गर्भावस्था : 41वां सप्ताह

गर्भावस्था : 41वां सप्ताह

Last Updated On

पहली बार अपने बच्चे से मिलना आपके लिए एक अद्भुत और अवर्णनीय अनुभव होगा! यदि आप अपनी गर्भावस्था के 41वें सप्ताह तक पहुँच गई हैं, तो काफी हद तक यह संभव है कि आपका शिशु आपके गर्भाशय में थोड़ी देर और रुकना चाह रहा हो। हालांकि, गर्भावस्था के अंतिम चरणों के बारे में जानकारी प्राप्त करने के बाद, आप आश्वस्त हो सकती हैं कि इसमें चिंता की कोई बात नहीं है, भले ही आप अभी भी अपने बच्चे से अभी तक न मिली हों।

गर्भावस्था के 41वें सप्ताह में आपके बच्चे का विकास

अब आप लगभग अपने बच्चे से मिलने की कगार पर हैं! हालांकि, यदि शिशु अभी भी आपके गर्भ में है, तो आश्वस्त रहें कि सब कुछ ठीक है। अपने बच्चे को जन्म देने के बाद आप इन परिवर्तनों की अपेक्षा कर सकती हैं:

  • यदि आपका प्रसव योनि के माध्यम से हुआ है, तो आपके बच्चे का सिर अस्थाई रूप से बढ़ा हुआ, साथ ही उसकी आँखें भी सूजी हुई हो सकती हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बच्चे के सिर को जन्म मार्ग से दबकर गुज़रना पड़ा है।
  • आपके नवजात शिशु के शरीर पर अधिकतर वर्निक्स केसोसा की परत होगी। शिशु का पहला स्नान इसे साफ कर देगा। आमतौर पर नवजात शिशुओं के गालों को भरने में कुछ सप्ताह लग जाते है।
  • कुछ नवजात शिशुओं के सिर पर बहुत सारे बाल हो सकते हैं, जबकि दूसरे शिशु गंजे हो सकते हैं। बिना बालों के होने पर चिंता करने का कोई बात नहीं है। आखिरकार बाल बढ़ जाएंगे । पहली स्थिति में पुराने बाल गिर कर नए बाल आ जाते हैं, जिनका रंग और प्रकृति अलग होती है ।
  • नवजात शिशुओं की आंखों का रंग भी बदल जाता है, और 6 से 12 महीने के बीच ही रंग स्थायी हो जाता है।
  • आपके नवजात शिशु की त्वचा नाजुक होने की संभावना होती है और आप इनकी नसों को आसानी से देख सकतें हैं। शिशु की त्वचा पर झुर्रियाँ इसलिए होती हैं क्योंकि बच्चे ने एमनीओटिक द्रव में रहते हुए 9 महीने गर्भ के अंदर बिताए हैं, जबकि अब वह हवा के संपर्क में है। इसलिए यह धीरे-धीरे गायब हो जाएगी।
  • आपके बच्चे के पैर कबूतर के पंजो की तरह हो सकते हैं। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि गर्भ के अंदर बच्चा सीमित रूप से गतिशील रहता है। लगभग 6 महीने के बाद उसके पैर सीधे हो जाएंगे।

गर्भावस्था के 41वें सप्ताह में आपके बच्चे का विकास

बच्चे का आकार क्या है

गर्भावस्था के 41 सप्ताह में बच्चा तरबूज जितना बड़ा होगा। बच्चा लगभग 20 से 40 इंच लंबा और लगभग 3.68 किलोग्राम वजन का होगा।

सामान्य शारीरिक परिवर्तन

गर्भावस्था के दौरान आपका शरीर बदल जाता है। स्तन, त्वचा, पेट और यहाँ तक कि पाचन तंत्र जैसे भाग भी बहुत अधिक परिवर्तन से गुजरते हैं। गर्भावस्था के इन अंतिम चरणों के दौरान आपका शरीर जन्म देने की प्रक्रिया के लिए तैयार होने लगता है। इस अवधि के दौरान आपको प्रसव पीड़ा होने की बहुत संभावना हो सकती है, हालांकि कुछ के में बच्चे जन्म लेने में थोड़ा अतिरिक्त समय लगता है। आपको पता कैसे चलेगा कि आप प्रसव पीड़ा में हैं?

