सिस्टमेटिक ल्यूपस एरिथेमॅटोसस
  7. हेपेटिक या यकृत में दुर्बलता, यकृत की पुरानी बीमारी
  8. लंबे समय तक वारफरीन या एंटीएपिलेप्टिक दवाओं पर रहनेवाले मरीज

आप कब गर्भनिरोधक गोली लेना शुरू कर सकती हैं?

प्रसव के बाद, रक्त के जमने की प्रक्रिया अब भी सक्रीय होती है (प्रोथ्रोम्बोटिक और प्रोएथेरोजेनिक), .सी.पी.शुरू करने से पहले किसी भी तरह के ऑर्थोएम्बॉलिक जटिलताओं से बचने के लिए लगभग छह सप्ताह की अवधि तक प्रतीक्षा करना उचित होता है।।

आप इस अवधि के दौरान संभोग न करें या गर्भनिरोधक का कोई अन्य तरीका चुनें, जैसे कंडोम । एक बार जब आपका मासिक धर्म फिर से शुरू हो जाता है, तो यह पुष्टि करता है कि आप पहले से ही गर्भवती नहीं हैं (यदि आपने असुरक्षित यौन संबंध बनाया था) और साथ ही इसकी भी पुष्टि करता है कि आप गर्भावस्था से पहले होने वाले अंडोत्सर्ग के लिए भी तैयार हैं । आपके मासिक धर्म के पहले दिन से ही मौखिक गर्भनिरोधक गोलियां लेना शुरू करना सुरक्षित है। ।चूंकि ओ. सी. पी. पहले दिन से गर्भावस्था को रोकने में प्रभावी नहीं है इसलिए इसे शुरू करने के बाद शुरुआती कुछ दिनों या सप्ताह के लिए बैरियर कंट्रासेप्टिव, जैसे कंडोम और इत्यादि का उपयोग जारी रखना उचित है।

क्या आपको किसी वैकल्पिक पद्धति की आवश्यकता है?

अनचाही गर्भावस्था से बचने के लिए, मौखिक गर्भनिरोधक गोलियों को शुरू करने के बाद कम से कम 7-8 दिनों के लिए गर्भनिरोधक की एक और विश्वसनीय पद्धति का उपयोग करना एक उचित विकल्प है। आपका साथी कंडोम का उपयोग कर सकता है क्योंकि आप दोनों को यौन संचारित रोगों से बचाने के अलावा यह जन्म नियंत्रण के लिए भी उपयुक्त है। वैकल्पिक विधि के उपयोग से निश्चित ही एक अच्छा प्रभाव पड़ता है और एक एकल विधि की तुलना में यह जन्म नियंत्रण की सफलता दर को बढ़ाता है।

गर्भनिरोधक गोलियां कार्य कैसे करती हैं?

गर्भनिरोधक गोलियां मुख्य रूप से निम्नलिखित में से एक या दोनों तंत्रों द्वारा कार्य करती हैं:

1. डिंबोत्सर्जन रोकथाम

डिंबोत्सर्जन एक महिला के अंडाशय से एक परिपक्व डिंब या अंडे का निर्माण और मुक्त होता है। यह आमतौर पर मासिक धर्म चक्र के 14वें दिन होता है। मानव शुक्राणु महिला जननांग पथ में लगभग 4 दिनों तक जीवित रहते है, जबकि डिंब केवल 2 दिनों तक जीवित रहते हैं। यदि अंडोत्सर्ग की इस अवधि के दौरान असुरक्षित संभोग हुआ है, तो जमा शुक्राणु परिपक्व डिंब या अंडाणु को निषेचित करते हैं। ओ.सी.पी. एस्ट्रोजन, प्रोजेस्टेरोन के हॉर्मोनल स्तर में हेरफेर करके अंडोत्सर्ग को रोकते हैं और इसीलिए ल्यूटिनायज़िंग हॉर्मोन (LH) और फॉलिकल स्टिमुलेटिंग हॉर्मोन (FSH) जो मुख्य रूप से डिंबोत्सर्जन को नियंत्रित करते हैं।

2. शुक्राणुनाशक गुण

.सी.पी. गर्भाशय ग्रीवा के म्यूकस (श्लेष्म) को गाढ़ा करते हैं और पथ में एक अम्लीय माध्यम बनाते हैं, जो इसे महिला जननांग पथ में शुक्राणु के प्रवेश और अस्तित्व के लिए प्रतिकूल बनाता है।

कितनी जल्दी यह गोलियां कार्य करना शुरू कर देती हैं?

