गर्भावस्था जांच – कब और कैसे करें

प्रेगनेंसी जांच - कब और कैसे करें

Last Updated On

क्या आप गर्भधारण करने की कोशिश कर रही हैं और आपके मासिक धर्म आने का समय भी निकल चुका है? अब आपके दिमाग में सिर्फ एक ही बात चल रही होगी कि आप गर्भवती हैं या नहीं। यह दुविधा हर महिला के जीवन में काफी चिंताजनक होता है। अब आप अपनी गर्भधारण की पुष्टि के लिए एक गर्भावस्था परीक्षण किट का उपयोग करेंगी। लेकिन गर्भावस्था परीक्षण किट के परिणाम हमेशा सटीक नहीं होते हैं। सही व विश्वसनीय परिणाम प्राप्त करने के लिए कुछ बुनियादी चरणों का पालन किया जाना चाहिए। यह लेख आपका मार्गदर्शन करेगा कि घर पर गर्भावस्था परीक्षण कब और कैसे करें और आपके नन्हे-मुन्ने के आगमन के बारे में पुष्टि करने के लिए चिकित्सक के पास कब जाएं।

गर्भावस्था परीक्षण क्या है?

गर्भावस्था परीक्षण रक्त में एचसीजी (ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रॉपिन, hCG) के स्तर की जाँच करने के लिए तैयार किया गया है। एचसीजी एक हार्मोन है जो निषेचित अंडे के द्वारा स्रावित होने के बाद गर्भाशय के अस्तर में ही निहित हो जाता है। यह परीक्षण एक गर्भावस्था किट की मदद से घर पर किया जा सकता है जो आपको पास के मेडिकल स्टोर में मिल जाएगा। आप इसके लिए किसी स्त्रीरोग विशेषज्ञ के पास भी जा सकती हैं। यदि आप घर पर परीक्षण करने की योजना बना रही हैं, तो आपको किट में उल्लिखित सभी चरणों का पालन करना चाहिए। यदि आप स्त्रीरोग विशेषज्ञ की मदद लेती हैं, तो वह आपके रक्त की जाँच करेगी। और मूत्र परीक्षण की तुलना में रक्त परीक्षण अधिक सटीक परीक्षण होता है।

गर्भावस्था परीक्षण कीट कैसे काम करता है

जब आप गर्भधारण करती हैं, उसी समय से आपके शरीर में तेजी से बदलाव होना प्रारम्भ हो जाता है। आपका शरीर एचसीजी का उत्पादन करता है जो आपकी गर्भावस्था की अवधि के बढ़ने के साथ ही हर 36 से 48 घंटे में दोगुना हो जाता है। यह हार्मोन आपके रक्त के साथ-साथ मूत्र में भी पाया जा सकता है। किट के माध्यम से किए गए गर्भावस्था परीक्षण में आपके मूत्र में एचसीजी के स्तर का पता लगाया जाता है। जैसे ही आपका मूत्र किट के सम्पर्क में आता है, मिनटों में ही यह पता चल जाता है कि आपके मूत्र में एचसीजी मौजूद है या नहीं। यदि स्क्रीन में 2 रंगीन सीधी रेखाएं दिखाई दें, तो इसका मतलब है कि आपका परीक्षण सकारात्मक यानि पॉजिटिव है, और यदि केवल एक ही रेखा दिखाई देती है, तो इसका मतलब है कि परीक्षण नकारात्मक यानि नेगेटिव है। हालांकि, यह प्रत्येक किट के लिए भिन्न हो सकता है। इसलिए, अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ से भी राय लेना प्राय: उचित होता है।

गर्भावस्था परीक्षण किट कितना सटीक परिणाम देता है

परीक्षण की सटीकता, परीक्षण किट पर उल्लिखित निर्देशों का सही पालन करने पर निर्भर करता है। यह सही दिन और सही समय पर किए गए परीक्षण पर भी निर्भर करता है। सबसे पहले, आपको यह याद रखना चाहिए कि यदि आप किट में उल्लिखित चरणों का सटीक रूप से पालन करते हैं, तो परिणाम भी 99% सही आते हैं। लेकिन एक बार फिर यह सलाह दी जाती है कि आप परिणाम की दोबारा पुष्टि करने के लिए अपने स्त्रीरोग विशेषज्ञ द्वारा अपना रक्त परीक्षण भी कराएं।

गर्भावस्था परीक्षण करने का सही समय क्या है

क्या आप गर्भधारण के लिए बिना किसी निरोधक के यौन सम्बन्ध बना रहे हैं? और क्या उसके बाद आपके मासिक धर्म नहीं आएं हैं? यदि हाँ, तो आपको यह सुनिश्चित करने के लिए जाँच करानी चाहिए कि क्या आप गर्भवती हैं।

1. गर्भावस्था परीक्षण करने के लिए दिन का सबसे अच्छा समय क्या है?

