गर्भावस्था के 8वें सप्ताह में अल्ट्रासाउंड

गर्भावस्था के 8वें सप्ताह में अल्ट्रासाउंड

Last Updated On

अल्ट्रासाउंड आपके गर्भ में पल रहे शिशु की एक झलक दिखाता है। गर्भावस्था के शुरूआती समय में अल्ट्रासाउंड स्कैन आपको थोड़ा चिंतित और थोड़ा उत्सुक कर सकता है। हमने इस लेख में आपकी गर्भावस्था के 8वें सप्ताह में होने वाले अल्ट्रासाउंड के बारे में विस्तार से चर्चा की है। यदि आप भी जानना चाहती हैं तो इस लेख को पूरा पढ़ें।

8वें सप्ताह में अल्ट्रासाउंड स्कैन की आवश्यकता क्यों होती है

गर्भावस्था के 8वें सप्ताह में अल्ट्रासाउंड जरूरी नहीं है। हालांकि डॉक्टर आपके गर्भ में पल रहे शिशु की जांच करने के लिए स्कैन करवाने का सुझाव दे सकते हैं। इस अल्ट्रासाउंड स्कैन को निम्नलिखित कारणों से किया जा सकता है:

  • गर्भ में पल रहे भ्रूण की गर्भकालीन आयु का पता लगाने के लिए।
  • यदि रक्तस्राव होता है तो उसका कारण पता लगाने के लिए।
  • गर्भ में एक से अधिक भ्रूण होने का पता करने के लिए।
  • भ्रूण के हृदय की धड़कन की जांच करने के लिए।
  • भ्रूण के आकार की जांच के लिए।
  • फैलोपियन ट्यूब और अंडाशय के स्वास्थ्य की जांच करने के लिए।
  • किसी भी प्रकार की जटिलताओं की जांच करने के लिए, जैसे अस्थानिक गर्भावस्था।

8वें सप्ताह के अल्ट्रासाउंड स्कैन की तैयारी कैसे करें

गर्भावस्था के 8वें सप्ताह में पेट का अल्ट्रासाउंड या ट्रान्सवजाइनल अल्ट्रासाउंड, दोनों ही किए जा सकते हैं। इन दोनों अल्ट्रासाउंड की अलग-अलग आवश्यकताएं होती हैं।

8वां सप्ताह शुरूआती समय होता है और इस अवधि में आपके गर्भ में पल रहा भ्रूण बहुत छोटा होता है। अल्ट्रासाउंड के दौरान भ्रूण की छवि स्पष्ट हो इसलिए गर्भाशय को ऊपर की ओर धकेला जाता है और इसके लिए आपको अपने मूत्राशय को भरा हुआ रखना जरूरी है। पेट का अल्ट्रासाउंड करवाने से पहले मूत्राशय को भरने के लिए आपको अधिक पानी पीने की सलाह दी जाती है। जांच के दौरान आप ढीले और आरामदायक कपड़े पहनें, इससे आपके पेट की जांच सरलता से होने में मदद मिल सकती है। इस प्रकार के अल्ट्रासाउंड में आपके पेट पर जेल लगाया जाएगा और फिर डॉक्टर द्वारा हल्के दबाव के साथ ट्रांसड्यूसर घुमाया जाएगा । जेल की मदद से ध्वनि तरंगें गर्भाशय तक पहुँचती हैं और रिफ्लेक्शन की मदद से आप स्क्रीन पर अपने गर्भ में पल रहे शिशु की छवि को स्पष्ट रूप से देख सकती हैं।

दूसरी ओर ट्रान्सवजाइनल अल्ट्रासाउंड स्कैन करने के लिए एक गर्भवती महिला का मूत्राशय पूरी तरह से खाली होना चाहिए। इस प्रकार के अल्ट्रासाउंड में भरा हुआ मूत्राशय स्क्रीन पर दिखने वाली छवि को खराब कर सकता है। ट्रान्सवजाइनल अल्ट्रासाउंड में गर्भवती महिला की योनि में एक उपकरण डाला जाता है। यह उपकरण स्पष्ट छवि के लिए गर्भाशय ग्रीवा (सर्विक्स) पर हल्का जोर डालता है। इससे कभी-कभी आपको हल्का दबाव महसूस हो सकता है।