आपके मासिक धर्म के पहले दिन से संयुक्त पिल शुरू की गई हों तो गर्भधारणा से बचने के लिए तत्काल सुरक्षा प्रदान करती हैं। हालांकि, अगर गोली आपके मासिक धर्म के साथ शुरू नहीं की गई हो तो संरक्षण देने के लिए सात दिन तक का समय ले सकती हैं। इस समय के दौरान संभोग से परहेज करना या कंडोम का उपयोग करना उचित है।

जिन महिलाओं ने पी..पी. या प्रोजेस्टिनओनली पिल की शुरुआत की है, उन्हें विश्वसनीय सुरक्षा प्रदान करने के लिए पहले दो दिनों तक या तो इंतजार करना चाहिए या कंडोम जैसी बैकअप विधि का उपयोग करना चाहिए। इसके अलावा, यदि आप किसी पी..पी. की गोलियां नहीं लेती हैं, तो गोलियों के साथ अगले दो दिनों के लिए बेहतर अवरोध का उपयोग करें।

गर्भ निरोधक गोलियां कैसे लें?

जन्म निरोधक और गर्भनिरोधक गोलियों में से उपयुक्त विकल्प को चुनने के लिए अपने साथी या डॉक्टर से चर्चा करें। एक बार जब आप ओ.सी.पी. का उपयोग करने के लिए प्रेरित होते हैं, तो आप डॉक्टर द्वारा लिखे गए पर्चे का अनुसरण करें, ब्लिस्टर पैक के साथ उपयोगकर्ता के निर्देशों को ध्यान से पढ़ें। आपके पास हमेशा अतिरिक्त ब्लिस्टर पैक, कंडोम और आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियां होनी चाहिए।

21 या 28 दिन के कोर्स पर आधारित आपको दी हुई गोलियों की शुरुआत मासिक धर्म के पहले दिन से होती है। आप लगातार रोज़ाना एक गर्भनिरोधक गोली ले सकती हैं। इसके पीछे का कारण आपके मासिक धर्म चक्र के पहले 21 दिनों में गोलियों के जरिए हॉर्मोन को सक्रीय करने का है, शेष 7 गोलियां आमतौर पर खाली होती हैं, चीनी की गोलियां या कुछ मामलों में इसमें कम खुराक वाला प्रोजेस्टेरोन हो सकता है।

गर्भ निरोधक गोलियां कैसे लें

हर दिन एक ही समय पर, कोर्स के दौरान संभोग की आवृत्ति के बारे में विचार किए बिना, यह आवश्यक है कि आप गोलियां नियमित रूप से लें। जब तक कि आपके पास असहनीय लक्षण न हों, जैसे उल्टी, गैस्ट्राइटिस या दस्त, या वर्णन किए गए किसी भी खत्रे के संकेत, कोर्स के बीच में गोलियों को बंद न करें क्योंकि यह आपकी गर्भावस्था के खतरे को बढ़ा सकता है।

गोलियों के कारण किसी भी दुष्प्रभाव के लिए चिकित्सक से परामर्श लें। आप अगली खुराक से पहले जितनी जल्दी हो सके इसे दोहरा कर एक अलग छूटी हुई खुराक की भरपाई कर सकती हैं। यदि आप नियमित रूप से और अपने ओ.सी.पी. परहेज के अनुकूल हैं, तो आपका इस कोर्स की शुरुआत से 28 दिनों के अंत में अपना अगला मासिक धर्म शुरू हो जाना चाहिए। इससे गर्भावस्था की संभावना कम होती है और यह पुष्टि करता है कि ओ.सी.पी. आपके लिए कार्य कर रहा है और अगले ब्लिस्टर पैक को शुरू करने का संकेत देता है।

गर्भनिरोधक गोलियों को अपने फायदे के लिए कैसे उपयोग करें?