गर्भावस्था परीक्षण हेतु नमूना लेने का सबसे उपयुक्त समय सुबह का पहला मूत्र है। जब आप रात भर सोते हैं, तो आपका शरीर पूरी रात मूत्राशय में मूत्र को रोके रखता है। ये मूत्र अत्यधिक गाढ़ा होता है और इसमें एचसीजी सहित हर चीज की उच्चमात्रा मौजूद होती है। इसलिए, यदि गर्भावस्था के लिए मूत्र परीक्षण सुबह-सुबह किया जाता है, तो सम्भावना है कि परिणाम 99% सटीक होगा।

2. माहवारी की तारीख निकल जाने के पश्चात गर्भावस्था परीक्षण कराने का सबसे अच्छा समय क्या है?

माहवारी की तारीख निकलने के तुरन्त बाद परीक्षण करने से आपको गलत सकारात्मक परिणाम प्राप्त हो सकते हैं, इसलिए गर्भावस्था परीक्षण किट का उपयोग करने से पहले तारीख के बाद एक सप्ताह का इंतजार करना उचित है!

3. प्रारंभिक संकेत, जो इंगित करते हैं कि आपको परीक्षण करना चाहिए

गर्भावस्था के कुछ शुरुआती संकेत हैं, जो परीक्षण करने में एक संकेतक के रूप में कार्य कर सकते हैं, जो निम्नानुसार हैं।

  • यदि आप स्पॉटिंग या हल्के रक्तस्राव को नोटिस करते हैं, तो आप गर्भावस्था परीक्षण करने पर विचार कर सकते हैं। यह आमतौर पर तब होता है जब भ्रूण गर्भाशय में खुद को प्रत्यारोपित करता है।
  • यदि आप पेट में ऐंठन महसूस करते हैं।
  • यदि आपको स्तन में संवेदनशीलता महसूस हो रही है और ब्रा पहनते समय आपको अपने स्तनों में असहजता का अहसास होता है।
  • अगर आपको हर समय थकावट महसूस होती है।
  • अगर भोजन और आसपास की अन्य चीजों की गंध आपको असहज करती है।
  • यदि आपको ऐसा खाने का मन करे जो आपको पहले कभी पसंद नहीं था या आपको अपना पसंदीदा भोजन अच्छा नहीं लगने लगे।
  • अगर आपकी योनि से कुछ स्राव के साथ पीड़ा होती है।
  • यदि आप अधिकाशंत: कब्ज महसूस करती हैं।

यह संकेत अंडोत्सर्ग के पहले सात से दस दिनों में दिखाई देते हैं। यदि आपको इनमें से एक या ज्यादा लक्षण दिखें तो परीक्षण कराएं।

गर्भावस्था परीक्षण के अन्य तरीके क्या हैं

गर्भावस्था परीक्षण के अन्य तरीके क्या हैं

गर्भावस्था परीक्षण दो प्रकार के होते हैं, एक मूत्र परीक्षण जिसे आप गर्भावस्था किट की मदद से घर पर कर सकते हैं और दूसरा रक्त परीक्षण है जो एक मेडिकल सेंटर पर किया जाता है। दोनों ही परीक्षणों में आपके शरीर में एचसीजी हार्मोन की उपस्थिति को जाँचा जाता है।

1. रक्त परीक्षण

रक्त परीक्षण गर्भावस्था की पुष्टि करने का सबसे सटीक तरीका है। यहाँ, गर्भावस्था की पुष्टि के लिए किए गए रक्त परीक्षणों का विस्तृत विश्लेषण दिया गया है:

