फादर्स डे कब और क्यों मनाया जाता है?

फादर्स डे कब और क्यों मनाया जाता है?

फादर्स डे अपने पिता और उन सभी लोगों, जो जिंदगी में पिता जैसा स्थान रखते हैं, उनके प्रति अपने प्यार और सम्मान को दर्शाने का एक बेहतरीन मौका होता है। आज फादर्स डे पूरी दुनिया में मनाया जाता है। यह दिन अपने पिता और पिता समान लोगों को उनके प्यार और सपोर्ट के प्रति धन्यवाद देने के लिए 1910 में यूएसए में शुरू किया गया था। लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि फादर्स डे क्यों मनाया जाता है और इसकी शुरुआत हुई कैसे थी। वह पहला इंसान कौन था जसने यह महसूस किया कि एक पिता को उसके किए गए कर्तव्यों के लिए मान देना चाहिए। हालांकि यह दिन अब दुनिया भर में लाखों लोग मनाते हैं, लेकिन फादर्स डे के इतिहास के बारे में बहुत कम लोगों को पता होता है। तो आइए जानें कि हर पापा, डैडी, डैड, पा और बाबा के लिए मनाए जाने वाले इस खास दिन के पीछे की कहानी क्या है।

फादर्स डे का इतिहास

इस बात को अब 100 साल से भी ज्यादा समय हो चुका है जब अमेरिका के अरकंसास में एक लड़की सोनोरा स्मार्ट डोड मदर्स डे मनाने के लिए गई थे। साल था 1909। सोनोरा के बचपन में ही उसकी माँ की मृत्यु हो चुकी थी, और उसके पिता, विलियम स्मार्ट ने ही उसे पालपोसकर बड़ा किया था। विलियम सिविल वॉर लड़ चुके थे और पत्नी के गुजरने के बाद उन्होंने अकेले ही अपने 6 बच्चों को पाला-पोसा था। 

जिस तरह दुनिया भर में माओं का सम्मान करने के लिए मदर्स डे मनाया जाता था, सोनोरा ने महसूस किया कि पिता के प्रति कृतज्ञता दर्शाने के लिए भी एक दिन होना चाहिए क्योंकि वे भी बच्चों की परवरिश में बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं। उसने चर्च में पादरी को यह विचार सुझाया। पादरी ने विचार को गंभीरता से लिया और सोनोरा से इस दिन को मनाए जाने के लिए एक उचित दिन सुझाने को कहा। सोनोरा ने 5 जून, जो उसके पिता का बर्थडे  होता था, उस दिन फादर्स डे मनाने का सुझाव दिया। चूंकि यह दिन पास आ गया था और पादरी के पास कार्यक्रम की तैयारी के लिए वक्त नहीं बचा था, तो जून के तीसरे रविवार को इसे मनाने का निर्णय लिया गया। बस तभी से, जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे मनाया जाने लगा।

जल्द ही लोकल पादरी ने इस विचार को मंजूरी दे दी और 19 जून 1910 को पहली बार फादर्स डे मनाया गया। बाद में यूएसए के अन्य हिस्सों में भी लोगों ने उसी समय के आसपास यह दिन मनाना शुरू कर दिया। बाद में 1924 में राष्ट्रपति केल्विन कूलिज ने नेशनल फादर्स डे को मनाने के विचार को मंजूरी दी और 1956 में, कांग्रेस के संयुक्त प्रस्ताव द्वारा इस दिवस को मनाने के विचार को मान्यता मिली। आखिरकार 1966 में, राष्ट्रपति लिंडन जॉनसन ने आधिकारिक रूप से हस्ताक्षर करके घोषणा की कि हर साल जून के तीसरे रविवार को फादर्स डे के रूप में मनाया जाएगा।

आज, फादर्स डे न केवल आपको जन्म देने वाले बल्कि आपके जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले हर पिता समान व्यक्ति को धन्यवाद और सम्मान देने के लिए मनाया जाता है, फिर चाहे वो आपके दादा, नाना, सौतेले पिता, चाचा या बड़ा भाई हो क्यों न हो। यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति को जानते हैं जो इस सम्मान को पाने का अधिकारी है, तो इस दिन का उपयोग करके उसके प्रति अपनी भावनाओं को जाहिर करें और उसके किए गए कर्तव्यों और कामों की स्तुति करें।

The History of Father’s Day

दुनिया के दूसरे देशों में फादर्स डे कब मनाया जाता है?

फादर्स डे का कांसेप्ट भले संयुक्त राज्य अमेरिका से निकला हो, लेकिन इसे जल्द ही दुनिया के दूसरे देशों के लोगों द्वारा भी अपना लिया गया। यद्यपि इसे सेलिब्रेट करने के पीछे का विचार सभी जगह एक जैसा होता है, फिर भी इसे मनाने का समय बदलता रहता है। संयुक्त राज्य अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, भारत, कनाडा, चीन और जापान में, फादर्स डे जून के तीसरे रविवार को मनाया जाता है। लेकिन ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में, यह दिन सितंबर महीने के पहले रविवार को सेलिब्रेट होता है। इटली, स्पेन और स्विट्ज़रलैंड में, यह 19 मार्च को मनाया जाता है और मिस्र व संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में, इसे 21 जून को मनाने का रिवाज है।

तो फादर्स डे के इतिहास के बारे में जानकार यह दिन और भी खास लगने लगा है न? वह व्यक्ति जो आपके लिए और पूरे परिवार के लिए कड़ी मेहनत करता है वह निश्चित रूप से धन्यवाद और प्रशंसा का हकदार होता है। चाहे आप कितने भी व्यस्त हों, इस दिन को अपने बच्चों के साथ अपने पिता से मिलने और उनके लिए कुछ खास करने के लिए रिजर्व रखें। अपने खुद के पिता के साथ आपको फादर्स डे सेलिब्रेट करते हुए देखकर आपके बच्चों के सामने आपकी और बेहतर इमेज बनेगी, और वे भी अपने डैड को फादर्स डे पर मान देने के लिए उत्साहित होंगे।