अवांछित दुष्प्रभावों के कारण ओ.सी.पी. छोड़ने, डॉक्टर द्वारा बताए गए नियमित रूप से उन्हें लेने में विफलता और स्त्रीरोग विशेषज्ञ के साथ नियमित रूप से फॉलोअप नहीं करना, .सी.पी. की विफलता के सामान्य बताए गए कारण हैं। निम्नलिखित कुछ चरण इन गोलियों को आपके लिए लाभकारी बनाने में मदद कर सकते हैं।

  • गोली का समय याद दिलाने के लिए एक अलार्म, एक डायरी या ऐप का उपयोग करें।
  • अपने दैनिक उपयोगिता बॉक्स या बैग में पिलबॉक्स रख सकती हैं।
  • आपके साथी या परिवार के अन्य सदस्य जो नियमित दवाइयां लेती हैं आपको गोली लेने की याद दिलाने में मदद कर सकती हैं।
  • बहुत अधिक चाय और कॉफी से बचें क्योंकि यह दवाओं के अवशोषण को कम करते हैं।
  • प्रभावकारिता में सुधार करने के लिए धूम्रपान और शराब के सेवन से बचें।
  • अन्य दीर्घकालिक दवाओं को लेने से बचें या डॉक्टर से इसके संबंध में सलाह लें, क्योंकि ओ.सी.पी. में कई सामान्य दवाओं का पारस्परिक प्रभाव होता है, जो इन ओ.सी.पी की प्रभावशीलता को कम करती हैं।
  • अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ का नियमित रूप से अनुसरण करें ।
  • दवाओं के चलते इनके दुष्प्रभावों का शिकार न बनें, उन्हें डॉक्टर की सलाह और सरल जीवनशैली में बदलाव से टाला जा सकता है।
  • चूंकि ओ.सी.पी. 100% प्रभावी नहीं होती है, बेहतर सुरक्षा (एस. टी. डी. से बचने के लिए) और प्रभावकारिता (जन्म नियंत्रण) के लिए संभोग करते समय एक कंडोम का उपयोग करें।

क्या आप स्तनपान कराते समय गोलियों का उपयोग कर सकती हैं?

पुरुष द्वारा कंडोम के उपयोग की तरह गर्भनिरोधक की बाधा या शारीरिक पद्धतियाँ दूध पिलाने वाली मांओं के लिए आदर्श है। स्तनपान के दौरान हॉर्मोनल गर्भ निरोधक से बचना ही बेहतर है। यदि आपको अन्य संकेतों के कारण हॉर्मोनल गर्भनिरोधक की सलाह दी जाती है, तो प्रोजेस्टिनओनली पिल (पी..पी.) लेना ही बेहतर है। एस्ट्रोजेन को माँ द्वारा उत्पादित दूध की मात्रा में बाधा के लिए जाना जाता है। बच्चे के जन्म के बाद छह हफ्तों तक इसे लेने से बचें क्योंकि गर्भावस्था और एस्ट्रोजन दोनों प्रोथ्रोम्बोटिक के लिए होते हैं और विशेष रूप से निचले अंगों की बड़ी नसों में रक्त के थक्के होने की संभावना को बढ़ा सकते हैं।

गर्भनिरोधक गोलियों की प्रभावशीलता

मौखिक गर्भनिरोधक गोलियों की कुल प्रभावकारिता लगभग 97% पाई जाती है, लेकिन व्यावहारिक रूप से सिर्फ हॉर्मोनल गर्भनिरोधक के उपयोग के साथ 91% सफलता दर स्वीकार्य है।

दवाओं का अच्छी तरह से पालन, अपने साथी के साथ समन्वय और स्त्री रोग विशेषज्ञ का नियमित रूप से अनुसरण हॉर्मोनल गर्भ निरोधकों के साथ जन्म नियंत्रण में सफलता के प्रमुख कारक हैं।

कंडोम जैसे अन्य गर्भनिरोधक तरीकों का एक साथ उपयोग, गर्भावस्था की रोकथाम के दर में महत्वपूर्ण सुधार कर सकता है।

लाभ

निम्नलिखित ओ.सी.पी. के प्रमुख लाभ कुछ इस प्रकार हैं:

  • प्रतिवर्ती: अंतर्गर्भाशयी उपकरणों (आई.यू.डी.) के विपरीत, जब भी गर्भावस्था वांछित होती है, .सी.पी. को सुरक्षित रूप से बंद किया जा सकता है और इसलिए यह आसानी से प्रतिवर्ती गर्भनिरोध का तरीका माना जाता है।
  • मासिक धर्म लाभ: .सी.पी. आपके मासिक धर्म चक्र को नियमित करने में मदद कर सकता है(हालांकि, यह कुछ मामलों में अनियमित मासिक धर्म का कारण हो भी सकता है)
  • सस्ती और अनुकूलित: . सी. पी. अब कई सरकार की ओर से आर्थिक सहायता की योजनाओं के तहत शामिल हैं।
  • कैंसर से सुरक्षा: . सी. पी. महिलाओं में अंडाशय (डिम्बग्रंथि) और गर्भाशय के कैंसर की संभावना को कम करने में मदद करता है।
  • ऑस्टियोपोरोसिस का उपचार: पोस्टमेनोपॉजल (रजोवृत्ति के बाद) महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस के हार्मोनल रिप्लेसमेंट थेरेपी (एच.आर.टी.) में ओ.सी.पी. महत्वपूर्ण है।