  • गुणात्मक एचसीजी परीक्षण

यह परीक्षण चिकित्सा केंद्र पर किया जाता है। यह परीक्षण आमतौर पर आपके मासिक धर्म की अवधि निकल जाने के 10 दिन बाद कराने की सलाह दी जाती है। यह परीक्षण आपके रक्त के नमूने में एचसीजी की मौजूदगी की जाँच करता है और उस आधार पर आपकी गर्भावस्था की स्थिति को बताता है।

  • मात्रात्मक एचसीजी टेस्ट

यह आपके शरीर में एचसीजी की उपस्थिति का पता लगाने के लिए चिकित्सा केंद्र पर किया जाने वाला रक्त परीक्षण है। यह परीक्षण अधिक सटीक होता है और आपके रक्त में एचसीजी की सटीक मात्रा का पता लगाता है। यह गर्भावस्था के प्रारम्भिक चरण के दौरान एचसीजी के निम्नतम स्तर का भी पता लगा सकता है।

2. मूत्र परीक्षण

मूत्र परीक्षण घर पर किया जा सकता है और बहुत सुविधाजनक है। आपको बस किसी भी दवाई की दुकान से गर्भावस्था परीक्षण किट खरीदनी है और आप स्वयं यह परीक्षण करने के योग्य हैं। ये किट निर्देशों के साथ आती हैं। किट पर दिए गए निर्देशों का पालन करें और आप सटीक परिणाम प्राप्त करेंगे। आपके मासिक धर्म की अवधि निकलने के एक सप्ताह के बाद आप मूत्र परीक्षण कर सकते हैं।

1. इस परीक्षण को करने का सबसे उपयुक्त समय कौन सा है?

हालांकि, आप दिन में किसी भी समय मूत्र परीक्षण कर सकते हैं, फिर भी सुबह जैसे ही आप उठते है, वह समय इस परीक्षण के लिए सबसे उपयुक्त है। ऐसा इसलिए है क्योंकि सुबह का पहला मूत्र अत्यधिक गाढ़ा होता है और ऐसे में सटीक परिणाम प्राप्त करने की सम्भावना अधिक होती है।

2. परीक्षण को काम करने में कितना समय लगता है?

मूत्र परीक्षण को काम करने में करीबन 5 से 10 मिनट लगते हैं। आपको परिणाम 5 मिनट के बाद पढ़ना है और 10 मिनट से पहले, नहीं तो वह गलत हो सकता है। इसलिए, 5 मिनट से पहले परिणाम न देखें और ना ही 10 मिनट के बाद अथवा वह भ्रामक हो सकता है।

3. सकारात्मक गर्भावस्था परीक्षण कैसा दिखता है?

जब गर्भावस्था परीक्षण किट में दो सीधी रेखाएं दिखें, तो इसका मतलब है कि आप गर्भवती हैं। कुछ परीक्षण किट में 2 अलग-अलग स्क्रीन हो सकते हैं और सकारात्मक परिणाम की स्थिति में, दोनों स्क्रीन में सीधी रेखाएं दिखाई देंगी। कृपया ध्यान दें कि चिकित्सा केंद्र में रक्त परीक्षण के साथ ही इस परिणाम की पुष्टि की जानी चाहिए।

सकारात्मक गर्भावस्था परीक्षण कैसा दिखता है?

4. एक नकारात्मक परीक्षण कैसा दिखता है?

नकारात्मक परिणाम की‍ स्थिति में, केवल एक रेखा दिखाई देती है और कुछ भी नहीं। आप इस परिणाम की पुष्टि के लिए एक सप्ताह बाद पुन: यह परीक्षण कर सकते हैं या अपने चिकित्सक से रक्त परीक्षण करवा सकते हैं।

5. एक धुँधली रेखा क्या बतलाती है?

एक धुँधली रेखा से तात्पर्य है कि रक्त में एचसीजी हार्मोन की मात्रा बहुत कम है। गर्भावस्था के प्रारंभिक दिनों में यह संभव है। जैसे-जैसे गर्भावस्था परिपक्व होती है, शरीर में एचसीजी का जमाव बढ़ता जाता है।

गर्भावस्था की पुष्टि के लिए परीक्षण के फायदे और नुकसान

हालांकि, गर्भावस्था परीक्षण किट इन दिनों काफी लोकप्रिय हैं और आसानी से उपलब्ध हैं, निम्नलिखित बिंदु इसके इस्तेमाल के फायदे और नुकसान को समझने में मदद करते हैं।

