11 महीने के शिशु में आने वाले विकास के पड़ाव

11 महीने के शिशु में आने वाले विकास के पड़ाव

Last Updated On

एक बच्चे के साथ, हर चीजें पहली बार हो रही होती हैं। आपको याद होगा कि पहली बार आपके बच्चे ने बैठने की कोशिश कब की थी, पहली बार कब उसने अपने हाथों से पूरा खाना खाया था, और वह किस समय खड़ा हुआ और बिना सहारे के चला। लेकिन जब वह एक साल का होने वाला होता है और जैसे-जैसे आपके बच्चे का पहला जन्मदिन नजदीक आता है, आप इसके लिए बेहद उत्सुक हो जाती हैं और सोचती हैं कि यह बेहद कीमती पल कहीं आपसे छूट न जाएं।

11 महीने के बच्चे का माइलस्टोन चार्ट

पूरे हो चुके विकास के पड़ाव उभरते हुए विकास के पड़ाव
वह आपका हाथ पकड़कर कमरे में घूमने में सक्षम होगा। आपसे हाथ छुड़ाकर वह स्वतन्त्रतापूर्वक चल सकता है। कभी-कभी, आप उसको फर्नीचर पर चढ़ते हुए भी पा सकती हैं।
ब्लॉक वाले खिलौनों को साथ रखने के लिए अपनी उंगलियों का इस्तेमाल करने में उसे सक्षम होना चाहिए। उसकी उंगलियों का उपयोग बेहतर होता जाएगा और वह थोड़े और जटिल कार्य करना शुरू कर देगा जैसे चम्मच से खाना।
उसने अब फल, माँस और डेयरी उत्पादों जैसे ठोस आहारों का सेवन करना शुरू कर देगा। वह जल्द ही अपने स्वाद और पसंदप-नापसंद को विकसित करेगा। इसका मतलब यह है कि जरूरी नहीं है कि वह हर बार दी गई चीजों को खा ले।
वह हाँ और ना जैसे कुछ शब्दों को में बोलने में सक्षम होगा। उसे अभी भी बोलना सीखने की जरुरत है और समय के साथ-साथ वह आपके सवालों का अच्छे से जवाब दे पाएगा।

11 महीने के बच्चे को किन पड़ावों को पार कर जाना चाहिए?

शिशु के विकास को तीन मुख्य भागों में विभाजित किया जा सकता है: शारीरिक विकास, मोटर स्किल, संज्ञानात्मक (कॉग्निटिव) विकास और सामाजिक एवं भावनात्मक विकास। इस उम्र में बच्चे तेजी से बढ़ते हैं और कहीं अधिक तेजी से सीखते हैं। वे अब और अधिक स्वतन्त्र बनेंगे और अब तो वे बहुत अधिक प्रयोग करना शुरू कर देंगे क्योंकि वे अब काफी हद तक सब जगह खुद ही घूम सकते हैं।

शारीरिक व मोटर स्किल्स

यहाँ हम यह देखेंगे कि 11 महीने के बच्चे का शारीरिक और मोटर कौशल कैसे विकसित होता है:

  • बच्चे बेहतर तरीके से चीजों तक पहुँचने में सक्षम होने के लिए अपनी स्थिति को बदलना सीखना शुरू कर देते हैं।
  • हो सकता है कि आपका बच्चा शुरू-शुरू में लड़खड़ाता हो, लेकिन अब वह बिना किसी सहारे के खड़ा होना सीख जाएगा।
  • सहारे के लिए दूसरी चीजों का इस्तेमाल करते हुए किसी बच्चे द्वारा चलना सीखने को “क्रूज़िंग” कहा जाता है।
  • जब सीढ़ियां चढ़ने की बात आती है, तो बच्चे अभी ठीक से सीढ़ियां नहीं चढ़ पाएंगे, लेकिन पर्याप्त समय दिए जाने पर वे कुछ सीढ़ियां चढ़ लेंगे।
  • इस उम्र में बच्चे के मोटर स्किल और माँसपेशियां बेहतर तरीके से विकसित हो जाती है और अब वस्तुओं पर उसकी बेहतर पकड़ बन जाती है।