खतरा

गर्भ निरोधक के उपयोग से जुड़े प्रमुख खतरे निम्नलिखित हैं:

  • यह यौन संचारित रोगों या एस.टी.डी. से रक्षा नहीं करता है।
  • .सी.पी. आपके द्वारा ली जा रही अन्य दवाओं के कार्य में हस्तक्षेप कर सकता है, जैसे वारफारिन, आदि।
  • इससे महत्वपूर्ण उच्च रक्तचाप और स्ट्रोक का खतरा भी है।
  • .सी.पी. स्तन कैंसर और सर्वाइकल कैंसर से जुड़ा होता है।
  • .सी.पी. प्रोकोएग्युलेंट होते हैं और इसका उपयोग कोएगुलेशन विकारों और धूम्रपान करने वाले लोग सावधानी से करें ।
  • .सी.पी. के लिए डॉक्टर द्वारा इसे निर्धारित किए जाने की आवश्यकता है और दैनिक रूप से नियमित आधार पर सख्ती से लें।

दुष्प्रभाव

समय की कुछ अवधि के लिए उपयोग किए जाने पर गर्भनिरोधक गोलियों के कुछ दुष्प्रभाव होते हैं। हालांकि इनमें से अधिकांश दुष्प्रभाव हल्के होते हैं, लेकिन कुछ महिलाओं के लिए अनेक समस्याएं उत्पन्न कर सकते हैं:

  • जठरशोथ और मतली
  • शरीर के वज़न में वृद्धि
  • स्तनों में सूजन और संवेदनशीलता
  • कभीकभी रक्त का दाग लगना (स्पॉटिंग) और अनियमित मासिक
  • बारबार मूड बदलना

गर्भनिरोधक गोलियों का उपयोग यकृत विकार, हृदय संबंधी समस्याओं या स्ट्रोक सहित कुछ गंभीर लक्षणों को भी दर्शाता है।

लक्षण, जो गंभीर समस्याओं की ओर इंगित करते हैं

निम्नलिखित मौखिक गर्भ निरोधक के सेवन के दौरान खतरों के संकेतों की एक सूची है, जो दर्शाती है कि आपको तुरंत चिकित्सक से परामर्श लेना आवश्यक है, वे संकेत इस प्रकार हैं:

  • सीने में तेज़ दर्द
  • श्वासकष्ट या सांस की कमी
  • हेमोप्टीसिस या बलगम में रक्त
  • पेट में तेज़ दर्द
  • पैर के एक तरफ सूजन, पिंडली में संवेदनशीलता, या जांघ मे दर्द
  • माइग्रेन या सिर में तेज़ दर्द जो ओ.सी.पी. लेने से शुरू हो जाता है।
  • बोलते समय लड़खड़ाना, झुनझुनी या सुन्न पड़ना, दृष्टि में धुंधलापन, किसी अंग में कमज़ोरी होना।
  • यकृत रोग: उल्टी, त्वचा, आँखों और मूत्र का पीला होना, दाएं तरफ का दर्द या पेट के सामान्यीकृत विकृति लगातार समस्या होती हैं

गर्भनिरोधक गोली को बेअसर करने वाली कुछ दवाएं

मौखिक गर्भ निरोधक को कई दवाओ से बेअसर होने के लिए जाना जाता है। डॉक्टर आपको ऐसी कुछ दवाओं और रसायनों की सूची प्रदान कर सकते हैं, वह इस प्रकार हैं:

  • एंटीट्यूबरकुलर ड्रग
  • एंटीफंगल एजेंट (जैसे, ️ग्रिसियोफुलविन, Griseofulvin)
  • बारबिट्यूरेट और कुछ अन्य सीडेटिव (Sedatives)
  • एंटीरेट्रोवायरल ड्रग्स ज़िडोवूडिन और स्टॅवूडिन (Stavudin)
  • एंटीएपीलेप्टिकजैसे फेनिटॉइन सोडियम (Phenytoin Sodium)

आमतौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले एंटीबायोटिक्स का ओ.सी.पी. में कुछ खास असर नहीं होता है और इन्हें ओ.सी.पी. की गोलियों के साथ लेने की अनुमति होती है।

क्या होगा अगर आप गर्भनरोधकगोली लेना भूल जाती हैं?