  • आपका पानी निकलने लगेगा और आप प्रसव से पहले दिखने वाले लाल या गुलाबी रंग के द्रव दिखने लगेंगे ।
  • आप प्रसव संकुचन का भी अनुभव करेंगी। इन संकुचन को अलग-अलग माताओं द्वारा अलग-अलग रूप से अनुभव किया जा सकता है क्योंकि कोई भी दो प्रसव समान नहीं होते।

गर्भावस्था के 41वें सप्ताह के लक्षण

गर्भावस्था के 41वें सप्ताह के दौरान लक्षण आमतौर पर पिछले हफ्तों की तरह ही होंगे।

  • श्रोणि क्षेत्र में बेचैनी: जैसे ही बच्चा नीचे जाता है, गर्भाशय ग्रीवा (सर्विक्स) और मूत्राशय पर दबाव बढ़ता है। इस के कारण बेचैनी और दर्द होने लगता है।
  • बवासीर: श्रोणि पर दबाव मलाशय में अपस्फीत नसों की सूजन को बढ़ाता है जो बवासीर का कारण बनता है।
  • सोते समय कठिनाई: यह मुख्य रूप से हार्मोन और लंबे समय तक इंतजार की चिंता के कारण होता है। इसके अलावा इसलिए भी क्योंकि आराम से सोने के लिए अब आपका शरीर काफी बड़ा हैं!
  • बार-बार बाथरूम जाना: मूत्राशय पर बढ़ते दबाव के कारण बाथरूम जाना बढ़ जाता है।
  • संकुचन: जैसे-जैसे बच्चा जन्म लेने के लिए तैयार होता है, अधिक संकुचन होने लगता है।

गर्भावस्था के 41वें सप्ताह के लक्षण

प्रसव के लक्षण क्या हैं?

गर्भावस्था के 41वें सप्ताह के दौरान आपको प्रसव के लक्षण स्पष्ट रूप पता चल सकते हैं, जैसे आपके हाथों का पीछे का हिस्सा । इस अवधि के दौरान प्रसव के संकेत हैं:

  • पानी की थैली का फटना, जिसका संकेत रिसाव होने से मिलता है।
  • लगातार होने वाले पीड़ादायक संकुचन जो रुकते नहीं।

यदि ऐसा हो तो डॉक्टर को बुलाना या अस्पताल जाना ज़रूरी है। ऐसा हो सकता है कि आपको इस अवधि के दौरान प्रसव का कोई संकेत न दिखे। इसका मतलब यह नहीं है कि यह जल्दी नहीं होगा क्योंकि प्रसव काफी अप्रत्याशित होता है।

41 सप्ताह में प्रसव पीड़ा को प्रेरित करना

अतिरिक्त महीने के लिए गर्भवती रहना आपके शारीरिक के साथ-साथ मानसिक तनाव को बढ़ा सकता है। दोस्त और परिवार वाले प्रसव में हो रही देरी के बारें सवाल पूछ-पूछ कर इस तनाव को और बढ़ाते हैं। इस समय डॉक्टर प्रसव को उत्प्रेरित करने की सलाह देते हैं। कुछ गर्भवती महिलाओं को एक उत्प्रेरित प्रसव के दौरान तेज और ज्यादा दर्दनाक संकुचन अनुभव होने की शिकायत होती है। कुछ का कहना है कि प्रसव का दर्द घर पर शुरू होना लेबर रूम में इसकी प्रतीक्षा करने की बजाए ज्यादा सुविधाजनक होता है। यद्यपि, जैसे-जैसे प्रसव का समय बढ़ता है, शिशु को अधिक जोखिम होता है। इस अवधि के दौरान प्रसव को प्रेरित करने के कई तरीके हैं, जैसे:

  • झिल्ली को अलग करना : प्रेरित करने की इस प्राकृतिक विधि को डॉक्टर द्वारा निष्पादित किया जाना चाहिए यदि आप इस मार्ग को अपनाने के इच्छुक हैं, डॉक्टर अपनी उंगलियों का उपयोग करके एमनियोटिक थैली के चारों ओर झिल्ली को अलग करेंगे। यह उन हार्मोनों को प्रसव उत्तेजना की ओर ले जाता है ।
  • झिल्ली का कृत्रिम रूप से टूटना (ए.आर.ओ.एम ): डॉक्टर प्लास्टिक से बने एक पतले हुक का उपयोग करते हैं, ताकि पानी की थैली फट जाए। यह तब किया जाता है, जब माँ को प्रसव में प्रगति नहीं होती, पर संकुचन का अनुभव होता है।
  • दवा: दवाओं का उपयोग प्रसव को प्रेरित करने के लिए किया जाता है गर्भावस्था के 41 वें सप्ताह के दौरान। गर्भाशय ग्रीवा का फैलाव शुरू करने के लिए, एक प्रोस्टाग्लैंडीन सपोसिटरी रात भर डाला जाता है। प्रसव शुरू करने के लिए, ऑक्सीटोसिन को नसों में डाला जाता है।