कॉग्निटिव (संज्ञानात्मक) विकास

यहाँ कुछ संज्ञानात्मक विकास दिए गए हैं, जो आपके शिशु द्वारा 11 महीने में कर लिए जाने चाहिए :

  • इस उम्र में, बच्चे उन लोगों और वस्तुओं के नाम सीखना शुरू कर देते हैं जिनसे वे नियमित रूप से मिलते-जुलते हैं।
  • बच्चे इस समय पर अपने स्थान-संबंधी स्किल विकसित कर रहे होते हैं। इस समय वे वस्तुओं के आकार और माप का निरीक्षण करना सीखते हैं और फिर उन पर सोच-विचार करते हैं।
  • पीने के लिए अपने कप को उठाकर मुँह तक लाने के साथ आपका बच्चा यह समझने लगता है कि उसको कैसे इस्तेमाल किया जाता है। किसी को कंघी उठाकर सीधे अपने सिर तक ले जाना देखकर, वह भी ऐसा करना शुरू कर सकता है। वह अभी सीख रहा है कि चीजें कैसे काम करती हैं।
  • आपका शिशु अब कुछ चीजों के प्रति अपनी अस्वीकृति प्रकट करने में सक्षम होगा, जैसे कि उसे भोजन पसंद नहीं आ रहा है, तो वह “नहीं” कहने के लिए अपना सिर हिलाकर इसे प्रकट करेगा।

सामाजिक और भावनात्मक विकास

यहाँ पर सामाजिक और भावनात्मक विकास से संबंधित कुछ मापदंड दिए गए हैं, जो आपको अपने बच्चे में दिखने चाहिए:

  • आपका बच्चा अब यह विशेष रूप से जानता है कि माँ कौन हैं और पिता कौन है और यहाँ तक कि वो भी समझ सकेगा कि उसे परिस्थिति के आधार पर किसकी जरूरत है।
  • अगर कोई ऐसी स्थिति आ जाए जहाँ एक शिशु को बहुत सारे लोगों के साथ मिलना-जुलना पड़े, तो अक्सर प्यार से मुस्कुराते हुए, वह स्वाभाविक रूप से उन लोगों के पास आराम से जाएगा, जिन्हें वह जानता है। जिन लोगों को वह नहीं जानता है, उनके साथ उसे घबराहट हो सकती है।
  • अब आपका बच्चा बहुत सारी भावनाएं व्यक्त करेगा। उसे अपनी नाराजगी व्यक्त करना आता है और तब नखरे दिखाना आता है जब वह ऐसी किसी स्थिति में हो जो उसे पसंद न हो या ऐसा कोई काम हो, जैसे कि उसको सुलाने के लिए उसका खिलौना ले लिया जाना।

भाषा व कम्युनिकेशन स्किल्स

इस उम्र में आपके बच्चे में विकसित होने वाले कुछ कम्युनिकेशन स्किल यहाँ पर बताए जा रहे हैं:

  • आपका शिशु अपनी हरकतों के द्वारा अपनी इच्छाओं का इशारा करना सीख जाएगा।
  • इस उम्र में, शिशु आपस में बातचीत में रुचि दिखा सकते हैं।
  • आपका शिशु अब कई कार्यों का अनुकरण कर सकता है और यहाँ तक कि आपके और आपके साथी के कुछ भावों और शब्दों की नकल करने की कोशिश कर सकता है।
  • आपका बच्चा अब आसान से रिक्वेस्ट को पूरा कर सकता है जैसे “क्या मुझे वह बॉल दोगे?”

खानपान संबंधित पड़ाव

आपका बच्चा इस आयु में खाने से सम्बन्धित इन कुछ पड़ावों तक पहुँचेगा:

  • आपका बच्चा अपनी उंगलियों से खुद खाना शुरू कर देगा और चम्मच के साथ प्रयोग करना भी शुरू कर देगा।
  • इस समय तक, उसके अंदर का स्वाद का बोध विकसित होना शुरू हो जाएगा।
  • वह अब खाने के ज्यादा वेरायटीज को खाना शुरू कर देगा जैसे मैश किए हुए या ठोस खाद्य पदार्थ।
  • कुछ बच्चे मूडी भी होते हैं और वह नए तरह के खाने को स्वीकार नहीं करना चाहते। इससे पहले कि वे इसकी आदत डाल लें, कम से कम आठ से बारह बार उन्हें यह देने की कोशिश करें।