फायदे :

  • गर्भावस्था परीक्षण, आपके मासिक धर्म चक्र की तिथि निकल जाने के पश्चात यह पुष्ट करने का सबसे तेज तरीका है कि आप गर्भवती हैं या नहीं।
  • यहाँ तक कि उन परिदृश्यों में जहाँ आप गर्भधारण के लिए तैयार नहीं होती हैं, लेकिन गर्भनिरोध विफल हो जाता है, ऐसे में आप गर्भावस्था परीक्षण के माध्यम से अपनी गर्भावस्था की पुष्टि कर सकते हैं।
  • कभी-कभी गर्भावस्था के लक्षण जल्दी दिखाई देने की स्थिति में, आप गर्भावस्था परीक्षण के माध्यम से मासिक धर्म चक्र की तिथि निकलने से 4-5 दिन पहले ही सटीक परिणाम प्राप्त कर सकते हैं।

नुकसान :

  • कभी-कभी किट द्वारा किए गए गर्भावस्था परीक्षण के परिणाम भ्रामक हो सकते हैं।
  • कई मामलों में, यहाँ तक कि केमिकल गर्भधारण भी किट पर सकारात्मक दिखाई देते हैं लेकिन बाद में गर्भपात होने की संभावना होती है, जबकि कुछ मामलों में, गर्भावस्था किट में नकारात्मक दिखाई देने वाले परिणाम बाद में सकारात्मक हो जाते हैं।

इसलिए, घर पर किए गए गर्भावस्था परीक्षण के बाद परिणाम की पुष्टि के लिए रक्त परीक्षण करवाने की सलाह दी जाती है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

यहाँ गर्भावस्था परीक्षण किट के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न हैं:

1. क्या होगा यदि परीक्षण पर कोई रेखा दिखाई नहीं दे?

यदि गर्भावस्था परीक्षण किट पर कोई रेखा नहीं दिखाई देती है, तो परीक्षण अमान्य होगा। इनमें से अधिकांश मामलों में, समस्या किट में ही होती है। सुरक्षा के तौर पर, परीक्षण को 2 से 3 दिनों के बाद पुन: दोहराएं।

परीक्षण पर कोई रेखा दिखाई नहीं दे

2. परीक्षण कब दोहराया जाना चाहिए?

उन मामलों में जब गर्भावस्था परीक्षण किट पर दूसरी रेखा धुँधली या फिर कोई भी रेखा दिखाई न दे, तो पुष्टि के लिए दोबारा परीक्षण किया जा सकता है।

3. 99 प्रतिशत सटीकता का क्या मतलब है?

जब किट पर दूसरी रेखा स्पष्ट दिखाई दे, तो इससे 99 प्रतिशत यह पुष्टि होती है कि आप गर्भवती हैं। 99 प्रतिशत सटीकता का मतलब है, यदि परीक्षण 100 बार (उसी ब्रांड/कंपनी की किट से) दोहराया जाए, तो यह 99 बार सही परिणाम देगा। इसलिए 100 में से 1 बार परीक्षण गलत परिणाम देता है।

4. क्या दवाई लेने से गर्भावस्था पुष्टि परीक्षण का परिणाम प्रभावित होता है?

हाँ, दवा लेने से गर्भावस्था पुष्टि परीक्षण का परिणाम प्रभावित होता है। जैसा कि पहले बताया गया है, एक पुष्ट परिणाम प्राप्त करने के लिए, घर पर किए गए गर्भावस्था परीक्षण या मूत्र परीक्षण के बाद चिकित्सा केन्द्र पर रक्त परीक्षण अवश्य कराना चाहिए।

सभी गर्भधारण अलग-अलग होती हैं और इसलिए परिस्थितियां भी अलग-अलग हैं। यह लेख आपको आपकी गर्भावस्था की अवस्था और परिस्थिति को जाँचने में मदद करेगा। फर्स्टक्राई पेरेंटिंग की ओर से आपको आनन्दायक व सुरक्षित गर्भावस्था की शुभकामनाएं।

यह भी पढ़ें:

क्या आपको गर्भावस्था के परीक्षण में एक धुँधली सी रेखा दिखाई दे रही है
गलत निगेटिव प्रेगनेंसी टेस्ट