मौखिक गर्भ निरोधक गोली न लेने के कारण आप यौन रूप से सक्रिय होती हैं जिसकी वजह से अनचाही गर्भावस्था का खतरा निश्चित है। हालांकि यह खतरा कुछ कारकों पर निर्भर करता है, जैसे कौन सी खुराक चूक गई है, कितनी खुराक चूक गई हैं और यौन संबंध बनाते समय कंडोम जैसे दूसरे गर्भनिरोधक तरीकों का उपयोग किया गया है या नहीं।

क्या होगा अगर आप गर्भनरोधकगोली लेना भूल जाती हैं

यहाँ आपकी अपनी सुरक्षा के लिए कुछ दिशानिर्देश दिए गए हैं:

  1. यदि आप सक्रिय हॉर्मोन गोली की एक दैनिक खुराक लेना भूल गई हैं, तो आप इसे जल्द से जल्द ले सकती हैं और सामान्य समय पर आगे के कोर्स को जारी रख सकती हैं।
  2. आपको खुराक दोहराने की आवश्यकता नहीं है, यदि आप कोर्स के आखिरी सात दिनों में कृत्रिम गोली में से एक गोली लेना भूल गई हैं।
  3. यदि आपने एक और पैक शुरू करने से पहले असुरक्षित यौन संबंध बनाया है, तो एक आपातकालीन गर्भनिरोधक गोली लेने की सलाह दी जाती है।
  4. यदि आप अपना पैक समय पर शुरू नहीं कर पाई हैं,(यानि आपके मासिक धर्म के पहले या पाँचवे दिन से, जैसा कि आपके डॉक्टर द्वारा निर्देश दिया गया है) तो अन्य गर्भ निरोधक पद्धतियों का उपयोग एक बेहतर विकल्प है, जैसे कंडोम ।
  5. यदि आप दो से अधिक खुराक लेना भूल गई हैं या इस अवधि के दौरान असुरक्षित यौन संबंध दोहराती हैं या यदि आपको कोई असामान्य लक्षण दिखते हैं तो आप डॉक्टर से संपर्क अवश्य करें।
  6. गोली रखने का बॉक्स, कौन सी दवा किस समय लेनी है यह याद दिलाने वाली एप्लिकेशन और अलार्म का उपयोग करने से आपको ओ.सी.पी. समय पर लेने के लिए याद रखने में मदद मिल सकती है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

1. गर्भनिरोधक गोली लेने के बाद अगर मुझे दस्त या उल्टी होती है तो इससे क्या प्रभाव पड़ेगा?

अगर कभी आपको ओ.सी.पी. की गोली लेने के बाद तुरंत उल्टी हो जाती है तो उसकी एक और गोली का सेवन कर लें और कोर्स को जारी रखें।यदि आप फ़ूड पॉइज़निंग, हेपेटाइटिस, या गैस्ट्रो एन्टेराइटिस के किसी भी रूप से पीड़ित हैं जिसके कारण आपको लगातार उल्टी और लूज़ मोशन होता है तो आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। इस समस्या के कारण या तो आपको इन गोलियों का सेवन बंद करना होगा और असुरक्षित यौन संबंध बनाने बचें या फिर आप जब तक पूरी तरह से स्वस्थ नहीं हो जाती हैं तब तक गर्भ निरोधक की किसी और पद्धति का उपयोग करना होगा।

2. मैं जन्म नियंत्रण गोली का दूसरा पैक कब शुरू कर सकती हूँ?

यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप 21 दिन के कोर्स पर हैं या 28दिन के पिछले ब्लिस्टर पैक को समाप्त करने के ठीक बाद गर्भनिरोधक गोलियों का अगला पैक शुरू करेंगी। यह आमतौर पर आपके अगले मासिक धर्म की शुरुआत के समान होता है। चाहे आपका मासिक धर्म आए या न आए, आप दूसरे ब्लिस्टर पैक से जन्म नियंत्रण की गोलियां लेना जारी रख सकती हैं ।

3. क्या होगा अगर मैं फिर से गर्भवती होने का फैसला करती हूँ?