आपको चिंतित कब होना चाहिए

आपके बच्चे के विकास के दौरान ध्यान देने योग्य यहाँ पर कुछ बातें दी गई हैं:

  • इस उम्र में, शिशुओं को खड़ा होने में सक्षम होना चाहिए या कम से कम लड़खड़ा कर ही चलने का के लिए प्रयास कर लेना चाहिए। इसलिए यदि आपके शिशु ने अभी भी रेंग के चलना जरा भी शुरू नहीं किया है, तो आपको अपने डॉक्टर से मिलने की आवश्यकता हो सकती है।
  • बच्चे तेजी से सीखते हैं, और यदि आप उन्हें इस उम्र में मदद करती हैं, तो वे अंततः ठीक से खड़े होना सीख जाएंगे। हालांकि, यदि आप ये देखती हैं कि जब आपका बच्चा खड़ा होता है तब उसके पैरों में ढीलापन और कंपन है या वह सहारे के साथ भी खड़ा नहीं हो पाता है, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें।
  • इस उम्र में बच्चे बड़बड़ाते हैं और आप जो कहते हैं उसकी नकल करने की कोशिश करते हैं। यदि आपका बच्चा एक शब्द भी नहीं बोलता है, तो आपको अपने बच्चे को डॉक्टर से जाँच करवाने की आवश्यकता हो सकती है।
  • यदि आप अपने बच्चे को बंद दरवाजे के पीछे से बुलाते हैं, तो भले ही वह आपको नहीं देख सकता है, पर वह तुरंत आपकी आवाज की ध्वनि की ओर मुड़ जाएगा, और चूंकि वह जानता है कि आप वहाँ हैं, तो वह वहाँ पर देखता रहेगा। इसके लिए शिशु की सभी इंद्रियों को सामंजस्य के साथ काम करने की आवश्यकता होती है। यदि आपका बच्चा भ्रमित लगता है, तो हो सकता है कि उसकी संवेदक कार्यप्रणाली में कोई परेशानी हो, जो एक बुरा संकेत है।

बच्चों को उनके जरुरी पड़ाव को पूरे करने में कैसे मदद करें?

कुछ सरल उपायों के साथ अपने बच्चे के 11 महीने के विकास के पड़ावों तक उसको पहुँचाने में मदद करें:

  • उसके साथ उस तरीके से खेलें, जिसके द्वारा वह अपने नए कौशल का अभ्यास कर सके और उसे विकसित कर सके तथा उसे सामाजिक बनाने के लिए आप उसे पार्क में लेकर जाएं।
  • यदि आपके बच्चे को खुद से कंघी करना अच्छा लगता है तो उसे करने देकर, या उसे अपने आप से खाना खाने देकर उसको स्वावलंबी बनने में मदद करें।
  • रंगीन चित्रों के साथ सरल कहानी की किताबों की मदद से अपने बच्चे को पढ़ाएं। आपका बच्चा अपनी पुस्तकों में आपके द्वारा इशारे से पूछी गई किसी परिचित तस्वीर का नाम बताने की कोशिश कर सकता है। यह याद्दाश्त और बोलने की क्षमता को विकसित करने में मदद करता है।
  • अब तक आपका बच्चा शब्दों और कार्यों को आपस में जोड़ सकता है, और अब आपको अपनी बातचीत में बच्चों की तरह बातें करना खत्म करना होगा। यह आपके बच्चे की बुनियादी शब्दावली को बेहतर बनाने और विकसित करने में मदद करेगा।

हमेशा याद रखें कि प्रत्येक बच्चाअपने विकास के पड़ावों को अपने गति से पार करेगा। जब तक यह चिन्तित होने वाले किसी भी संकेत तक नहीं पहुँचता, तब तक आपको बस अपने डॉक्टर की नियमित मुलाकातों के लिए जाते रहना होगा और अपने साधारण रोजमर्रा के कामों में अपने बच्चे की मदद करना होगा।

संसाधन और संदर्भ:

स्रोत १
स्रोत २

यह भी पढ़ें:

12 महीने के बच्चे की वृद्धि एवं विकास
13 महीने के बच्चे की वृद्धि और विकास