8वें सप्ताह के अल्ट्रासाउंड स्कैन की तैयारी कैसे करें

8वें सप्ताह के अल्ट्रासाउंड स्कैन में कितना समय लगता है

आमतौर पर अल्ट्रासाउंड स्कैन में लगभग 20 से 30 मिनट लगते हैं। हालांकि, यदि भ्रूण की स्थिति अजीब है, तो इसमें अधिक समय लग सकता है। कभी-कभी अधिक टिश्यू होने की वजह से शिशु की स्पष्ट छवि स्क्रीन पर बनने में कठिनाई होती है और इस प्रक्रिया में अधिक समय लग सकता है।

स्कैन में क्या दिख सकता है

यदि आप सोच रही हैं कि अपनी गर्भावस्था के शुरूआती समय में आप अल्ट्रासाउंड में क्या देख सकती हैं तो फिक्र न करें, गर्भावस्था के 8वें सप्ताह में आपके गर्भ में पल रहा शिशु कुछ ऐसा दिख सकता है;

  • आँखें, किनारे से सामने की ओर आ जाती हैं।
  • भ्रूण का माप लगभग 2.3 से.मी. का हो सकता है।
  • शिशु के बाहरी कानों का निर्माण शुरू हो सकता है।
  • गर्भ में पल रहा शिशु अपनी कोहनी को हिला सकता है।
  • शिशु की उंगलियां उभरती हुई नजर आ सकती हैं।
  • इस अवधि तक शिशु के पाचन तंत्र का विकास शुरू हो सकता है।
  • बच्चे का सिर अभी भी उसके पेट की ओर झुका हुआ होगा।

स्कैन के द्वारा डॉक्टर क्या निर्धारित कर सकते हैं

गर्भावस्था के 8वें सप्ताह में डॉक्टर आपके गर्भ में पल रहे शिशु की निम्नलिखित बातों को निर्धारित कर सकते हैं;

  • गर्भनाल बेहतर तरीके से कार्य कर रही है या नहीं।
  • नाल (प्लेसेंटा) व भ्रूण का आकार।
  • गर्भ में पल रहे शिशु के हृदय की धड़कन व धड़कन के चलने की दर।
  • गर्भ में एक से ज्यादा शिशुओं की उपस्थिति, जिसका अनुमान हृदय की धड़कन व अनेक गर्भनाल थैलियों से लगाया जा सकता है।
  • गर्भावस्था के 8वें सप्ताह में आपके गर्भ में शिशु के उभरते हाथ, पैर, आँख, नासिका के साथ-साथ मुँह व अन्य आंतरिक अंगों के निर्माण की शुरुआत को डॉक्टर निर्धारित कर सकते हैं।

क्या 8वें सप्ताह में हृदय की धड़कन न सुनाई देने का अर्थ गर्भपात है

गर्भावस्था के 8वें सप्ताह में अल्ट्रासाउंड के दौरान कुछ मामलों में भ्रूण के हृदय की धड़कन नहीं सुनाई देती है। हालांकि, इससे गर्भपात की पुष्टि नहीं होती है। ऐसी स्थिति में गर्भपात की पुष्टि करने के लिए, डॉक्टर आपको आने वाले सप्ताह में एक और अल्ट्रासाउंड करवाने का सुझाव दे सकते हैं।

गर्भपात के अनेक लक्षण भी हैं इसलिए शिशु के हृदय की धड़कन न सुनाई देने से किसी भी प्रकार का निर्णय नहीं लिया जा सकता है।

अल्ट्रासाउंड स्कैन एक कैमरे के समान होता है जो आपके बढ़ते शिशु की तस्वीर लेने में मदद करता है। हालांकि, यह ध्यान रखना जरूरी है कि हर शिशु अलग होता है और इसलिए हर शिशु की अल्ट्रासाउंड स्कैन रिपोर्ट भी अलग-अलग ही होती है। यदि आपको किसी भी प्रकार का संदेह है तो आप बिलकुल भी न घबराएं और समय पर डॉक्टर से सलाह लें।