जब आप ओ.सी.पी. के दौरान गर्भधारण करने की योजना बनाती हैं, तो आपको बस इतना करना होगा कि गोलियां लेना बंद कर दें। जैसे ही आप दवाइयों के कोर्स को बंद कर देंगी, आपका मासिक धर्म शुरू होने की संभावना है। यह आपके अगले मासिक धर्म की शुरुआत को चिह्नित करता है, जिसमें 14वें दिन के आसपास अंडोत्सर्ग हो सकता है। आप गर्भावस्था के लिए इस जननक्षम अवधि में संभोग की योजना बना सकती हैं। कुछ चिकित्सक आपको गर्भधारण करने से पहले कुछ सामान्य नियमित रूप से मासिक धर्म चक्र का इंतज़ार करने की सलाह दे सकते हैं। सुरक्षित रूप से गर्भधारण करने के लिए ओ. सी. पी. के कोर्स रोकने या बदलने से पहले आप डॉक्टर से सलाह लें।

4. क्या यह गोलियां, यौन संचारित रोगों (एस.टी.डी.) से सुरक्षित रखती है ?

यद्यपि मौखिक गर्भनिरोधक गोलियां गर्भावस्था को काफी प्रभावी रूप से रोकती हैं, दुर्भाग्य से यह यौन संचारित रोगों (एस.टी.डी.) से बचने के लिए कोई सुरक्षा प्रदान नहीं करती हैं। कंडोम जैसे अवरोध गर्भनिरोधक इसके विपरीत, एस.टी.डी. के सभी रूपों से सुरक्षा प्रदान करते हैं और इसके अलावा एक प्रभावी जन्म नियंत्रण उपाय के रूप में भी काम आते हैं।

5. जन्म नियंत्रण के अन्य विकल्प कौन से हैं?

हॉर्मोनल गर्भ निरोधक के अलावा जन्म नियंत्रण के अन्य विकल्प इस प्रकार हैं:

  • कैलेंडर पद्धति: डिंबोत्सर्ग के समय के आसपास या मासिक धर्म के 14वें दिन संभोग करने से बचें।
  • शुक्राणुनाशक जैल: संभोग से पहले महिला के गर्भाशय ग्रीवा पर लगाया जाता है।
  • अवरोध के तरीके: कंडोम, योनि रिंग (वजाइनल रिंग) और डायाफ्राम
  • अंतर्गर्भाशयी उपकरण: कॉपर टी
  • नसबंदी तकनीक: महिला नसबंदी (ट्यूबेक्टोमी) और गर्भाशयोच्छेदन (हिस्टेरेक्टोमी)

6. क्या समयसमय पर गोलियां लेना बंद करना आवश्यक है

नहीं, .सी.पी की गोलियां बंद करना महत्वपूर्ण तब तक नहीं हैं जब तक आप पर इसके लंबे समय से उपयोग के कारण कोई दुष्प्रभाव न पड़े। हालांकि चिकित्सक की सलाह अनुसार आप अन्य पद्धति का उपयोग कर सकती हैं। ध्यान रहे, आपने भले ही पूरी तरह से ओ. सी. पी. छोड़ने के बाद अन्य पद्धति का उपयोग करना शुरू कर दिया हो किंतु फिर भी आपके गर्भवती होने का डर है।

7. अगर मैं एक खुराक लेना भूल जाऊं तो क्या होगा?

यदि आप किसी भी कारणवश अपनी ओ. सी. पी. की खुराक लेना भूल जाती हैं तो आप या तो संभोग न करें या फिर आपका साथी संभोग के दौरान कंडोम का उपयोग कर सकता है । आप कोर्स में कोई अंतर किए बिना छूटी हुई खुराक ले सकती हैं।

हाल ही के चिकित्सीय प्रगति के अनुसार दुनियाभर की महिलाएं जन्म नियंत्रण की पद्धति के लिए मौखिक गर्भनिरोधक का उपयोग करना ज़्यादा पसंद कर रही हैं। यदि इसकी सलाह अनुसार सही ढंग से उपयोग किया जाए तो यह पद्धति सुरक्षित और विश्वसनीय है। यह महिलाओं को डिंबग्रंथि और गर्भाशय के कैंसर से भी बचाव करती है।