गर्भावस्था के 41वें सप्ताह में पेट

41 सप्ताह से गर्भवती होना मूल रूप से नौ महीने और 1 सप्ताह की अवधि होती है। यह मुख्य रूप से उस अतिरिक्त समय के कारण होता है, जब बच्चा गर्भ में रहता है। बढ़ी हुई बेचैनी से पेट बहुत भारी हो जाता है। घूमना – फ़िरना काफ़ी मुश्किल हो सकता है, हालांकि, प्राकृतिक प्रसव को प्रेरित करने के लिए डॉक्टर ज़्यादा चलने – फ़िरने का सुझाव देते हैं। सुनिश्चित करें कि आप उठने, बैठने और सोने के लिए उचित मुद्रा का प्रयोग करती हैं। उठते और बैठते वक़्त किसी चीज़ का सहारा ले, क्योंकि पेट काफी भारी हो जाता है।

गर्भावस्था के 41वें सप्ताह का अल्ट्रासाउंड

शिशु की सामान्यता और अवस्था को सुनिश्चित करने के लिए डॉक्टरों अल्ट्रासाउंड द्वारा जाँच करने की सलाह देते हैं। । यह अल्ट्रासाउंड डॉक्टर को यह तय करने में मदद करता है कि प्रसव को प्रेरित करना चाहिए या नहीं।

क्या खाना चाहिए

41 सप्ताह के गर्भावस्था के खाद्य पदार्थों में अन्य आवश्यक पोषक तत्वों के अलावा ऐसे पोषक तत्व भी शामिल होने चाहिए, जो मस्तिष्क के विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं। इन पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन प्रसव के दिन तक लगातार जारी रखना चाहिए। वज़न कम करने के लिए इन खाद्य पदार्थों का सेवन कम न करें। पोषक तत्वों से भरपूर गर्भावस्था के आहार लेते रहें और ज़्यादा से ज़्यादा तरल पदार्थों का सेवन करना भी ज़रूरी है।

क्या खाना चाहिए

सुझाव और देखभाल

स्थिति को आसान बनाने के लिए यहाँ आपको कुछ सुझाव दिए गए हैं।

क्या करें

  • गर्भ के अंदर बच्चे के स्वस्थ विकास में मदद करने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर आहार लें।
  • तनाव-मुक्त रहने के लिए व्यस्त रहें, क्योंकि यह आपकी रातों की नींद को ख़राब कर सकता है और इससे आपका स्वास्थ्य बिगड़ सकता है।

क्या न करें

  • भोजन का सेवन कम न करें क्योंकि यह रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकता है।
  • गर्म पानी के टब में जाने से बचें, क्योंकि गर्भवती होने पर शरीर को गर्मी नियमित करने में समस्या होती है।

आपके लिए आवश्यक ख़रीददारी

गर्भावस्था के 41वें सप्ताह के दौरान, माँ द्वारा ख़रीदी जा सकने वाली चीज़ों की एक सूची इस प्रकार है:

  • बच्चे के लिए फॉर्मूला दूध
  • शिशु की बोतलों को धोने के लिए तरल साबुन, आदि
  • डायपर
  • रूम फ्रेशनर, चूंकि बच्चे पॉटी बहुत करते है और गंध बनी रहती है।

जब आप 40 के बजाय 41 सप्ताह की गर्भावस्था का अनुभव करती हैं, तो आपका चिंतित होना समझ में आता है। प्रसव की तारीख बीत जाने पर तनाव बढ़ता है। यह जानना आवश्यक है कि, यह एक सामान्य घटना है, खासकर उन माताओं के लिए, जो पहली बार गर्भवती हुई हैं। इस समय कुछ याद रखने योग्य बातें हैं:

  • डॉक्टर से बात करें और प्रसव प्रेरित करने के लिए एक समय निश्चित करें।
  • जितना हो सके आराम करें
  • कम चिंता करने के लिए दिमाग को व्यस्त रखें

सबसे अच्छा होगा, यदि आप गर्भावस्था के बारे में खुद को जानकार बनाएं,विशेष रूप से गर्भावस्था के 41वें सप्ताह के बारे में और गर्भावस्था के बाद की स्थितियों के लिए तैयार रहें ।

पिछला सप्ताह: गर्भावस्था: 40वां सप्ताह

अगला सप्ताह: गर्भावस्था : 42वां सप्ताह